मेडिकल स्टोर पर बिक रहा था नशीला पदार्थ, मालिक गिरफ्तार, नशीली दवा जप्त

25

  • फाईज़ अली सैफी | eradioIndia

गाज़ियाबाद। लाॅकडाउन/जनता कर्फ्यू के अंतर्गत जहां पूरा देश बंद है, तो वहीं सरकार ने खाने-पीने का सामान और मेडिकल सुविधा समेत आदि की सेवाओं की छूट दी हुई है। इतना ही नहीं, कोविड-19(कोरोना वायरस) पूरे भारत में धीरे-धीरे अपने पैर पसार रहा है और लोगों को मौत के मुंह में ले जा रहा है, जिससे लड़ने के लिए पूरा भारत एकजुट होकर कोरोना वायरस कि इस संक्रमण साइकिल को तोड़ने में लगा हुआ है।
दरअसल, पूरे भारत में मेडिकल से संबंधित मेडिकल स्टोर और हॉस्पिटल आदि खुले हुए हैं, जिससे कि बीमार लोग मेडिकल कि सुविधा ले सकें और अपने स्वास्थ्य का ध्यान रख सके। गौरतलब है कि मुरादनगर थानाक्षेत्र की मलिकनगर कॉलोनी में स्थित एक मामला मैसर्स भारत नामक मेडिकल स्टोर से जुड़ा है, जिसमें नशेड़ीयों को नशीली दवाइयां बेचने का मामला सामने आया हैं।
आपको बता दें कि औषधि निरीक्षक गाजियाबाद अनुरोध कुमार और थाना मुरादनगर पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर देर रात्रि मालिकनगर स्थित मैसर्स भारत मेडिकल स्टोर से उसके मालिक इमरान पुत्र यूसुफ निवासी थाना मुरादनगर को गिरफ्तार किया हैं। आरोप है कि मेडिकल स्टोर का मालिक नशेड़ीयों को नशे की गोलियां और इंजेक्शन ऊंचे दामों पर बेचता है और अच्छा मुनाफा कमाता है।
वहीं, पुलिस को पकड़े गए अभियुक्त ने पूछताछ में बताया कि वह नशीली दवाइयां नशे का सेवन करने वाले नशेड़ीयों को ऊंचे दामों पर बेचकर अच्छा मुनाफा कमाता है। इतना ही नहीं, अभियुक्त ने बताया कि वह नशीली दवाइयों में गोलियां और इंजेक्शन बेचता है। पुलिस को इसके पास से सैकड़ों नशीली गोलियां और इंजेक्शन बरामद हुए हैं।
थाना मुरादनगर प्रभारी निरीक्षक ओमप्रकाश सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि पकड़ा गया अभियुक्त शातिर किस्म का व्यक्ति है, जोकि अपने मेडिकल स्टोर द्वारा नशेड़ीयों को नशीली गोलियां और इंजेक्शन ऊंचे दामों पर मुहैया कराता है। पुलिस ने इसके विरुद्ध मुकदमा दर्ज करके इसको जेल भेज दिया है।

Send Your News to +919458002343 email to eradioindia@gmail.com for news publication to eradioindia.com