महाराष्ट्र के मंत्री बोले, दिल्ली-मेरठ मेट्रो निर्माण का चीनी कम्पनी से अनुबंध करें खत्म

0
33
AP govt cancels Vizag Metro Financial bid - Discussions ...
मुम्बई। लद्दाख में चीन के सैनिकों के साथ हुई हिंसक झड़प में 20 भारतीय सैन्यकर्मियों के शहीद होने के बाद महाराष्ट्र के मंत्री और के काम के लिए चीन की कम्पनी को दिये गए ठेके को रद्द करने की मांग की है।
राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के नेता ने बुराकांपा नेता जितेंद्र आव्हाड ने दिल्ली-मेरठ मेट्रो धवार को अनुबंध रद्द करने की मांग करते हुए ट्वीट किया, आत्मनिर्भर भारत की बात करने के बाद ठेका चीन की कम्पनी को दे दिया गया। किसने ठेका दिया? रेलवे किसके अधिकार क्षेत्र में आता है? क्या केन्द्र के नहीं?

मंत्री ने कहा,12 जून को दिल्ली-मेरठ मेट्रो परियोजना का काम भारतीय कम्पनी एल एंड टी को नजरअंदाज करते हुए चीन की कम्पनी शंघाई टनल इंजीनियरिंग कम्पनी को दे दिया गया। फिर 15 जून को चीन ने हमारे 20 जवान को मार दिया। यह कैसी विदेश नीति है?

उन्होंने इस पर आश्चर्य जताते हुए केंद्र से चीन को सबक सिखाने की मांग की। एक आधिकारिक बयान के अनुसार, महाराष्ट्र सरकार ने सोमवार को चीन की तीन कम्पनियों के साथ कुल 5,000 करोड़ रुपये से अधिक की सहमति पत्र (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए।

Send Your News to +919458002343 email to eradioindia@gmail.com for news publication to eradioindia.com