निर्वाचन की तैयारी: आयुक्त की खरी-खरी, लापरवाह बीएलओ, अधिकारियों व कर्मचारियों पर होगी सख्त कार्यवाही

0
5
मेरठ। विधान सभा निर्वाचक नामावलियों के कार्यो की समीक्षा करते हुये आयुक्त अनीता सी0 मेश्राम ने कहा कि जन प्रतिनिधियों को मतदाता सूची व बीएलओ की सूची उपलब्ध करायी जाये। उन्होंने कहा कि कोई भी पात्र व्यक्ति अपना वोट बनवाने से न छूटे यह सुनिश्चित करें तथा मतदान केन्द्र पर कितने फार्म भरवाये गये है उसकी सूची वहां अवष्य चस्पा कराये। बीएलओ फार्म भरवाने के उपरान्त उसकी प्राप्ति संबंधित व्यक्ति को अवष्य दें। उन्होंने जन प्रतिनिधियों से कहा कि वह अपने बूथ लेवल एजेन्ट की सूची जिला प्रषासन को उपलब्ध कराये व पुनरीक्षण अभियान में सहयोग करें।

बचत भवन में विधान सभा निर्वाचन क्षेत्रों की निर्वाचक नामावलियों का विषेष संक्षिप्त पुनरीक्षण 2020 के कार्यो की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुये आयुक्त अनीता सी0 मेश्राम ने कहा कि जो व्यक्ति रोजगार या अन्य कारणों से स्थान छोडर चले गये है और अब उक्त स्थान पर नहीं रह रहे है तो उनके नाम वोटर लिस्ट से हटवाये जाये। उन्होंने कहा कि बीएलओ (बूथ लेवल अधिकारी) घर-घर जाकर सत्यापन करें तथा अपने दिये गये दायित्वों का ठीक प्रकार से निर्वहन करें इसको सुनिश्चित किया जाये तथा लापरवाह बीएलओ, अधिकारियों व कर्मचारियों पर कार्यवाही की जाये। 

उन्होंने कहा कि पुनरीक्षण अभियान के दौरान ईपी अनुपात (इलेक्टर पोपूलेषन रेशियो), लिंगानुपात (जेंडर रेषियों) व ऐज कोहॉर्ट (आयु सहवासी/वर्ग) का विशेष ध्यान रखा जाये। उन्होंने आमजन से अपील करते हुये कहा कि 01 जनवरी 2020 को जिनकी आयु 18 वर्ष पूर्ण या अधिक हो रही है वह सभी अपना वोट बनवाये। उन्होंने बताया कि तहसील स्थित मतदाता पंजीकरण केन्द्र, पुनरीक्षण अभियान के दौरान अपने निकटवर्ती मतदान केन्द्र पर, काॅमन सर्विस सैन्टर पर भी बनवा सकते है।

उन्होंने समीक्षा के दौरान विधान सभा क्षेत्र सिवालखास, हस्तिनापुर, किठौर व सरधना में ईपी अनुपात राज्य के औसत 64.07 अनुपात से कम होने पर तथा विधान सभा क्षेत्र मेरठ कैन्ट, मेरठ व मेरठ दक्षिण का ईपी अनुपात राज्य औसत से अधिक होने पर संबंधित ईआरओ को गंभीरतापूर्वक कार्य करते हुये ईपी अनुपात कम व ज्यादा होने के कारणों को जानकर उसको राज्य औसत के बराबर लाने के लिए निर्देशित किया।

आयुक्त ने कहा कि लिंगानुपात का भी विशेष ध्यान रखा जाये। उन्होंने बताया कि मानक लिंगानुपात 1000 पुरूष के सापेक्ष 885 महिलाओं का है। उन्होंने कहा कि महिलाओं व युवाओं के अधिक से अधिक वोट बनाये जाये। उन्होंने कहा कि कोई भी पात्र व्यक्ति अपना वोट बनवाने से न वंचित रहे, यह सुनिष्चित करे। उन्होंने कहा कि वह स्वयं मतदान केन्द्रो का निरीक्षण करेंगी। इससे पूर्व आयुक्त ने आज जनपद बागपत में भी पुनरीक्षण कार्यों की समीक्षा की।

अपर जिलाधिकारी प्रशासन/उप जिला निर्वाचन अधिकारी राम चन्द्र ने बताया कि आलेख्य प्रकाषन अवधि 22 जनवरी 2020 तक बूथ लेविल आफिसरों द्वारा घर-घर सत्यापन का कार्य किया जाएगा और अर्ह नागरिको से पंजीकरण के संबंध में दावे और आपत्तियां भी प्राप्त किये जायेंगे। उन्होंने बताया कि मतदाता सूची का अंतिम प्रकाषन 14 फरवरी 2020 को किया जायेगा। उन्होंने बताया कि जनपद की अनुमानित जनसंख्या निर्वाचक नामावली के पुनरीक्षण अभियान की अवधि में 3893883 होगी। जिनमें से 18 वर्ष की आयु की 2494790 होगी।

उन्होंने बताया कि 23 दिसम्बर से 10 जनवरी 2020 तक फार्म 6 आफलाईन 12490, आनलाईन 906 प्राप्त हुये, फॅार्म 7 आफलाईन 8461, आनलाईन 24 प्राप्त हुये, फार्म 8 आफलाईन 596, आनलाईन 858 प्राप्त हुये है। उन्होंने बताया कि जनपद में 1199 मतदान केन्द्र व 2740 मतदेय स्थल है। उन्होंने बताया कि जनपद में आलेख्य प्रकाषन दिनांक 23 दिसम्बर 2019 को कुल मतदाता 2515091 है।

इस अवसर पर उप जिलाधिकारी मवाना ऋषिराज, सरधना अमित कुमार भारतीय, सदर अंकित खण्डेलवाल, एसीएम सुनीता सिंह, एसीएम कमलेष गोयल, भारतीय जनता पार्टी के संजीव माहेष्वरी, भाजपा के रोबिन गुर्जर, जिलाध्यक्ष बसपा सुभाष प्रधान, इंडियन नेषनल कांग्रेस के जिलाध्यक्ष अवनीष काजला, कांग्रेस के हरिकिषन अम्बेडकर, प्रवक्ता रालोद कमलजीत सिंह, सीपीआई के कामरेड शरीफ अहमद, समाजवादी पार्टी के राजपाल सिंह सहित अन्य अधिकारी व कर्मचारीगण उपस्थित रहे।

Send Your News to +919458002343 email to eradioindia@gmail.com for news publication to eradioindia.com