चांदपुर: नगरपालिका में हो रहे है भ्रष्टाचार को लेकर नामित सभासदों ने उठाई आवाज

70
corrution bhrastachaar

  •  संवाददता, ई-रेडियो इंडिया

बिजनौर। चांदपुर नगर पालिका में हो रहे भ्रष्टाचार का सच अब जनता के सामने आना शुरू हो गया है।बरसात के शुरू होते ही चांदपुर के विकास की पोल खुल गई है। शहर में जगह-जगह भ्रष्टाचार के नाले तैयार किया जा रहे है, तो वही जलजमाव की समस्या देखने को मिल रही है। इसी समास्या को लेकर नगरपालिका में भाजपा के नामित सभासदों ने डीएम को ज्ञापन देकर पालिका में बड़ी मात्रा में हो रहे भ्रष्टाचार की जांच कराकर रोकने की मांग की।

भाजपा विधयाक कमलेश सैनी व भाजपा सभासद राम शरण दास, पल्लव अग्रवाल, सन्तोष खन्ना, राजेंद्र त्यागी, ब्रजपाल सैनी ने शुक्रवार को जिलाधिकारी के समक्ष अपनी मांगों को रखते हुए जिलाधिकारी रमाकांत पांडेय जी को ज्ञापन सौंपा।

उन्होंने मीडिया से बात करते हुए बताया कि जिलाधिकारी के सामने भाजपा सभासदों ने 3 सूत्री मांगें रखी गई हैं। जिसमें पालिका द्वारा शहर में सड़को का निर्माण, नालो का निर्माण किया जा रहा है। जिसमे नालों का निर्माण मानकों को अनदेखा करते हुए बनाया जा रहा है। कई स्थानों पर तो नालों को सड़कों से ऊपर उठाकर बना दिया गया है जिसमे पानी जाना संभव नही हो पाएगा। नालो में लगने वाली सामग्री मानक अनुसार नही लगाया जा रहा है। नालों में ईंट अव्वल की न लगाकर निन्म स्तर की जैसे चटका व दोयम लगाई जा रही है।

WhatsApp%2BImage%2B2020 06 27%2Bat%2B8.10.41%2BAM
ज्ञापन में बताया कि उन्होंने जिलाधिकारी से अपील की है कि वो नगर पालिका प्रशासन से बात कर समस्या का निस्तारण करें। उन्होंने नगर पालिका प्रशासन पर आरोप लगाते हुए कहा कि कुछ दिन पूर्व नाले की कवरेज करने गए पत्रकार पर भी ठेकेदार द्वारा हमला कर दिया था। नगरपालिका के ठेकेदारों के भी हौसले बुलंद नजर आ रहे है। कि खुले आम पत्रकार को पीटा जा रहा है। पत्रकार ने फिर मामले की शिकायत कोतवाली में कई गयी। जिसमे ठेकेदार सहित पांच लोगों पर मुकदमा दर्ज कर दिया गया था। उन्होंने बताया कि नगरपालिका को शहर की सफाई व्यवस्था को लेकर लाखो रुपये आते है लेकिन आज भी थोड़ी सी बरसात हो जाए तो नालो की गंदगी सड़को पर नजर आने लगती है। जिससे शहर में विभिन्न प्रकार की बीमारी होने का डर रहता है। उन्होंने नालो की प्रति दिन साफ सफाई होनी चाहिए। इतना ही नही सबसे बड़ी बात है कि नालों की निकासी ने होना सबसे बड़ा कारण बताया जा रहा है। 
उन्होंने कहा कि नालों की सफाई के नाम पर नगर पालिका ने बहुत बड़ा फर्जीवाड़ा किया है। जिसकी जांच होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि इसी फर्जीवाड़े के खिलाफ भाजपा के पांच सभासदों ने भ्रष्टाचार के विरुद्ध आवाज उठाई है।

Send Your News to +919458002343 email to eradioindia@gmail.com for news publication to eradioindia.com