कानपुर पुलिस हत्याकाण्ड: एसओ चौबेपुर विनय तिवारी को एसटीएफ ने लिया हिरासत में पूछताछ जारी

73
chaubepur thana prabhari
  • संवाददाता, ई-रेडियो इंडिया

कानपुर। दो दिन पहले कानपुर हुई सनसनीखेज 8 पुलिसकर्मियों की हत्या के बाद दोषी विकास दुबे की गिरफ्तारी के लिए जहां पूरे जनपद में अलग-अलग जगहों पर छापेमारी की जा रही है तो वहीं पर लखनऊ में भी उनके कुछ रिश्तेदारों के आवासों पर छापेमारी कर कुछ लोगों को हिरासत में लिया गया है, उनसे पूछताछ जारी है। इस दौरान पुलिस विभाग के अधिकारियों ने बताया है कि लगभग 500 से अधिक मोबाइल को ट्रेस पर लगाया गया है जिनकी लोकेशन को चेक करके विकास दुबे के गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं।

चौबेपुर थाना प्रभारी निलंबित

चौबेपुर थाना प्रभारी विनय तिवारी को निलंबित कर दिया गया है, प्रथम दृष्टया जांच में वह दोषी पाए गए हैं, उन पर विकास दुबे की गिरफ्तारी में शिथिलता बरतने का आरोप लगा हुआ है और उनसे एसटीएफ हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। 

पिछले दिनों पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों ने यह बयान दिया था कि किसी ना किसी मुखबिर की सूचना पर ही इस तरह का बड़ा कांड किया गया है, पुलिस विभाग में कौन है ऐसा जो इस तरह की बड़ी घटनाओं को अंजाम देने के लिए मुखबिरी किया है उसकी तह तक पुलिस विभाग पहुंचेगा और उनके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी।

ये है कानपुर का पूरा प्रकरण

आपको बता दें कि पिछले दिनों कानपुर देहात के चौबेपुर थाना क्षेत्र के अंतर्गत 1 सीओ 3 सब इंस्पेक्टर सहित आठ पुलिस के जवानों को बदमाशों ने मुठभेड़ में मौत के घाट उतार दिया था, हालांकि इस मुठभेड़ में दो बदमाश मारे गए हैं। इसके बाद से विपक्ष ने सरकार पर लगातार सवाल उठाना शुरू कर दिया मायावती अखिलेश यादव और प्रियंका गांधी ने उत्तर प्रदेश की सरकार को जंगलराज करार देते हुए इसको तुरंत सुधारने की हिदायत दी तो वहीं पर पूरे प्रदेश में एक्स्ट्रा अलर्ट जारी करके सीमाओं को सील कर दिया गया ताकि विकास दुबे को तुरंत हिरासत में लिया जा सके।

Send Your News to +919458002343 email to eradioindia@gmail.com for news publication to eradioindia.com