सावधान: हवाओं में घुलकर फैलता है कोरोना, 32 देशों के वैज्ञानिकों का दावा

corona virus air
  • संवाददाता, ई-रेडियो इंडिया

कोरोनावायरस को लेकर पूरी दुनिया में अलग-अलग दावे किए जा रहे थे इसी बीच एक सनसनीखेज दावा सबके सामने आया है, जिसके तहत यह बताया गया है कि #कोरोनावायरस हवाओं के माध्यम से भी एक दूसरे में फैलता है। हवाओं से कोरोना फैलने वाली इस खबर ने दुनिया में नई तरह का जहर घोल दिया है।

आपको बता दें कि कोरोनावायरस को लेकर अभी तक हाई अलर्ट जारी किया गया है, भारत पूरे विश्व में तीसरे नंबर पर पहुंच गया है। अब देखना यह है कि कोरोनावायरस से सम्बंधित इस नये दावे में कितनी सच्चाई है। अगर ऐसा हुआ तो पूरी दुनिया में एक नई बहस खड़ी हो जाएगी और इसी के साथ यह माना जाने लगेगा कि कोरोना ऐसा रोग है जो आज तक ना तो धरती पर पैदा हुआ और ना ही आगे कभी पैदा होगा।

दुनिया के 32 देशों के 239 वैज्ञानिकों का यह दावा है कि कोरोनावायरस हवाओं के माध्यम से भी एक दूसरे में फैलता है, हाल ही में न्यूयॉर्क टाइम्स में प्रकाशित एक लेख में यह दावा किया गया है। इसके आधार पर डब्ल्यूएचओ से यह आग्रह भी किया गया कि वह इस रोग से सम्बंधित अपनी अनुशंसा को बदले।

डब्ल्यूएचओ अभी तक यही मानता रहा है कि मुंह से निकलने वाले छोटे-छोटे ड्रॉपलेट्स या पानी की बूंदों के माध्यम से ही कोरोना एक दूसरे तक फैलता है, इसके अलावा किसी चीज को छूने से फैलता है या फिर किसी रोगी के से ज्यादा संपर्क में रहने से फैलता है। इन अवधारणाओं को बदलने की बिल्कुल आवश्यकता बताई जा रही है और यह भी कहा जा रहा है कि अगर ऐसा ना हुआ तो आने वाले वक्त में इंसानों के लिए बहुत बुरा साबित होगा।

Advertisement
हालांकि डब्ल्यूएचओ के रोकथाम और संक्रमण नियंत्रण के डॉक्टर व तकनीकी प्रमुख डॉक्टर बेंडेटा अलेग्रेंजी पहले ही यह मान चुके हैं कि कोरोनावायरस के हवाओं के माध्यम से फैलने की पूरी संभावना है लेकिन अभी तक कोई पुख्ता सबूत ना आने की वजह से डब्ल्यूएचओ इस संबंध में खुलकर कुछ कहने में हिचकिचा रहा था लेकिन इस नई खोज में एक तरीके से पूरे दुनिया में भूकंप ला दिया है।
Send Your News to +919458002343 email to [email protected] for news publication to eradioindia.com