DM Meerut IAS K.Balaji ने गौशाला का किया औचक निरीक्षण

42
DM Meerut IAS K.Balaji ने गौशाला का किया औचक निरक्षण किया
  • मनोज मिश्र || मेरठ

DM Meerut IAS K.Balaji ने आज नगर निगम मेरठ द्वारा संचालित कान्हा उपवन गौशाला परतापुर का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उनके संज्ञान में आया कि कान्हा उपवन गौशाला में करीब 450 गौवंष संरक्षित है। उन्होने नगर निगम के अधिकारियों से कहा कि वह शहर में निराश्रित गौवंषों को संरक्षित करने हेतु आवष्यकतानुसार शेडो का निर्माण कराये तथा बजट आवंटन से पूर्व से निर्मित शेडो में ही 02 खोरो का निर्माण भी किया जाये ताकि निराश्रित गौवंशों को संरक्षित किया जा सके।

DM Meerut IAS K.Balaji ने गोबर को निस्तारण के लिए भी कहा। जिलाधिकारी पषुओ को ठंड से बचाने हेतु नगर निगम व पषुपालन विभाग द्वारा की गयी व्यवस्था से संतुष्टी व्यक्त की।

सहायक नगरायुक्त ब्रजपाल सिंह ने बताया कि नगर निगम मेरठ द्वारा अतिरिक्त शेडो के निर्माण हेतु शासन से रू0 02 करोड की मांग की गयी है। जिलाधिकारी ने कहा कि जब तक शासन से धनराषि प्राप्त नहीं हो जाती है तब तक पूर्व से निर्मित शेडो में ही 02 खोरो का निर्माण किया जाये। इस अवसर पर मुख्य पषु चिकित्सा अधिकारी डा0 अनिल कंसल, सहायक नगरायुक्त ब्रजपाल सिंह सहित अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे।

DM Meerut IAS K.Balaji ने पुलिस लाईन में निर्माणाधीन ट्रांजिट हास्टल का निरीक्षण                                                                                 

DM Meerut IAS K.Balaji ने आज पुलिस लाईन में निर्माणाधीन ट्रांजिट हास्टल का निरीक्षण किया। जिलाधिकारी ने कहा कि निर्माण कार्यों में गुणवत्ता व समयबद्धता का विषेष ध्यान रखा जाये।

कार्यदायीं संस्था उ0प्र0 राजकीय निर्माण निगम के सहायक अभियंता प्रत्युष सिंह ने बताया कि ट्रांजिट हाॅस्टल करीब रू0 47 करोड की लागत से बनाया जा रहा है, जी़ 12 के 04 ब्लाॅक है। एक ब्लाॅक में 48 फ्लैटो का निर्माण किया जा रहा है। इस प्रकार कुल 192 फ्लैटो का निर्माण किया जा रहा है। उन्होने बताया कि ट्रांजिट हाॅस्टल करीब 07 हजार वर्ग मीटर में बनाया जा रहा है। उन्होने बताया कि ट्रांजिट हाॅस्टल का निर्माण दिसम्बर 2020 से प्रारंभ हुआ तथा इसको दिसम्बर 2022 तक पूरा करने का लक्ष्य है।

इस अवसर पर सहायक अभियंता उ0प्र0 राजकीय निर्माण निगम प्रत्युष सिंह सहित अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे।