कोविड-19 महामारी को दृष्टिगत नामित नोडल अधिकारी ने कलेक्ट्रेट सभागार में की बैठक

0
6
  • फाईज़ अली सैफी, ई-रेडियो इंडिया

गाज़ियाबाद। कोविड-19 महामारी को दृष्टिगत रखते हुए जनपद में कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के उद्देश्य से उत्तर प्रदेश शासन से नामित जनपद के नोडल अधिकारी एवं सचिव सेंथिल पांडियन सी एवं के.जी.एम.यू के प्रोफेसर अनिल चंद्रा ने कलेक्ट्रेट के सभागार में महत्वपूर्ण बैठक करते हुए स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के उद्देश्य से सर्विलेंस के कार्यो को बहुत ही दृढ़ता के साथ जनपद में संचालित करने के निर्देश दिए हैं।

नोडल अधिकारी ने समीक्षा करते हुए कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने में सर्विलेंस का कार्य बहुत ही महत्वपूर्ण हैं। अतः जहां पर करोना वायरस के संक्रमित मरीज मिल रहे हैं, उन्हें तत्काल आइसोलेशन करते हुए उनके कांटेक्ट का तुरंत परीक्षण करने की कार्यवाही सुनिश्चित की जा रही हैं, ताकि कोरोना वायरस के संक्रमण को वहीं पर रोका जा सकें।

बैठक में नोडल अधिकारी द्वारा निर्देशित किया गया कि कोरोना वायरस के रोगियों की संख्या की बढ़ोतरी के चलते एक गूगल पोर्टल विकसित किया जाए, जिससे प्रतिदिन सर्विलेंस टीम द्वारा दी गई सूचनाओं को संकलित कर यदि अर्जेंट है तो तुरंत सेंपलिंग कराई जाए अथवा दूसरे दिन सेंपलिंग करा कर धनात्मक रिपोर्ट आने पर तत्काल कोविड कराए जाने की कार्रवाई सुनिश्चित कराई जाए।

इसके अतिरिक्त सर्विलेंस टीम बढ़ाए जाने के भी निर्देश दिए गए, बैठक में नोडल अधिकारी द्वारा यह भी निर्देशित किया गया कि प्रत्येक मोहल्ला एवं घर को सर्वे करते हुए अधिकतम सेंपलिंग कराई जाए, जिससे कि समय रहते चिकित्सा सुविधा मुहैया कराई जा सकें। कोविड धनात्मक रोगियों को चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने हेतु स्1 लेवल के अस्पतालों में बेड को बढ़ाए जाने के निर्देश दिए गए, जिसमें छोटे-छोटे यूनिट को स्2 में परिवर्तित करते हुए ज्यादा बेड की क्षमता वाले चिकित्सालयों को क्रियाशील करने के निर्देश दिए गए हैं।

प्राइवेट डॉक्टर एवं निजी चिकित्सालय से सहयोग प्राप्त करने हेतु उनके साथ नोडल अधिकारी द्वारा एक महत्वपूर्ण बैठक दिनांक 18 जून 2020 को समय करीब 11:30 बजे रखी गई हैं। जिससे उनको निर्देशित करते हुए आवश्यकतानुसार उनका समुचित सहयोग किया जा सकें। आयोजित महत्वपूर्ण बैठक में के.जी.एम.यू के प्रोफेसर अनिल चंद्रा के द्वारा स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों एवं चिकित्सकों को निर्देशित किया गया कि करोना महामारी के चलते हमें बहुत सजग रहना होगा ताकि हम आमजन के साथ-साथ अपने को भी इस महामारी से बचा सकें।

उन्होंने सभी को महत्वपूर्ण तकनीकी जानकारी भी उपलब्ध कराई ताकि सभी अस्पतालों में करोड़ों के मरीजों का मानकों के अनुसार इलाज संभव हो सके और सभी चिकित्सक तथा पैरामेडिकल स्टाफ कोरोना वायरस के संक्रमण से सुरक्षित रहें। इस अवसर पर जिलाधिकारी अजय शंकर पांडे ने नोडल अधिकारी को आश्वस्त करते हुए कहा कि जनपद में कोरोना के संक्रमण की रोकथाम के लिए जो दिशा-निर्देश दिए गए हैं। उनका संबंधित अधिकारियों के माध्यम से अक्षर से पालन सुनिश्चित करते हुए कार्यवाही सुनिश्चित की जाए ताकि जनपद वासियों को करोना वायरस के संक्रमण से सुरक्षित रखा जा सकें। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी अश्मिका लाल, अपर जिलाधिकारी भू०अ० उप जिलाधिकारी सदर, मुख्य चिकित्सा अधिकारी व अन्य संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे हैं।

Send Your News to +919458002343 email to eradioindia@gmail.com for news publication to eradioindia.com