गाजियाबाद: नोडल अधिकारी ने कंट्रोल रूम के कार्यो की गहनता के साथ समीक्षा करते हुए कार्य की की तारीफ

20200731 102613
  • फाईज़ अली सैफी, गाज़ियाबाद
कोविड-19 महामारी को दृष्टिगत रखते हुए सभी जनपद वासी कोरोना वायरस के संक्रमण से सुरक्षित बने रहे और पूरे जनपद में करोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोका जा सकें। वहीं, दूसरी ओर कोरोना मृत्यु दर को कम करने के उद्देश्य से कोविड-19 के नोडल अधिकारी सेंथिल पांडियन सी के द्वारा कलेक्ट्रेट के सभागार में एक महत्वपूर्ण बैठक की अध्यक्षता करते हुए कोविड-19 महामारी को लेकर जिला अधिकारी के नेतृत्व में किए जा रहे प्रयासों की गहनता के साथ समीक्षा की गई हैं।

नोडल अधिकारी ने समीक्षा के दौरान पाया कि उनके द्वारा विगत बैठक में जनपद के अधिकारियों को करोना के वायरस के संक्रमण को रोकने के संबंध में जो दिशा-निर्देश दिए गए थे, उनका अक्षर से पालन अधिकारियों के द्वारा सुनिश्चित करते हुए अच्छा कार्य किया गया हैं और जनपद गाज़ियाबाद में कोरोना वायरस को कम करने तथा संभावित कोरोना व्यक्तियों की खोज करने एवं उनका यथा समय इलाज संभव करने की दिशा में जिला-प्रशासन पुलिस एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों द्वारा गुणवत्ता परक रूप से कार्यवाही सुनिश्चित करते हुए कोरोना के संक्रमण को रोकने की दशा में महत्वपूर्ण कार्य किया गया हैं। जिससे जनपद में कोरोना मृत्यु दर में कमी आई हैं।

वहीं, दूसरी ओर कोरोना व्यक्तियों को यथा समय इलाज सरकार एवं शासन की मंशा के अनुरूप जनपद में उपलब्ध कराया जा रहा हैं। उन्होंने प्रशासन पुलिस एवं स्वास्थ्य विभाग के सभी अधिकारियों को बैठक में आगे भी इसी क्षमता के साथ कार्य करने का आवाह्न किया हैं और सभी अधिकारियों के कार्यो की सराहना करते हुए उनका हौसला भी बढ़ाया गया हैं। नोडल अधिकारी सेंथिल पांडियन सी के द्वारा बैठक में सभी अधिकारियों का आवाह्न किया गया कि सरकार की मंशा के अनुरूप एंटीजन किट के माध्यम से जनपद में अभियान चलाकर संभावित संक्रमित कोरोना वायरस की खोज करते हुए उनका तत्काल इलाज संभव कराया जाए, ताकि जनपद में सभी नागरिक कोरोना वायरस के संक्रमण से सुरक्षित बने रहें, बैठक के उपरांत नोडल अधिकारी द्वारा विकास भवन में पहुंचकर कोविड-19 इंटीग्रेटेड कंट्रोल रूम का भी स्थलीय निरीक्षण किया गया हैं।

Advertisement

जहां पर उन्होंने पाया कि कंट्रोल रूम पर कोविड-19 को लेकर प्रतिदिन लगभग 300 शिकायतें एवं समस्याएं प्राप्त हो रही हैं। संबंधित अधिकारियों के द्वारा सभी शिकायतों एवं समस्याओं का निराकरण उसी दिन किया जा रहा हैं। वहीं, दूसरी ओर कोरोना वायरस जिन मरीजों को होम आइसोलेशन की सुविधा प्रदान की गई हैं। कंट्रोल रूम के माध्यम से दिन में सुबह एवं शाम सभी मरीजों से बात करते हुए उनके हाल-चाल एवं इलाज की जानकारी प्राप्त की जा रही हैं और यथा समय किसी भी समस्या के संबंध में उनका निस्तारण संभव कराया जा रहा हैं, ताकि सरकार की इस योजना का सभी संक्रमित व्यक्तियों को लाभ प्राप्त हो सकें।

उन्होंने समीक्षा के दौरान यह भी पाया कि कंट्रोल रूम के माध्यम से आर.आर.टी टीम का मरीजों के शिफ्टिंग में लोकेट करने में कंट्रोल रूम द्वारा पूर्ण सहयोग दिया जा रहा हैं। जिसके कारण चिन्हित करोना संक्रमित व्यक्तियों को बहुत कम समय में अस्पताल में आइसोलेशन की सुविधा जिला-प्रशासन के द्वारा उपलब्ध कराई जा रही हैं। कंट्रोल रूम के द्वारा कोविड-19 को लेकर प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग को शासन स्तर पर निरंतर विभिन्न सूचनाएं भी उपलब्ध कराई जा रही हैं। नोडल अधिकारी के द्वारा कंट्रोल रूम की कार्यो की गहनता के साथ समीक्षा करते हुए कंट्रोल रूम के नोडल अधिकारी एवं उनकी टीम के कार्यो की भूरी-भूरी प्रशंसा की गई हैं। नोडल अधिकारी की बैठक में जिला अधिकारी अजय शंकर पांडे ने उन्हें आश्वस्त किया कि कोविड-19 महामारी को लेकर उनके द्वारा जो मार्ग निर्देश दिए गए हैं, उनका जनपद में आगे भी इसी प्रकार अक्षर से पालन सुनिश्चित करते हुए कार्यवाही सुनिश्चित की जाएगी, ताकि जनपद में कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से पूर्ण रूप से रोका जा सकें। आयोजित महत्वपूर्ण बैठक में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कलानिधि नैथानी, मुख्य विकास अधिकारी अस्मिता लाल, अपर जिला अधिकारी प्रशासन, अपर जिलाधिकारी भूमि अर्जन, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर एन.के गुप्ता व प्रशासन के अन्य अधिकारीगण भी उपस्थित रहें हैं।

Send Your News to +919458002343 email to [email protected] for news publication to eradioindia.com