सुप्रीम कोर्ट के अधिवक्ता नेमिनाथ चतुर्वेदी को पितृशोक

चतुर्वेदी जी ने बताया कि उनका घुटना खराब था एवं प्रोस्टेट से जूझ रहे थे।

541
सुप्रीम कोर्ट के अधिवक्ता नेमिनाथ चतुर्वेदी को पितृशोक
सुप्रीम कोर्ट के अधिवक्ता नेमिनाथ चतुर्वेदी को पितृशोक
  • रेखा पांडे || नई दिल्ली

सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ अधिवक्ता एवं ब्राह्मण समाज ऑफ इंडिया के केंद्रीय संगठन मंत्री नेमिनाथ चतुर्वेदी जी के पिता हीरालाल चतुर्वेदी का देहावसान हो गया। उनकी उम्र तकरीबन 86 साल थी और वो 3 साल से बिस्तर पर थे। चतुर्वेदी जी ने बताया कि उनका घुटना खराब था एवं प्रोस्टेट से जूझ रहे थे।

परिचितों में शोक की लहर है एवं लोगों ने हीरालाल चतुर्वेदी की मौत पर उनकी आत्मा को शांति प्रदान करने हेतु शोक संदेश भेजा है।

हीरालाल चतुर्वेदी समाज के प्रतिष्ठित व्यक्ति थे और लोगों के सुख-दुख में बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया करते थे। उनकी मौत पर समाज में शोक की लहर है। नेमिनाथ ने बताया कि उनको उनके पिता से पूरा सहयोग मिला और पिछले तीन वर्षों से बिस्तर पर पड़े रहने के बावजूद वो परिवार को खुश रहने में परोध रूप से अपना योगदान देते थे।