डीएम रमाकान्त पांडे ने राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन को सुचारु रूप से संचालित करने के दिये निर्देश

335
WhatsApp%2BImage%2B2020 07 07%2Bat%2B6.43.11%2BPM

जितेंद्र कुमार जीतू, बिजनौर। जिलाधिकारी रमाकांत पाण्डेय ने आज शाम 3ः00 बजे विकास भवन सभागार में आयोजित राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के तहत जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक की अध्यक्षता करते हुए उपस्थित अधिकारियों को निर्देश दे रहे थे।

उन्होनें कहा कि शासन की स्पष्ट मंशा है कि स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ निःशुल्क रूप में पूर्ण गुणवत्ता के साथ जनसामान्य को प्राप्त हो। उन्होंने सभी प्रभारी चिकित्साधिकारियों को कड़े निर्देश दिये कि जिले में जननी सुरक्षा योजना का संचालन पूर्ण गुणवत्ता और मानक के अनुरूप करें और प्राथमिक एंव सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों की विश्वसनीयता को बढ़ाना सुनिश्चित करें ताकि प्राईवेट नर्सिगं होम में प्रसव कराने का जन सामान्य का रूझान कम से कम से हो सके। उन्होनें कहा कि शासन द्वारा प्रसव के लिए हर सम्भव सुविधायें जिनमें एम्बुलेंस, डिलीवरी, उपचार आदि सेवायें मुफ़त उपलब्ध हैं और साथ ही प्रसव कराने वाली महिला को आर्थिक सहायता भी प्रदान की जाती है, इन सब के बावजूद सरकारी अस्पतालों में प्रसव कम होना गम्भीर प्रकरण है।

WhatsApp%2BImage%2B2020 07 07%2Bat%2B6.43.11%2BPM%2B%25281%2529
जिलाधिकारी ने चेतावनी देते हुए कहा कि वर्तमान वित्तीय वर्ष में पूरे जोश और जिम्मेदारी से निर्धारित लक्ष्यों को अधिक से अधिक पूरा करने का प्रयास करें उन्होनें यह भी निर्देश दिये कि आशाओं का भुकतान भी जल्द से कराना सुनिश्चिित करें। उन्होंने स्वास्थ्य अधिकारियों को निर्देश दिये की फैमिली प्लैनिग का प्रतिशत कम होना एक गंभीर चिन्ता का विषय है इसको भी ध्यान से देखा जाना जरूरी है। 

उन्होंने स्वास्थ्य अधिकारियों को यह भी निर्देश दिेये कि व्यापक व सघन प्रचार-प्रसार के माध्यम से दम्पत्ति सम्पर्क पखवाडा 10 जुलाई20 तक मनाया जाना वाला एंव सेवा प्रदायगी जनसंख्या स्थिरता पखवाडा 31 जुलाई मनाया जाने वाला इसमें जिसकी जो भूमिका है उसको पूरी जिम्मेदारी के अनुसार करना सुनिश्चिित करें। उन्होंने आरसीएच पोर्टल पीएमएमविवाई में महिलाओं व बच्चों के रजिस्टेशन के प्रतिशत पर कमी को बढाने के निर्देश स्वास्थ्य अधिकिारियों को दिये। उन्हेांने आरबीएसके, एनबीसीपी, पुनरीक्षित राष्ट्रीय क्षय रोग कार्यक्रम, एम0डी0आर/एक्स0डी0आर, राष्ट्रीय वैक्टर जनित रोग नियंत्रण कार्यक्रम, एच0आई0वी0/एड्स नियन्त्रण कार्यक्रम, राष्ट्रीय शहरी स्वास्थ्य मिशन, जैम पोर्टल, इन्फैक्सन प्रीरीवेशन ट्रैनिंग, कायाकल्प स्कोरर्स आदि सभी विन्दुओं पर गहनता से विचार विर्मश कर उपस्थित अधिकारियेां को आवश्यक दिशा निर्देश दिये।
इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी कामता प्रसाद सिंह, मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 विजय कुमार यादव, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक महिला डा0 आभा वर्मा, उप मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा0 एस के निगम, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी, जिला पंचायत राज अधिकारी के अलावा सभी उप मुख्य चिकित्साधिकारी तथा एमओआईसी मौजूद थे।

Send Your News to +919458002343 email to eradioindia@gmail.com for news publication to eradioindia.com