Katyayani Mata Ki Aarti || Katyayani Mata Mantra || Katyayani Mata Ki Puja

Katyayani Mata Ki Aarti || Katyayani Mata Mantra || Katyayani Mata Ki Puja

  • संवाददाता || ई-रेडियो इंडिया

Katyayani Mata Ki Aarti | Katyayani Mata Mantra | Katyayani Mata Ki Puja: नवरात्रि के छठे दिन मां कात्यायनी की पूजा की जाती है। यहां हम जानेंगे कि हमें मां कात्यायनी की पूजा के दौरान कौन से मंत्र का जाप करना है, किस तरह से पूजा करनी है और उनकी आरती कैसे करें?

Katyayani Mata Ki Puja का महत्व

नवरात्रि के छठे दिन कात्यायनी माता की पूजा (Katyayani Mata Ki Puja) करने से अप्रत्याशित परिणाम मिलते हैं। कहते हैं कि मां कात्यायनी ने यह कैसे शुरू का वध किया जो देवताओं के लिए काल बन गया था। महिषासुर का वध करने के बाद मां कात्यायनी को महिषासुर मर्दिनी के नाम से भी जाना जाने लगा। ऐसी मान्यता है कि मां कात्यायनी की पूजा करने वाला व्यक्ति अपनी इंद्रियों को वश में रखने में सक्षम हो जाता है।

कहते हैं कि जिन कन्याओं के विवाह में अड़चन हो रही है उन्हें मां कात्यायनी की विधि विधान पूर्वक पूजा (Katyayani Mata Ki Puja) करने से लाभ होता है। पौराणिक कथाओं के अनुसार कृष्ण को पति रूप में प्राप्त करने के लिए बृज की गोपियों ने माता कात्यायनी की पूजा (Katyayani Mata Ki Puja) की थी। माता कात्यायनी की पूजा से देवगुरु बृहस्पति प्रसन्न होते हैं और कन्याओं को अच्छे पति का वरदान देते हैं।

मां कात्यायनी हर गम दूर करती हैं। भक्तों के रोग, शोक, संताप और भय नष्ट हो जाते हैं। जन्मों के समस्त पाप भी नष्ट हो जाते हैं। इसलिए कहा जाता है कि इस देवी की उपासना करने से परम पद की प्राप्ति होती है। इनकी उपासना और आराधना से भक्तों को बड़ी आसानी से अर्थ, धर्म, काम और मोक्ष चारों फलों की प्राप्ति होती है। 

मां कात्यायनी का स्वरूप

मां कात्यानी सिंह की सवारी करते हैं और चारभुजा धारी होती हैं। एक भुजा में तलवार दूसरे में कमल का फूल होता है। अन्य दोनों हाथों में वरमुद्रा और अभयमुद्रा है। सुनहरे रंग में चमकती हुई मां कात्यायनी को देखकर किसी का भी मन आकर्षित होने से रह नहीं सकता।

माता कात्यायनी की कथा

एक प्रसिद्ध महर्षि हुआ करते थे जिनका नाम कत था, इन महर्षि के पुत्र ऋषि कात्य के गोत्र में विश्व प्रसिद्ध महर्षि कात्यायन उत्पन्न हुए। उसी दौरान दानों महिषासुर का अतिवाद बढ़ने लगा उसके अत्याचार से पृथ्वी पर तमाम देवता त्रस्त हो गए। तभी भगवान ब्रह्मा, विष्णु, महेश तीनों ने मिलकर महिषासुर के विनाश के लिए एक देवी को उत्पन्न किया। क्योंकि इनका जन्म ऋषि कात्यायन के यहां हुआ था इसलिए यही देवी मां कात्यायनी के रूप में जानी गईं।

Katyayani Mata Ki Aarti || Katyayani Mata Mantra || Katyayani Mata Ki Puja
मन से करें मां की पूजा || Katyayani Mata Ki Aarti || Katyayani Mata Mantra || Katyayani Mata Ki Puja

Katyayani Mata की पूजा कैसे करें || Katyayani Mata Mantra

  • सबसे पहले तन मन और वचन को शुद्ध कर पूजा स्थल पर बैठें।
  • मां कत्यायनी को लकड़ी की चौकी पर लाल कपड़ा बिछाकर स्थापित करें।
  • कात्यायनी माता को पीला रंग बेहद पसंद है इसलिए पीले रंग का सिंगार मां के लिए मनमोहक होगा।
  • गोधूलि बेला में मां को पुष्प, धूप, दीपक व अन्य चढ़ाने योग्य सामग्री को एकत्रित कर मां का ध्यान करें।
  • मां का ध्यान गोधुलि बेला यानि शाम के समय में करना चाहिए, ऐसा करने से माता अधिक प्रसन्न होती हैं ।
  • मां कात्यायनी की पूजा के लिए शहद का प्रयोग करें।
  • मां को भोग लगाने के बाद इसी शहद से बने प्रसाद को ग्रहण करना शुभ माना गया है।
  • इस मंत्र (Katyayani Mata Mantra) का जप करते हुए मां की पूजा करें-
    चंद्रहासोज्ज्वलकरा शार्दूलवरवाहना। 
    कात्यायनी शुभं दद्याद्देवी दानवघातिनी॥
  • तत्पश्चात प्रसाद लोगों को खिलाएं और खुद भी खाएं।

मां कात्यायनी की आरती || Katyayani Mata Ki Aarti

जय जय अम्बे, जय कात्यायनी। जय जगमाता, जग की महारानी।

बैजनाथ स्थान तुम्हारा। वहां वरदाती नाम पुकारा।

कई नाम हैं, कई धाम हैं। यह स्थान भी तो सुखधाम है।

हर मंदिर में जोत तुम्हारी। कहीं योगेश्वरी महिमा न्यारी।

हर जगह उत्सव होते रहते।हर मंदिर में भक्त हैं कहते।

कात्यायनी रक्षक काया की। ग्रंथि काटे मोह माया की।

झूठे मोह से छुड़ाने वाली। अपना नाम जपाने वाली।

बृहस्पतिवार को पूजा करियो। ध्यान कात्यायनी का धरियो।

हर संकट को दूर करेगी। भंडारे भरपूर करेगी।

जो भी मां को भक्त पुकारे। कात्यायनी सब कष्ट निवारे।




email: eradioindia@gmail.com || info@eradioindia.com || 09458002343

अगर आप भी अपना समाचार/ आलेख/ वीडियो समाचार पब्लिश कराना चाहते हैं या आप लिखने के शौकीन हैं तो आप eRadioIndia को सीधे भेज सकते हैं। इसके अलावा आप फेसबुक पर हमें लाइक कर सकते हैं और टि्वटर पर फॉलो कर सकते हैं। मेरी वीडियोस के नोटिफिकेशन पाने के लिए आप यूट्यूब पर हमें सब्सक्राइब करें। किसी भी सोशल मीडिया पर हमें देखने के लिए टाइप करें कि eRadioIndia.

https://eradioindia.com/work-with-us/
Don't wait just take initiation

One Reply to “Katyayani Mata Ki Aarti || Katyayani Mata Mantra || Katyayani Mata Ki Puja”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *