जन समस्या को सुरक्षित करने के उद्देश्य से मेरठ मंडल की कमिश्नर अनीता सी मेश्राम ने कलेक्ट्रेट में अधिकारियों के साथ की बैठक

20200703 202221
  • कोविड-19 महामारी को दृष्टिगत रखते हुए कोरोना वायरस के संक्रमण से जन समस्या को सुरक्षित करने के उद्देश्य से मेरठ मंडल की कमिश्नर अनीता सी मेश्राम ने कलेक्ट्रेट में अधिकारियों के साथ की बैठक
  • जनपद में कोरोना संक्रमित व्यक्तियों का अभियान चलाकर सेंपलिंग करने के दिए निर्देश
  • कोरोना मृत्यु दर घटाने की दिशा में सभी चिकित्सक करें विशेष प्रयास, समय रहते कोविड की व्यवस्था भी करें सुनिश्चित, कोरोना संक्रमित मरीजों को प्रोटोकॉल के अनुरूप कराया जाए संभव इलाज

|| फाईज़ अली सैफी, ई-रेडियो इंडिया ||

गाज़ियाबाद। कोविड-19 महामारी को दृष्टिगत रखते हुए सभी जनपद वासियों को कोरोना वायरस के संक्रमण से सुरक्षित बनाए जाने, कोरोना के संक्रमण को फैलने से रोकने तथा सभी कोरोना संक्रमित व्यक्तियों को कोविड-19 प्रोटोकॉल के अनुरूप इलाज संभव कराने के उद्देश्य से आज मेरठ की कमिश्नर अनीता सी मेश्राम के द्वारा कलेक्ट्रेट के सभागार में एक महत्वपूर्ण बैठक आहूत करते हुए शासन एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को प्रोटोकॉल के अनुरूप सभी व्यवस्थाएं युद्ध स्तर पर संचालित करने के निर्देश दिए हैं।

Advertisement

मंडलायुक्त कोविड-19 महामारी को लेकर आयोजित बैठक में गहन समीक्षा कर रही थी। उन्होंने प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि जनपद में करोना मृत्यु दर घटाने के उद्देश्य से व्यापक स्तर पर अभियान चलाकर कोरोना संक्रमित व्यक्तियों को चिन्हित करते हुए उन्हें प्रोटोकॉल के अनुरूप इलाज संभव समय पर कराने की कार्यवाही सुनिश्चित की जाए ताकि जनपद में कोरोना मृत्यु दर कम हो सकें। उन्होंने कहा कि प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के द्वारा संयुक्त कार्रवाई सुनिश्चित करते हुए कोविड-19 को लेकर जनपद में कोविड-19 अस्पतालों में आगामी परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए बैडों की व्यवस्था पूर्व से ही सुनिश्चित करने की कार्रवाई तत्काल प्रभाव से की जाए, ताकि सभी कोरोना संक्रमित व्यक्तियों को प्रत्येक स्तर पर यथा समय इलाज संभव हो सकें।

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार के माननीय मुख्यमंत्री कोविड-19 को लेकर सभी जन समस्या को इसके संक्रमण से बचाने के उद्देश्य से निरंतर रूप से कार्यवाही सुनिश्चित कर रहे हैं। माननीय मुख्यमंत्री के द्वारा मेरठ मंडल के सभी जनपदों में करोड़ों संक्रमित व्यक्तियों की खोज करते हुए उनका तत्काल इलाज संभव कराया जा सकें। इस उद्देश्य से 2 जुलाई से 12 जुलाई तक घर-घर जाकर विशेष सर्विलेंस अभियान भी संचालित किया जा रहा हैं। उन्होंने इस अभियान को बहुत ही गुणवत्ता के सारा चलाने के निर्देश दिए हैं, ताकि करोना संक्रमित व्यक्तियों की पहचान हो सकें तथा अन्य बीमारियों से ग्रस्त व्यक्तियों की मैपिंग का कार्य भी सुनिश्चित किया जा सकें। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को सैंपलिंग के कार्य को और अधिक गतिशीलता के साथ संचालित करने के निर्देश दिए हैं। 

मंडलायुक्त ने यहां पर यह भी निर्देश दिए हैं कि करोना मृत्यु दर को घटाने के उद्देश्य से सभी चिकित्सकों के द्वारा कोरोना वायरस होते जिस स्तर के इलाज की आवश्यकता हो उनसे संबंध में तत्काल शिफ्टिंग का कार्य सुनिश्चित किया जाए और मरीजों के अनुरूप उसे इलाज उपलब्ध कराने की कार्यवाही सुनिश्चित की जाए, ताकि जनता को कोरोना मृत्यु दर को हटाया जा सकें। उन्होंने कंटेनमेंट जोन में शत-प्रतिशत सेंपल कराने के निर्देश भी दिए हैं। आयोजित महत्वपूर्ण बैठक में जिला अधिकारी अजय शंकर पांडे ने मंडलायुक्त को आश्वस्त करते हुए कहा कि कोविड-19 को लेकर उनके द्वारा जो निर्देश दिए गए हैं, उनका जनपद में अक्षर से पालन सुनिश्चित करते हुए कोरोना संक्रमित व्यक्तियों को कोविड-19 प्रोटोकॉल के अनुरूप इलाज एवं अन्य व्यवस्थाएं सुनिश्चित कराई जाएंगी। इस अवसर पर नोडल अधिकारी सेंथिल पांडियन सी, शिव सहायक अवस्थी, जीडीए उपाध्यक्ष कंचन वर्मा, मुख्य विकास अधिकारी अस्मिता लाल व समस्त संबंधित अधिकारीगण उपस्थित रहे हैं।
Send Your News to +919458002343 email to [email protected] for news publication to eradioindia.com