नौकरी दिलाने के नाम पर बेरोजगार युवक-युवतियों से ठगी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश, 3 गिरफ़्तार

20200724 190309

  •  फाईज़ अली सैफी, गाज़ियाबाद

Advertisement
एसएसपी कलानिधि नैथानी द्वारा साइबर क्राइम को मद्देनज़र रखते हुए चलाए जा रहे अभियान के अंतर्गत थाना खोड़ा पुलिस ने नौकरी दिलाने के नाम पर बेरोजगार युवक-युवतियों से ठगी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश करते हुए तीन शातिर ठगों को गिरफ़्तार कर लिया हैं। पुलिस को इनके पास से 6 मोबाइल फोन, 1 लैपटॉप, कॉलिंग डेटाशीट, 1 रजिस्टर जिसमें फर्जी जिओ ऑनलाइन जॉब कंपनी का विवरण, ठगी किए गए युवकों का विवरण, 5 डेबिट कार्ड, 2 आधार कार्ड, 1 पैन कार्ड, 176 सिम कार्ड, 1 कार एवं 2610 रूपए की नगदी बरामद हुई हैं। वहीं, पुलिस को पकड़े गए शातिर अभियुक्तों ने अपना नाम रवि चौहान पुत्र धर्मपाल सिंह, दूसरे ने प्रमोद उर्फ सागर पुत्र चंद्रपाल सिंह और तीसरे ने विकास पुत्र नागेश्वर निवासी थाना नोएडा गौतम बुध नगर बताया हैं।

गौरतलब है कि पकड़े गए अभियुक्तों द्वारा फर्जी वेबसाइट डब्ल्यू, डब्ल्यू, डब्ल्यू, डॉट डाटा एंड वर्क ऑनलाइन एवं क्यूकर डाॅट बना रखी थी, जिसपर बेरोजगार युवक-युवतियों का प्रोफाइल डाटा हुआ था। जिसे चुराकर अभियुक्त गण मोबाइल सिम प्राप्त कर लिया करते थे तथा फिर फोन पर बात करके नौकरी दिलाने के नाम पर एंट्री फीस व रजिस्ट्रेशन आदि के नाम पर पैसों की ठगी कर लिया करते थे। इतना ही नहीं, अभियुक्त गण इतने चतुर और चालाक है कि वह अब तक हजारों लोगों से करोड़ों रुपए की ठगी कर चुका हैं। इनमें, गिरोह का सरगना रवि चौहान हैं, जिसने फर्जी आईडी के आधार पर कई खाते खोले हुए हैं। जिनमें, अभियुक्त रवि व अन्य अभियुक्त गण युवक-युवतियों को झांसा देकर पैसे डलवाया करते थे।

20200724 190338
अभियुक्त गण ठगी किए गए पैसे को आपस में बांट लिया करते थे। इसके अलावा अभियुक्त गण प्रमोद की मोबाइल फोन की एक दुकान हैं, जो सिम लेने वाले लोगों की आईडी ले लिया करता था तथा आईजी का दुरुपयोग कर जालसाजी से सिम उपलब्ध किया करते थे। जिन्हें तीनों अभियुक्त गण युवक-युवतियों से ठगी करने में इस्तेमाल किया करते थे। दरअसल, अभियुक्त गण अब तक पंजाब, गुजरात, राजस्थान, दिल्ली व हरियाणा आदि के हजारों लोगों से करोड़ों रुपए की ठगी कर चुके हैं।
थाना खोड़ा प्रभारी निरीक्षक संदीप कुमार सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि पकड़े गए अभियुक्त गण शातिर किस्म के अपराधी हैं, जोकि ऑनलाइन ठगी करने में माहिर हैं तथा अभियुक्त गण अब तक हजारों लोगों से ठगी कर चुके हैं तथा लोगों से करोड़ों रुपए ठग चुके हैं, जिनकी जांच की जा रही हैं। पुलिस ने इनके विरुद्ध कानूनी कार्रवाई करके इनको जेल भेज दिया हैं।
Send Your News to +919458002343 email to [email protected] for news publication to eradioindia.com