शिक्षक ही समाज के भविष्य का निर्माता हैं -राष्ट्रीय अध्यक्ष अनिल आर्य

गाज़ियाबाद। आर्य समाज, एटीएस इंदिरापुरम के तत्वावधान में “विश्व शिक्षक दिवस” पर ऑनलाइन गूगल मीट पर गोष्ठी का आयोजन किया गया। मुख्य अतिथि केन्द्रीय आर्य युवक परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष अनिल आर्य ने कहा कि शिक्षक ही भविष्य के समाज का निर्माता है। जैसे बच्चों को बाल्यकाल में संस्कार मिलेंगे वैसा ही भविष्य का समाज निर्मित होगा। आज संस्कारो की कमी के कारण ही चौरी, बलात्कार, आत्म हत्या की घटनाएं बढ़ रही है।

चारित्रिक पतन के कारण ही भ्रस्टाचार दूर नहीं हो पा रहा। सभ्य समाज के निर्माण के लिए नैतिक शिक्षा व सांस्कृतिक निर्माण आधार है जो कि केवल शिक्षक ही दे सकते है चाहे मंत्री हो, जज या संतरी सभी का निर्माता हैं। अतः हमें शिक्षकों के आदर व सम्मान का संकल्प लेना चाहिए और शिक्षकों का भी दायित्व है कि अपने उत्कृष्ट आचरण से समाज के आदर्श बने।

अध्यक्षता करते हुए प्रान्तीय महामंत्री प्रवीण आर्य ने कहा कि महर्षि दयानंद शिक्षकों के शिक्षक थे, उन्होंने अपने आचरण सुधार पर बल दिया, शिक्षक जैसे जीवन जीता है वैसा ही समाज बनता है। कार्यक्रम का कुशल संचालन करते हुए संयोजक देवेन्द्र गुप्ता ने कहा कि एटीएस परिवार की प्रति सप्ताह यज्ञ व सत्संग की परंपरा रही है, अब हम गूगल मीट के माध्यम से समाज सुधारक व समाज निर्माण का कार्य जारी रखेंगे।

 गायिका शिप्रा गुप्ता, संगीता आर्या, पुष्पा चुघ, प्रतिभा सपड़ा, मगनेश गुप्ता, कुसुम आर्या, इंदिरा गुप्ता, शालिनी गोयल, महेंद्र भाई, नरेन्द्र आर्य सुमन आदि ने मधुर भजन प्रस्तुत किये। इस अवसर पर सर्वश्री सौरभ गुप्ता, यशोवीर आर्य, ममता चौहान, पूर्णिमा शर्मा, अभिषेक गुप्ता व सुमन गुप्ता, विनोद त्यागी आदि मुख्य रूप से उपस्थित रहें हैं।




email: eradioindia@gmail.com || info@eradioindia.com || 09458002343

अगर आप भी अपना समाचार/ आलेख/ वीडियो समाचार पब्लिश कराना चाहते हैं या आप लिखने के शौकीन हैं तो आप eRadioIndia को सीधे भेज सकते हैं। इसके अलावा आप फेसबुक पर हमें लाइक कर सकते हैं और टि्वटर पर फॉलो कर सकते हैं। मेरी वीडियोस के नोटिफिकेशन पाने के लिए आप यूट्यूब पर हमें सब्सक्राइब करें। किसी भी सोशल मीडिया पर हमें देखने के लिए टाइप करें कि eRadioIndia.

https://eradioindia.com/work-with-us/
Don't wait just take initiation

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *