रात्रि कर्फ्यू का नवचंदी थानाक्षेत्र में उड़ रहा मखौल, पुलिस उगाही में मस्त

inspector
  • संवाददाता, ई-रेडियो इंडिया

मेरठ। जहां एक ओर मेरठ में कोरोना मरीजों का आंकड़ा 1000 पार गया है वहीं पुलिसिया लापरवाही का आलम यह है कि रात्रि कर्फ्यू का जमकर मजाक उड़ाया जा रहा है। पुलिस चौराहों पर चेकिंग के नाम पर उगाही कर रही है।

देर रात तक बाजारों में रहती है रौनक

नौचंदी थानाक्षेत्र में पुलिस दिनभर चेकिंग के नाम पर उगाही करती है, और शाम होते ही रेड़ी, ठेले वालों पर रौब गालिब करना शुरू कर देती है क्योंकि नौचंदी पुलिस की औकात बाजार में खुली दुकानों को बंद कराने की नहीं है। नई सड़क, सेंट्रल मार्केट, शस्त्रीनगर के अन्य कई इलाकों में देर रात्रि तक भी रौनक बरकरार है।

Advertisement

पुलिस कर रही अभद्रता की इंतहा

नौचंदी पुलिस देर रात तक जांच के नाम पर उगाही करती नजर आती रात्रि के आठ बजते ही गस्त के नाम पर दिखावा करने का चलन शुरू हो जाता है। पुलिस की गस्त में टारगेट होते हैं ठेले, रेड़ी व दैनिक वस्तुओं के विक्रेता। जबकि नौचंदी थानाक्षेत्र में कई ऐसे दुकानदार हैं जिनकी दुकानों को बंद कराना नौचंदी पुलिस की औकात से बाहर है, गलती से कभी उन दुकानों की ओर निगाह भी कर ली तो खादी वाले सफेदपोश की खरी-खोटी सुनकर चुपचाप पूछ हिलाकर लौट जाती है।

पिछले दिनों मजिस्ट्रेट से अभद्रता पर इंस्पेक्टर को सुननी पड़ी थी खरी-खोटी

गौरतलब है कि पिछले दिनों मेरठ में तैनात एक महिला मजिस्ट्रेट से नौचंदी पुलिस ने अभद्रता कर दी थी जिसके एवज में मजिस्ट्रेट ने इंस्पेक्टर को खूब खरी-खोटी सुनाई थी। जवाब में इंस्पेक्टर का पूरा अमला चुपचाप खड़ा होकर ‘कान-पूछ गिराकर’ सुनता रहा। मजिस्ट्रेट ने जब अपने सीनियर मजिस्ट्रेट से पुलिस की बात कराई तब जाकर मामला शांत हुआ।

2019 12 05
Send Your News to +919458002343 email to [email protected] for news publication to eradioindia.com