क्षेत्रीय भाषाओं में कोरोना की यह वीडियो की गयी लांच, देखें कैसा मिल रहा रिस्पांस

ghhgf

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा युवा वैज्ञानिकों को संबोधित करने के बाद नेशनल सेंटर फॉर बायोलॉजिकल साइंसेज (एनसीबीएस) के युवा वैज्ञानिकों ने क्षेत्रीय भाषाओं में कोविड-19 के बारे में जागरूकता पैदा करने के लिए सोशल मीडिया पर वीडियो की एक श्रंखला शुरू की है। मोदी ने कोविड-19 वैक्सीन के निर्माण के संबंध में राष्ट्र के युवा वैज्ञानिकों को संबोधित किया था और एनसीबीसी ने इस चुनौती को तुरंत स्वीकार कर लिया।

उन्होंने इस बीमारी के प्रसार को रोकने के तरीकों के बारे में लोगों को सूचित करने के लिए सभी भारतीय भाषाओं में एक वीडियो श्रंखला जारी करने की पहल की है।

उर्दू में इस बीमारी के बारे में बताकर वीडियो बनाने वाले युवा शोध छात्र मनल शकील ने कहा, “हम वैज्ञानिक वीडियो में समझाते हैं कि ये वायरस क्या है और इससे कैसे सुरक्षित रहें। साथ ही हमने लोगों को इसके बारे में कोई भी सवाल पूछने के लिए प्रोत्साहित किया है और सुझावों का भी स्वागत किया है। हमने इस वायरस के बारे में फैले कई मिथकों और गलत सूचनाओं का भंडाफोड़ करने की कोशिश भी की है, ताकि लोग जागरूक हों।”

बीकानेर के आदित्य असोपा मारवाड़ी में वीडियो श्रंखला बना रहे हैं। उन्होंने कहा, “हमने यह लोगों को क्षेत्रीय भाषाओं में जानकारी देने और समझने योग्य गैर तकनीकी तरीके से जानकारी प्रदान करने के लिए किया। हो सकता है कि भविष्य में यह विज्ञान को लोकप्रिय और संप्रेषित करने का एक स्रोत बन जाए।

Advertisement
Send Your News to +919458002343 email to [email protected] for news publication to eradioindia.com