गुप्तेश्वरवर पांडेय के शोवेटिव प्रायोजन के बाद डीजी सिंघल को डीजीपी का आधिकारिक साझेदार सौंप दिया

पटना। बिहार के डीजीपी गुपतेतेवर पांडे के शोवेटिव प्रायोजन के बाद राज्य सरकार ने होमगार्ड के डीजी संजीव कुमार सिंघल को डीजीपी का आधिकारिक साझेदार सौंप दिया है। मंगलवार गृह विभाग ने मंगलवार देर रात इसकी अधिसूचना जारी कर दी। बता दें, 1987 सलाखों के आईपीएस ऑफिसर गुप्तेश्वर पांडे को जनवरी 2019 में बिहार का डीजीपी बनाया गया।

 बतौर डीजीपी उनका कार्यकाल 28 फरवरी 2021 तक था। हालांकि, उन्होंने मंगलवार को कार्यकाल पूरा होने से पहले रिटायरमेंट का फैसला लिया। उनके अचानक रिटायरमेंट के बाद संजीव कुमार सिंघल को अगले आदेश तक डीजीपी बिहार का अतिरिक्त प्रभार दिया गया है।

पंजाब के रहने वाले संजीव कुमार सिंघल 1988 सलाखों के आईपीएस अफसर हैं। सिंघल को गृह रक्षा वाहिनी व अग्निशमन सेवा के डीजी पद पर अप्रैल 2020 में तैनाती मिली थी। इससे पहले वे एडीजी (मुख्यालय) और बीएमपी के डीजी के पद पर तैनात थे। उनके पास गृह रक्षा वाहिनी व अग्निशमन सेवा के डीजी का पद संभालने के बाद कई महत्वपूर्ण बदलाव और सुधार किए गए।

 इसके साथ ही डीजी सेल के गठन का काम किया। इस सेल के गठन का मकसद था कि सुझाव या शिकायत को जिला से मुख्यालय तक पहुंचाने की सुदृढ़ व्यवस्था हो सके। इसके लिए बाकायदा शिकायत और सुझाव रजिस्टर भी बनाए गए। होमगार्ड में प्रतिनियुक्ति की नियमित माईलिंग के साथ समय पर कार्यों के अनुकूलन में सुधार किया गया।

सिंघल मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के करीबी माने जाते हैं। सूत्रों के मुताबिक, डीपीसी की निष्पक्षता पूरी करने के बाद सरकार जल्द ही सिंघल की डीजीपी पद पर भर्ती करने का प्रयास कर रही है। पुलिस मुख्यालय ने गृह विभाग के आदेश पर डीपीसी की निष्पक्षता पूरी करने की कवायद शुरू कर दी है। बता दें, बिहार के पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे ने स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति (वीआरएस) लिया है।

 अब उनके चुनाव लड़ने के कयास लगाए जा रहे हैं। गुरुवार को गुप्तेश्वर पांडे ने कहा कि उनके पास 12 सीटों से चुनाव लड़ने का प्रस्ताव है। वह बिहार में कहीं से भी चुनाव लड़ सकते हैं और जीत हासिल कर सकते हैं। गुप्तेश्वर पांडे ने कहा कि लोग बड़ी संख्या में उनके पास आ रहे हैं और कह रहे हैं कि अगर मुझे राजनीति में प्रवेश करना है तो मुझे उनके जिले से चुनाव लड़ना चाहिए। हर कोई मेरा बहुत करीब है। यह जनता का फैसला होगा। अगर वे मुझे चाहते हैं, तो मैं राजनीति में प्रवेश कर सकता हूं।




email: eradioindia@gmail.com || info@eradioindia.com || 09458002343

अगर आप भी अपना समाचार/ आलेख/ वीडियो समाचार पब्लिश कराना चाहते हैं या आप लिखने के शौकीन हैं तो आप eRadioIndia को सीधे भेज सकते हैं। इसके अलावा आप फेसबुक पर हमें लाइक कर सकते हैं और टि्वटर पर फॉलो कर सकते हैं। मेरी वीडियोस के नोटिफिकेशन पाने के लिए आप यूट्यूब पर हमें सब्सक्राइब करें। किसी भी सोशल मीडिया पर हमें देखने के लिए टाइप करें कि eRadioIndia.

https://eradioindia.com/work-with-us/
Don't wait just take initiation

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *