Sultanpur Panchayat Election: भाजपा विधायक नहीं दे पाए वोट, कई जगह चली गोली

217
UP Panchayat Chunav 2021 Update
UP Panchayat Chunav 2021 Update

Sultanpur Panchayat Election: सुल्तानपुर में त्रिस्तरीय पंचायत चुनावों में छिटपुट घटनाओं के बीच मतदान सम्पन्न हुआ। ग्राम पंचायतों में मतदान के बाद प्रत्याशियों ने अब राहत की सांस जरूर ली होगी। लेकिन आने वाले समय में काउंटिंग के समय कितना कौन मजबूत निकलेगा यह तो समय ही बताएगा।

लंभुआ के विधायक का नाम मतदाता सूची में ही नहीं 

मतदाता सूची में गड़बड़ी की शिकायतें बनीं रहीं, ऐसे में भाजपा के विधायक भी इस खेल का भुक्तभोगी होने से खुद को नहीं रोक पाए। लंभुआ के भाजपा विधायक देवमणि द्विवेदी का भी नाम मतदाता सूची में नहीं था। ऐसे में विधायक को बिना वोट दिए वापस लौटना पड़ा।

लंभुआ विधायक देवमणि द्विवेदी अपने गांव सूर्यभान पट्टी के बूथ पर अपनी पत्नी रेखा द्विवेदी के साथ मतदान करने गए थे लेकिन पता चला कि उनके वार्ड के मतदाताओं को करीब तीन किलोमीटर दूर ककराही बूथ से जोड़ दिया गया है। ककराही पहुंचने पर देवमणि को पता चला कि मतदाता सूची में उनका नाम ही नहीं है। उन्होंने इसकी शिकायत एसडीएम से की है। हालांकि उनकी पत्नी का नाम वोटर लिस्ट में शामिल था।

Sultanpur Panchayat Election: चाचा-भतीजे को गोली मारकर किया घायल  

सुलतानुपर जिले के रामापुर भटकौली बूथ पर नाबालिग को वोट दिलाने का विरोध करने पर हमलावरों ने चाचा-भतीजे को गोली मारकर घायल कर दिया। दोनों को गम्भीर हालत में जिला अस्पताल लाया गया। जहां पर भतीजे की हालत चिंताजनक होने पर चाचा को प्राथमिक उपचार के बाद केजीएमयू ट्रामा सेंटर लखनऊ के लिए रेफर कर दिया। भतीजे का अस्पताल में इलाज चल रहा है। 

कूरेभार थाना क्षेत्र के रामापुर भटकौली गांव में  प्रधानी की सीट पिछड़ा वर्ग होने के कारण महेश सिंह और अवधेश सिंह ने अपने-अपने चहेतों को  ग्राम पंचायत प्रधान  चुनाव मैदान में उतारा था। सोमवार को मतदान केन्द्र पर  दोपहर लगभग दो बजे एक नाबालिग बूथ पर वोट देने पहुंच गया। इस पर रामापुर गांव के  अवधेश सिंह (40)पुत्र रामअजाद सिंह व उनके भतीजे विश्वजीत सिंह (25)पुत्र वीरेन्द्र सिंह ने विरोध किया।

बात इतनी बढ़ गई कि  दूसरे पक्ष ने हमलावर होकर अवधेश के गले के बगल सीने में और विश्वजीत के पैर में गोली मार दी। फायरिंग के बाद बूथ पर भगदड़ मच गई। घायल जमीन पर गिर गए। हमलावर वहां से फरार हो गए। 

दोनों घायलों को आनन-फानन में जिला अस्पताल में लाया गया। जहां पर ईएमओ डॉ.दीपक मिश्र व सर्जन डॉ.रमेश कुमार ने दोनों घायलों को देखा। चिकित्सकों ने अवधेश के गले के बगल सीने में गोली लगने के कारण उन्हें केजीएमूय ट्रामा सेंटर लखनऊ रेफर कर दिया। भतीजे को पैर में गोली लगने के कारण उन्हें जिला अस्पताल में भर्ती कर इलाज इलाज किया जा रहा है।

1 COMMENT

Comments are closed.