गाजियाबाद की कोतवाली नगर पुलिस ने मात्र 3 घंटों के भीतर किया हत्या का खुलासा

crime
अवैध संबंध के चलते की गई थी हत्या, मुख्य आरोपी समेत तीनों आरोपी गिरफ्तार, लोहे का सब्बल एवं खून से सने कपड़े बरामद।
  • फाईज़ अली सैफी, ई-रेडियो इंडिया

गाज़ियाबाद। थाना कोतवाली नगर पुलिस ने लाॅकडाउन के अंतर्गत हुई हत्या का मात्र 3 घंटों के भीतर खुलासा करते हुए मुख्य आरोपी समेत तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। इतना ही नहीं, पुलिस ने आरोपियों के पास से लोहे का एक सब्बल एवं खून से सने कपड़े भी बरामद कर लिए हैं।

आपको बताते चलें कि गत् 28 अप्रैल को थाना कोतवाली नगर के रेलवे कॉलोनी बजरिया निवासी एक सुरजीत नामक व्यक्ति की हत्या कर दी गई थी और फिर उसके शव को एक खाली पड़े मकान में फेंक दिया गया था।

गौरतलब है कि सुरजीत की हत्या के संबंध में उसकी पत्नी रशिका ने थाना कोतवाली नगर में तहरीर देते हुए मुकदमा दर्ज कराया था। जिसकी, जानकारी एसएसपी कलानिधि नैथानी को होते ही उन्होंने तत्काल एसपी सिटी मनीष कुमार मिश्रा और क्षेत्राधिकारी नगर प्रथम एवं थाना कोतवाली प्रभारी निरीक्षक को उक्त हत्या का जल्द से जल्द खुलासा करने हेतु आवश्यक निर्देश दिए थे। इतना ही नहीं, उन्होंने एक टीम का भी तुरंत ही गठन कर दिया था।

Advertisement

आपको बता दें कि जिसका अनुपालन करते हुए थाना कोतवाली प्रभारी निरीक्षक विष्णु कौशिक और उनकी टीम के निरीक्षक अपराध राजेश सिंह, उपनिरीक्षक जोगेंद्र कुमार, महिला उपनिरीक्षक मंजू सिंह, महिला सिपाही प्रियंका, सिपाही सुरेशपाल सिंह और सिपाही महिपाल सिंह ने मात्र 3 घंटों के भीतर सुरजीत की हत्या का खुलासा करते हुए मुख्य आरोपी समेत तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया और उनके पास से हत्या में शामिल लोहे का एक सब्बल भी बरामद कर लिया। इतना ही नहीं, पुलिस ने खून में सने कपड़े भी बरामद कर लिए हैं।

दरअसल, पुलिस की जांच में हत्या करने वाला और कोई नहीं बल्कि मृतक की पत्नी वादीया रशिका और उसकी सांस रमादेवी समेत एक और अन्य आरोपी पाया गया हैं, जोकि मुख्य आरोपी हैं। बता दें कि सुरजीत की हत्या उसकी सांस के अवैध संबंध के चलते की गई है। जिसकी, जानकारी मृतक सुजीत को थी, तथा इस बात को लेकर मृतक का अपनी सांस से कई बार झगड़ा भी हो गया था। परंतु, मृतक की पत्नी हमेशा अपनी ही मां का समर्थन किया करती थी।

पूछताछ में, यह बात निकलकर आई है कि मृतक सुरजीत की सांस का देवेंद्र उर्फ कंसा पुत्र स्वर्गीय नंदलाल निवासी हाल थाना कोतवाली के साथ अवैध संबंध था। जिसको लेकर मृतक सुरजीत और उसकी सांस का आए-दिन झगड़ा होता रहता था। इतना ही नहीं, मृतक की पत्नी भी अपनी मां का ही समर्थन किया करती थी, और कई बार तो ऐसा भी हुआ करता था कि मृतक की पत्नी अपने 4 वर्षीय बच्चे को छोड़कर अपनी मां के यहां चली जाया करती थी। जिस बात को लेकर मृतक काफी चिंतित था और उसका आए-दिन अपनी सांस से इस बात को लेकर झगड़ा भी होता रहता था।

थाना कोतवाली प्रभारी निरीक्षक विष्णु कोशिक ने जानकारी देते हुए बताया कि मृतक सुरजीत और उसकी सांस का घर आस-पास में ही था। इसीलिए, मृतक सुरजीत को अपनी सांस के अवैध संबंध की जानकारी थी और वह इसी बात को लेकर अपनी सांस से लड़ता झगड़ता रहता था। इतना ही नहीं, उन्होंने बताया कि अभियुक्त गणों ने पूरी योजना के तहत मृतक सुरजीत को पहले तो जालसाजी से अपने घर(ससुराल) बुला लिया और फिर उसकी हत्या करके उसके शव को पड़ोस में खाली पड़े मकान में फेंक दिया था और फिर खुद ही उसकी हत्या की तहरीर लिखकर थाने में दे दी थी।

हालांकि, पुलिस ने मात्र 3 घंटों के भीतर सुरजीत की हत्या का खुलासा करते हुए मुख्य आरोपी समेत तीनों आरोपियों को मुखबिर की सूचना पर तत्काल गिरफ्तार कर लिया और उनके विरुद्ध कानूनी-कार्रवाई करके उनको जेल भी भेज दिया है। वहीं, एसएसपी कलानिधि नैथानी ने तत्काल हत्या का खुलासा करने वाली टीम को पुरस्कार देने की घोषणा की है।

Send Your News to +919458002343 email to [email protected] for news publication to eradioindia.com