Corona Virus Latest update in Hindi | कोरोना वायरस का कुरान में इलाज | Home Treatment of Corona Virus

Image result for corona virus

नई दिल्ली। कोरोनावायरस (Coronavirus) कई वायरस (विषाणु) प्रकारों का एक समूह है जो स्तनधारियों और पक्षियों में रोग के कारक होते हैं। यह आरएनए वायरस होते हैं। मानवों में यह श्वास तंत्र संक्रमण के कारण होते हैं, जो अधिकांश रूप से मध्यम गहनता के लेकिन कभी-कभी जानलेवा होते हैं। गाय और सूअर में यह अतिसार और मुर्गियों में यह ऊपरी श्वास तंत्र के रोग के कारण बनते हैं। इनकी रोकथाम के लिए कोई टीका (वैक्सीन) या वायररोधी (antiviral) अभी उपलब्ध नहीं है और उपचार के लिए प्राणी की अपने प्रतिरक्षा प्रणाली पर निर्भर करा जाता है और रोगलक्षणों (जैसे कि निर्जलीकरण या डीहाइड्रेशन, ज्वर, आदि) का उपचार करा जाता है ताकि संक्रमण से लड़ते हुए शरीर की शक्ति बनी रहे। हाल ही में WHO ने इसका नाम COVID-19 रखा।

चीन के वूहान शहर से उत्पन्न होने वाला 2019 नोवेल कोरोनावायरस इसी समूह के वायरसों का एक उदहारण है, जिसका संक्रमण सन् 2019-20 काल में तेज़ी से उभरकर 2019–20 वुहान कोरोना वायरस प्रकोप के रूप में फैलता जा रहा है।

आप इस वायरस की दहशत का अंदाजा इसी बात से लगा सकते हैं कि चीन के जिस डॉक्टर ने सबसे पहले इस वायरस की बात कही थी, उनकी मौत हो चुकी है। पूरा विश्व इस वक्त एक भयंकर बीमारी से जूझ रहा है। कोरोना वायरस नाम की ये महामारी धीरे-धीरे चीन के अलावा दूसरे देशों में भी फैल रही है।

सबसे डराने वाला फैक्ट तो ये है कि कोरोना वायरस का इलाज संभव नहीं है। दूसरा फैक्ट ये है कि इस महामारी को लेकर डब्लूएचओ (WHO) ने वैश्विक स्वास्थ्य आपातकाल की घोषणा की है। तीसरा फैक्ट ये है कि इस वायरस से संक्रमित होने वाले मरीजों की संख्या बढ़ती ही जा रही है। इस वायरस से विश्व में अबतक 28,00 लोगों की मौत हो चुकी है, जिनमें चीन के लोगों की तादाद ज्यादा है।

आप इस वायरस की दहशत का अंदाजा इसी बात से लगा सकते हैं कि चीन के जिस डॉक्टर ने सबसे पहले इस वायरस की बात कही थी, उनकी मौत हो चुकी है।

कोरोना वायरस क्या है? | What is Corona Virus

  • कोरोना वायरस को लेकर जो जानकारियां आ रहीं हैं, उनके मुताबिक, ये वायरस इंसान के शरीर में तब पहुंचता है, जब इंसान किसी जानवर के संपर्क में आता है।
  • दूसरी जानकारी ये भी है कि ये कोरोना वायरस अलग-अलग जानवरों में मौजूद है। मगर उन जानवरों ने अबतक इंसानों को संक्रमित नहीं किया है।
  • 7 जनवरी के दिन चीन प्रशासन ने इस वायरस को खोजा और कहा, “नावेल कोरोना वायरस पहले कभी इन्सानों के शरीर में नहीं पाया गया था।”
  • इस वायरस को ‘2019nCoV’ नाम दिया गया है। इस वायरस के बारे में डराने वाली बात ये है कि ये वायरस एक संक्रमित व्यक्ति के शरीर से दूसरे व्यक्ति के शरीर में तेजी से फैल सकता है।

कोरोना वायरस की उत्पत्ति कैसे हुई? 

  • दरअसल, ऐसा कहा जा रहा है कि कोरोना वायरस की उत्पत्ति चीन के वुहान शहर में स्थित एक समुद्री भोजन बाजार से हुई।
  • डब्लूएचओ (WHO) की राय है कि इस रोग की शुरूआत होने का कारण एक संक्रमित पशु हो सकता है और उसी के माध्यम से बीमारी दूसरे पशुओं और इंसानों तक फैल गई।
  • 7 फरवरी को चीन के शोधकर्ताओं ने कहा कि यह वायरस अवैध रूप से तस्करी वाले पशु “पैंगोलीन” के माध्यम से मानव शरीर तक फैला है।”
  • इस जीव को भोजन और चिकित्सा के लिए मारा जाता है। इसके आलावा कई वैज्ञानिक कोरोना वायरस का स्रोत चमगादड़ या सांप को मानते हैं।

दूसरे देशों में तेजी से फैल रहा है ये वायरस

1- कोरोना वायरस चीन के अलावा दूसरे देशों को भी अपने कहर के जद में ले रहा है। पूरे विश्व से अबतक 82 हजार मामले सामने आ चुके हैं।
2- एशिया महाद्वीप के देश साउथ कोरिया में इस वायरस के 1700 मामले सामने आए हैं। वहीं, 11 यूरोपीय देशों ने इस वायरस के उनके देश तक पहुंचने की पुष्टि की है।

Send Your News to +919458002343 email to eradioindia@gmail.com for news publication to eradioindia.com



email: eradioindia@gmail.com || info@eradioindia.com || 09458002343

अगर आप भी अपना समाचार/ आलेख/ वीडियो समाचार पब्लिश कराना चाहते हैं या आप लिखने के शौकीन हैं तो आप eRadioIndia को सीधे भेज सकते हैं। इसके अलावा आप फेसबुक पर हमें लाइक कर सकते हैं और टि्वटर पर फॉलो कर सकते हैं। मेरी वीडियोस के नोटिफिकेशन पाने के लिए आप यूट्यूब पर हमें सब्सक्राइब करें। किसी भी सोशल मीडिया पर हमें देखने के लिए टाइप करें कि eRadioIndia.

https://eradioindia.com/work-with-us/
Don't wait just take initiation

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *