संचारी रोग नियंत्रण अभियान में शहर को लेकर नहीं बरतें कोताही: जिलाधिकारी बिजनौर

81
WhatsApp%2BImage%2B2020 06 28%2Bat%2B12.57.05%2BPM
  • संवाददाता, ई-रेडियो इंडिया

बिजनौर। जिलाधिकारी रमाकांत पाण्डेय ने कहा कि इस बार माह जुलाई,20 में आयोजित होने वाले संचारी रोग नियंत्रण अभियान के अंतर्गत कोविड-19 के नियमों का अनुपालन सुनिश्चित किया जाएगा, जिसमें रैलियों, प्रभात फैरियों सहित अन्य सामुहिक रूप से आयोजित होने वाले कार्यक्रम सम्पन्न नहीं होंगे। उन्होंने कहा कि उक्त कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए 10 विभिन्न विभागों के सहयोग एवं समन्वय के साथ कार्य किया जाएगा, जिसमें पंचायतराज, शिक्षा विभाग तथा शहरी विकास विभाग की भूमिका महत्वपूर्ण रहेगी। 

उन्होंने सभी संबंधित विभागों के अधिकारियांे को निर्देश दिए कि संचारी रोग नियंत्रण अभियान से संबंधित विभागीय कार्य योजना को स्वास्थ्य विभाग के संबंधित अधिकारी को तत्काल पे्रषित करना सुनिश्चित करें तथा शिक्षा विभाग के अधिकारी तीन दिन के अन्दर ब्लाकवार योजना बनाते हुए ब्लाक स्तर पर नोडल शिक्षकों के संवदीकरण का कार्य पूरा करें। उन्होंने निर्देश दिए कि सभी उप जिलाधिकारी एवं ब्लाॅक चिकित्साधिकारी ब्लाॅक स्तर पर अन्तर्विभागीय बैठकों का आयोजन कर कार्य योजना बनाना सुनिश्चित करें।

जिलाधिकरी पाण्डेय कल सांय 7-00 बजे विकास भवन के सभागार में आयोजित राष्ट्रीय वैक्टर जनित रोग नियंत्रण कार्यक्रम के अंतर्गत संचारी रोग नियंत्रण अभियान को सफलतापूर्वक संचालित करने के उद्देश्य से अंतर्विभागीय समन्वय बैठक की अध्यक्षता करते हुए अपने विचार व्यक्त कर रहे थे।

उन्होंने बताया कि शासन के निर्देशों के अनुपालन में 01 जुलाई से 31जुलाई, 2020 तक संचारी रोगों पर प्रभावी नियंत्रण स्थापित करने के लिए पूर्ण गुणवत्ता के साथ अभियान चलाने के निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि संचारी रोगों तथा डेगू और मलेरिया बुखार पर प्रभावी नियंत्रण तथा इनका त्वरित एवं सही उपचार सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकताओं में शामिल है तथा इसके लिए अंतर्विभागीय सहयोग से तीन संचारी रोगों पर प्रभावी नियंत्रण के लिए अभियान चलाया जाएगा। उन्होंने सभी संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए कि इस अभियान को पूर्ण मानक और निष्ठा के साथ संचालित करना सुनश्चित करें ताकि अधिक से अधिक लोगों के जीवन की सुरक्षा की जा सके। उन्होंने कहा कि संचारी रोग नियंत्रण अभियान कार्यक्रम की प्रगति की समीक्षा के लिए नियमित रूप से प्रति शनिवार शाम 4ः30 संबंधित विभागों के अधिकारियों के साथ बैठक का आयोजन किया जाएगा, ताकि किसी भी स्तर कोई कमी हो तो उसको दूर किया जा सके।

उन्होंने कहा कि संचारी एवं वैक्टर जनित रोगों पर प्रभावी नियंत्रण करने के लिए अंर्तविभागीय समन्य के साथ कार्य योजना तैयार की गई है, जिसके अंतर्गत स्वास्थ्य, शिक्षा, पंचायत, महिला एंव बाल विकास, नगर निकाय सहित अन्य संबंधित विभागों को शामिल किया गया है, जो आपस में सामंजस्य स्थापित कर परस्पर सहयोग करते हुए एक टीम के रूप में कार्य कर इस कार्यकम को शत प्रतिशत रूप से सफल बनाने का प्रयास करेगें ताकि जिले से संचारी रोग जैसे मलेरिया, डेंगू, चिकनगुनिया आदि रोगों पर प्रभावी नियंत्रण स्थापित हो सके। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि एएनएम एवं आशाओं को अपने स्तर से निर्देशित करें कि वे अपने कार्य क्षेत्र में घर-घर जाकर जन सामान्य को स्वच्छता के प्रति जागरूक करें, क्योंकि संचारित रोगों का मुख्य कारण गंदगी होता है।

संचारी रोग नियंत्रण अभियान के नोडल अधिकारी/उप मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 एस0के0 निगम द्वारा कार्यक्रम का संचालन करते हुए वैक्टर जनित रोगों के प्रसार एवं नियंत्रण के उपायों पर विस्तार से जानकारी उपलब्ध कराई गई।

इस मौके पर मुख्य विकास अधिकारी के0पी0 सिंह, संयुक्त निदेशक स्वास्थ्य डा0 अनिल कुमार मिश्र,परियोजना निदेशक विजय प्रकाश श्रीवास्तव, मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ0 विजय कुमार यादव, मुख्य पशुचिकित्साधिकारी डा0 भूपेन्द्र सिंह, जिला मलेरिया अधिकारी बृजभूषण, अधिशासी अधिकारी नगर पालिका/नगर पंचायत सहित स्वास्थ्य विभाग के अन्य अधिकारियों के अलावा महिला एंव बाल कल्याण सहित अन्य संबंधित विभागों के अधिकारी मौजूद थे।

Send Your News to +919458002343 email to eradioindia@gmail.com for news publication to eradioindia.com