क्राइम ब्रांच और थाना खोड़ा पुलिस की सयुंक्त टीम ने पकड़े गैंग का सरगना समेत चार लुटेरें

0
31
  • कब्जे से अवैध असलहा, लूट का मोबाइल फोन एवं लूट की नगदी सहित लूट की एक वैगनआर कार बरामद
  • पकड़े गए अभियुक्त गण अवैध असलहा सहित चोरी और लूट के वाहनों से दिया करते थे एनसीआर-क्षेत्र में लूट-पाट जैसी घटनाओं को अंजाम

फाईज़ अली सैफी, ई-रेडियो इंडिया
गाज़ियाबाद। जनपद में लूट-पाट जैसी घटनाओं को मद्देनज़र रखते एसएसपी कलानिधि नैथानी ने एक विशेष अभियान चलाया हुआ हैं। जिसके क्रम में क्राइम ब्रांच और थाना खोड़ा पुलिस की संयुक्त टीम ने इस अभियान के अंतर्गत गैंग के सरगना समेत चार लुटेरों को गिरफ़्तार किया हैं। पुलिस को इनके पास से अवैध असलहा, लूट का मोबाइल फोन एवं नगदी सहित लूट की एक वैगनआर कार भी बरामद हुई हैं। पुलिस को पकड़े गए अभियुक्तों ने अपना नाम रिंकू बाटा उर्फ राकेश गिरी पुत्र देवगिरी निवासी थाना पिलखुआ, दूसरे ने शादाब उर्फ सद्दाम पुत्र अनवर सैफी निवासी थाना सिंभावली, तीसरे ने नितिन पुत्र भागमल निवासी थाना बिसरख और चौथे ने नीतू उर्फ कर्ण पुत्र रतन सिंह जाटव निवासी थाना ईकोटेक तृतीय गौतमबुधनगर बताया हैं, जोकि इस गिरोह का सरगना भी हैं।


पुलिस के मुताबिक पूछताछ में पकड़े गए अभियुक्त निशु उर्फ करण और रिंकू उर्फ बाटा ने बताया कि उन्होंने जनपद गौतमबुधनगर के थाना सेक्टर- 49 के एक इलाके से एक स्प्लेंडर मोटरसाइकिल चोरी की थी, जिससे कि अभियुक्त गणों लूट की घटनाओं को अंजाम दे सकें। दरअसल, गत् 8 जून को एचएन-9 से एक चक्की व्यापारी अपनी स्कूटी द्वारा किसी कार्य से जा रहा था कि तभी अभियुक्त निशु उर्फ करण और रिंकू उर्फ बाटा ने अपने अवैध हथियार(पिस्टल) के बलपर व्यापारिक को रोक लिया था। वहीं, दूसरी तरफ अभियुक्त गणों के साथी अभियुक्त नितिन और शादाब दूसरी मोटरसाइकिल से अपने साथियों की मदद के लिए सहयोग में पीछे से सक्रिय थे। इसी दौरान जैसे ही व्यापारी के साथ लूट की घटना को अंजाम देते हुए वहां से गुजर रहे आरक्षी मनोज कुमार ने यह मंजर अपनी आंखों से देखते हुए उसका विरोध किया तो अभियुक्त गणों ने आरक्षी के पैर में एक गोली मार दी और अभियुक्त गण स्कूटी सवार व्यापारी से 5,500 रुपए की नकदी व एक मोबाइल और उसका एक पर्स लूट कर मौके से फरार हो गए।

गौरतलब है कि जैसे ही अभियुक्त गण आगे चले तो वहां उन्हें राजनगर-एक्सटेंशन की गौर कास्टेट सोसाइटी के पास एक वैगनआर कार सवार व्यक्ति अपनी गाड़ी से बाहर निकलकर रोड पर पेशाब करता दिखाई दिया तो चारों अभियुक्त गणों ने उसे अवैध असलहा(पिस्टल) दिखाकर उससे उसकी कार वैगनआर लूट ली तथा अभियुक्त गणों ने अपनी एक स्प्लेंडर मोटरसाइकिल भी वही मौके पर ही छोड़ दी और लूटी हुई वैगनआर कार और अपनी दूसरी मोटरसाइकिल को लेकर मौके से मनन-धाम/बाबू-धाम की ओर फरार हो गए थे। इतना ही नहीं, अभियुक्त गणों ने बताया कि वह चोरी और लूटे हुए वाहनों को हापुड़ निवासी एक मनोज, जोकि एक प्रधान है नामक व्यक्ति को बेचा करते हैं तथा पूर्व में भी ऐसे ही जाने कितने वाहन अब से पहले यह भेज चुके हैं। पुलिस रिकॉर्ड के अनुसार अभियुक्त गणों के विरुद्ध एक दर्जन एवं उससे भी अधिक मुकदमें दर्ज हैं।

एसएसपी कलानिधि नैथानी ने जानकारी देते हुए बताया कि पकड़े गए अभियुक्त शातिर किस्म के अपराधी हैं जिनके विरुद्ध दर्जनभर मुकदमें दर्ज हैं। इतना ही नहीं, उन्होंने बताया कि अभियुक्त गण चोरी और लूट के वाहनों को अपराध करने में इस्तेमाल किया करते थे। हालांकि, अभियुक्त गणों को पकड़ने वाली टीम में क्राइम ब्रांच टीम के निरीक्षक लक्ष्मण वर्मा, संजय पांडे, वरिष्ठ सिपाही राजेंद्र सिंह, पंकज कुमार, बलिंदर बालियान, सिपाही मनोज कुमार, विपिन कुमार, खुर्शीद कुमार, वहीं दूसरी ओर थाना खोड़ा पुलिस की संयुक्त टीम के प्रभारी निरीक्षक संदीप कुमार, वरिष्ठ उपनिरीक्षक मधुर श्याम, उपनिरीक्षक विपिन कुमार, पंकज कुमार, सचिन कुमार, सिपाही सचिन मलिक और सिपाही पवन कुमार मौजूद रहे हैं। एसएसपी कलानिधि नैथानी ने गिरफ़्तार करने वाली इन टीमों को 25 हज़ार रुपए का पुरस्कार देने की घोषणा की हैं।

Send Your News to +919458002343 email to eradioindia@gmail.com for news publication to eradioindia.com