विद्यार्थियों ने मोटरसाइकिल को फांसी लगाकर डीजल-पेट्रोल की बढ़ी कीमतों का किया विरोध

0
8
  • संवाददाता, ई-रेडियो इंडिया

मेरठ। स्टूडेंट सेवा समिति, भारतीय विद्यार्थी मोर्चा, एनएसयूआई द्वारा छात्रों का पेट्रोल और डीजल के बढ़ते दामों को लेकर मेरठ काॅलेज मेरठ मुख्य द्वार पर मोटरसाइकिल को फांसी लगाकर डीजल पैट्रोल की बढीं कीमतों का विरोध-प्रदर्शन किया हैं। मेरठ कालेज के मुख्य द्वार से चौधरी चरण सिंह पार्क होते हुए कचहरी के चक्कर लगाकर वापस मेरठ कालेज मेरठ क मुख्य द्वार पर मोटरसाइकिल को फांसी लगाकर डीजल-पैट्रोल की बढी कीमतों का विरोध-प्रदर्शन किया हैं। स्टूडेंटे सेवा समिति के अध्यक्ष करार हुसैन ने कहा कि भारत देश के प्रधानमंत्री दामोदर दास नरेन्द्र मोदी भारत देश की आत्मा बहुजन समाज विद्यार्थियो को सुरक्षित रखना चाहिए था। एनएसयूआई के पश्चिमी प्रदेश अध्यक्ष रोहित राणा ने भारत देश के जनता का विरोधी भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार से बढीं कीमतों का विरोध-प्रदर्शन कर तेल पर बढीं कीमतों को वापस लेने को कहा हैं। बहुजन मुक्ति पार्टी के मेरठ प्रभारी आरडी गादरे ने कहा कि प्रत्येक व्यक्ति आज भुखमरी की कगार पर हैं।

छात्र मजदूर, किसान दुकानदार, व्यापारी, देश की आत्मा बहुजन समाज कहे जाने वाले किसान मजदूर विद्यार्थी जीवन कोरोना वायरस महामारी संक्रमण रोग के लिए तीन-चार महीनों से परेशान हाल हैं। उधर आए-दिन पेट्रोल डीजल, बिजली के बिल की बढीं कीमतों से लोग परेशान हाल हैं। जनता को जागरूक करने की आवश्यकता है। पेट्रोल-डीजल के कच्चे तेल की कीमत बहुत कम है लेकिन भारत सरकार आए-दिन कीमतें आसमान छू रही हैं। भारतीय विद्यार्थी मोर्चा के मनोज कुमार, राहुल ने जनता की जेबों पर सरकारी डाका डालने वाली सरकार बताया हैं। अदनान, फिरोज सैफी, एडवोकेट आवेश सैफी, अहमद काजिम, ओमवीर सिंह ने कहा कि लोकडाउन से परेशान हाल जनता की मदद करने के बदले प्रधानमंत्री से अपना को लूटने का काम कर रहे हैं। देश के प्रधानमंत्री/प्रदेश के मुख्यमंत्री से भारतीय विद्यार्थियो की माॅग पर पेट्रोल-डीजल के दाम 30 से 35 रुपये करने की मांग की हैं। 
देश के प्रधानमंत्री/मुख्यमन्त्री जी को ज्ञापन देने का काम किया और पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ते हुए कम कराने के लिए विरोध प्रदर्शन किया गया और सभी छात्रों ने मिलकर इस तरह की सरकार की नीतियों का विरोध जताते हुए कहा की सरकार की ऐसी नीतियों को हम स्टूडेंट सेवा समिति वाले भारतीय विद्यार्थी मोर्चा, एनएसयूआई संगठन वाले इन नीतियों का बॉयकॉट करते हैं। क्योंकि 4 महीने के लोकडाउन में घरों के अंदर खाने के लिए नहीं है, कोई रोजगार का साधन नहीं है, उसी को देखते हुए आज सरकार ने पेट्रोल के दाम और डीजल के दाम दोनों इतने बढ़ा दिए हैं के छात्रों को बहुत सारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा हैं। एक तरफ स्कूल और कॉलेज की फीस को लेकर फीस भरने के लिए पैसे नहीं हैं, अपनी किताबें खरीदने के लिए पैसे नहीं है, और दूसरी तरफ सरकार ने आने-जाने का साधन भी महंगा कर दिया हैं। 
पेट्रोल, डीजल के दाम बढ़ने के बाद छात्रों का जीना दुश्वार हो रहा है और देश की जनता यह अपील कर रही है कि जब कच्चे तेल के दाम बहुत कम है तो आखिर पेट्रोल और डीजल का कितने दाम बढ़ाने की क्या जरूरत थी, अगर यह पेट्रोल-डीजल के दाम कम नहीं हुए तो छात्र सभी रोड पर आकर एक जन आंदोलन करेंगे, जिसकी वजह से अगर हमारी यह सुनवाई नहीं हुई तो प्रदर्शन बडा रूप लेगा। हमें न्याय चाहिए इस देश की जनता को रोजगार, शिक्षा, पेट्रोल-डीजल इन सभी में जो जनता की भलाई हो जनता को बेनिफिट हो हम सरकार से अपील करते हैं। सरकार अपने भले के लिए कोई भी काम देश के अंदर ना करें, जिससे जनता को तकलीफ हो, क्योंकि 4 महीने के लाॅकडाउन के अंदर लोगों के पास खाने तक का पैसा नहीं है तो आज स्टूडेंट सेवा समिति और एनएसयूआई, भारतीय विद्यार्थी मोर्चा ने मिलकर बाइक को मेरठ कॉलेज के गेट पर फांसी दी।
प्रदर्शन में स्टूडेंट सेवा समिति अध्यक्ष करार हुसैन, एनएसयूआई प्रदेश अध्यक्ष रोहित राणा, सचिन वर्मा, बहुजन मुक्ति पार्टी के मेरठ प्रभारी राजू गादरे, फिरोज सैफी, अहमद काजिम, सूर्याश, नन्हे खान, आवेश, ओमवीर सिंह, आदित्य, मोहित, आदि लोग मौजूद रहें हैं।
Send Your News to +919458002343 email to eradioindia@gmail.com for news publication to eradioindia.com