गाजियाबाद: Police & Social Workers के प्रयास से मिट रही राहगीरों की भूख, 1500 में बांटे भोजन

0
3
मुरादनगर में राहगीरों को भोजन वितरित करते पुलिसकर्मी व सामाजिक संगठन के लोग। pic: eradioIndia

  • फाईज़ अली सैफी | eradioIndia

गाज़ियाबाद। COVID-19(कोरोना वायरस) को मद्देनज़र रखते सरकार द्वारा लॉकडाउन/जनता कर्फ्यू जारी है। लॉकडाउन के अंतर्गत लोग-बाग अपने-अपने घरों में बैठकर कोरोना वायरस के संक्रमण की साइकिल को तोड़ रहे हैं, जोकि मानव जाति के लिए बहुत ही जरूरी है। आपको बता दें कि कोरोना वायरस ने पूरे विश्व में अपने पैर पसार लिए हैं, और उसका प्रकोप भारत के विभिन्न राज्यों और शहरों में भी देखने को मिल रहा है।

जिसके चलते केंद्रीय और राज्य सरकार द्वारा दिए गए निर्देशों के अनुकूल लॉकडाउन/जनता कर्फ्यू जारी किया गया है, जोकि फिलहाल 21 दिनों का है। सरकार द्वारा लॉकडाउन के नियमों का पूरा भारत मिलकर एक साथ लड़ाई लड़ रहा है और कोरोना वायरस के इस संक्रमण तोड़ने के लिए अपने-अपने घरों में शान्ति से लॉक हुए बैठे हैं।
आपको बता दें कि लॉकडाउन के अंतर्गत श्रमिकों/मजदूरों का बहुत ही बुरा हाल हो रहा है और वह भूखे-प्यासे किसी तरह अपना समय गुजार रहे हैं। गौरतलब है कि गरीब-गुरबा लोगों की भूख और प्यास को मद्देनज़र रखते थाना मुरादनगर क्षेत्र के समाजसेवियों ने मिलकर पुलिस-प्रशासन द्वारा थाना मुरादनगर में पंद्रह सो लोगों को भोजन और राशन वितरित किया है, जोकि ग्राम बसंतपुर सैंतली, पाइपलाइन, ईदगाह बस्ती आदि के रहने वाले लोग हैं। इतना ही नहीं, थाना मुरादनगर प्रभारी निरीक्षक ओमप्रकाश सिंह अपने थानाक्षेत्र में सक्रिय हैं और उनकी नज़र गरीबों पर बराबर बनी हुई है। 
दरअसल, प्रभारी निरीक्षक आए-दिन गरीब-गुरबा लोगों को भूख और प्यास से निजात दिलाने में लगे हुए हैं। इसके अलावा नगर के गणमान्य व्यक्ति भी गरीबों की भूख और प्यास मिटाने के लिए के जगह-जगह खाना व राशन वितरित कर रहे हैं। बता दें कि लोग-बाग एक के बाद एक डिस्टेंस के अनुसार अपना-अपना राशन ले रहे है और पुलिस-विभाग व सामान्य व्यक्तियों का तहेदिल से शुक्रिया अदा कर रहे हैं।
Send Your News to +919458002343 email to eradioindia@gmail.com for news publication to eradioindia.com