दिन में हो शादियां, वैवाहिक समारोह में 21 से ज्यादा न हो व्यंजन ताकि रूके फिजूलखर्ची

ci13st10 manash bhavn 5636172 m

भोपाल। राजधानी में रविवार को अलग-अलग समाजों के विवाह योग्य युवक युवतियों के लिए परिचय सम्मेलन का आयोजन किया गया। इस दौरान युवक-युवतियों ने मंच पर आकर बेबाकी के साथ अपना परिचय दिया। इस दौरान कई परिवारों के बीच बातचीत का सिलसिला भी शुरू हुआ। परिचय सम्मेलन के साथ-साथ समाज की गतिविधियों पर भी मंथन किया गया। कहीं फिजूलखर्ची रोकने के लिए समाज ने पहल की तो कहीं दहेज, मृत्यु भोज जैसी कुरीतियों को लेकर भी चर्चा की गई। सामाजिक एकता के लिए भी समाज के लोगों ने विचार मंथन किया।

अग्रवाल समाज: 150 से अधिक युवक युवतियों ने दिया परिचय
अग्रवाल युवा चेतना सोसायअी की ओर से परिचय सम्मेलन का आयोजन मानस भवन में किया गया। इसमें 150 से अधिक युवक युवतियों ने मंच पर आकर परिचय दिया। संस्था के संयोजक कमलकांत अग्रवाल ने बताया कि इस मौके पर समाज से जुड़े अनेक संगठनों ने कहा कि फिजुलखर्ची रोकने के लिए रात के बजाए दिन में शादियां की जाए, साथ ही व्यंजनों की संख्या भी कम की जाए। 21 से अधिक व्यंजन शादियों में न रखे जाए। इस पर सकारात्मक विचार लोगों के आए है। सम्मेलन में अनेक संस्थाओं और प्रतिभाओं को सम्मानित किया गया। इसमें करुणाधाम आश्रम सुदेश शांडिल्य महाराज, प्रेरणा सेवा ट्रस्ट हमीदिया अस्पताल, प्रहलाददास मंगल बृजमोहन रामकली गौरक्षण केंद्र आदि शामिल है। इस मौके पर बड़ी संख्या में लोग उपस्थित थे।
दिन में हो शादियां, वैवाहिक समारोह में 21 से ज्यादा न हो व्यंजन ताकि रूके फिजूलखर्ची

कायस्थ समाज: यूनिक आईडी से ऑनलाइन भी देखा सम्मेलन
सार्वदेशित कायस्थ युवा प्रतिनिधि संस्था एवं कायस्थ मंडल नगरीय वेलफेयर सोसायटी की ओर से युवक-युवती परिचय सम्मेलन नंदन पैलेस होटल में आयोजित किया गया। इस सम्मेलन में 300 से अधिक प्रतिभागियों ने परिचय दिया। इस मौके पर वेबपोर्टल का शुभारंभ हुआ। यह परिचय सम्मेलन हाईटेक था। इसका सीधा प्रसारण इंटरनेट के माध्यम से किया जारहा था। प्रतिभागियों को स्मारिका के तहत एक यूनिक आईडी दी जा रही थी, इसके जरिए प्रतिभागी की सारी जानकारी मोबाइल पर देखी जा सकती है। कई लोगों ने इस ऑनलाइन परिचय को देखा। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के तौर पर पूर्व सांसद आलोक संजर उपस्थित थे।

दिन में हो शादियां, वैवाहिक समारोह में 21 से ज्यादा न हो व्यंजन ताकि रूके फिजूलखर्ची

Advertisement
यादव समाज: एकता और शिक्षा के लिए हुआ मंथन
गांधी भवन मेंराजधानी यादव समाज का युवक युवती परिचय सम्मेलन आयोजित किया गया। सम्मेलन में 200 से अधिक युवक युवतियों ने जीवनसाथी को लेकर अपनी पसंद ना पसंद बताई। कार्यक्रम में उपस्थित विधायक कृष्णा गौर ने समाज के लोगों से संगठित होने की अपील की। उन्होंने कहा कि जातियां मजबूत होंगी तो देश मजबूत होगा बच्चों को अच्छे संस्कार दें तथा अच्छे नागरिक बनाएं। बच्चों को शिक्षित बनाए और मृत्युभोज जैसी कुरीतियों को खत्म करे। अध्यक्ष रामस्वरूप यादव ने बताया कि समाज की पत्रिका एवं कैलेंडर का भी विमाचेन किया गया।

दिन में हो शादियां, वैवाहिक समारोह में 21 से ज्यादा न हो व्यंजन ताकि रूके फिजूलखर्ची

जांगड़ा समाज: परिचय सम्मेलन और सम्मान समारोह
मप्र जांगड़ा महासभा का युवक युवती परिचय सम्मेलन, प्रतिभावान विद्याथियों और वरिष्ठजनों का सम्मान समारोह रवीन्द्र भवन के मुक्ताकाश मंच पर आयोजित किया गया। सम्मेलन के दौरान कई परिवारों के बीच बातचीत का सिलसिला शुरू हुआ। इस मौके पर पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह, आईएएस जेएन कंसोटिया आदि भी प्रमुख रूप से उपस्थित थे। इस मौके पर महासभा की ओर से 5 सूत्रीय मांगों का ज्ञापन दिग्विजय सिंह को सौपा गया। इस मौके पर उन्होंने आश्वासन दिया कि समाज की मांगों का निराकरण किया जाएगा।
मीणा समाज: दहेजऔर मृत्युभोज की खिलाफत का संकल्प
मीणा समाज सेवा संगठन की ओर से नववर्ष मिलन समारोह धनवंतरि पार्क में आयोजित किया गया। इस मौके पर अनेक कार्यक्रम आयोजित किए गए। इस दौरान समाज के लोगों ने समाज में फैली दहेज और मृत्युभोज जैसे कार्यक्रमों की खिलाफत करने का संकल्प लिया। संगठन राष्ट्रीय संयोजक लालाराम मीणा ने कहा कि कुरीतियों के खिलाफ अब एकजुट होकर खड़े होना होगा। इस मौके पर भेल के महाप्रबंधक मोती सिंह रावत, डॉ राघवेंद्र मीणा, डा रामेश्वर मीणा, डीएस मीणा का सममान किया गया।

from Patrika : India’s Leading Hindi News Portal http://bit.ly/30gabFe

Send Your News to +919458002343 email to [email protected] for news publication to eradioindia.com