केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने किया अखिलेश यादव और समाजवादी पार्टी पर जोरदार हमला

लखनऊ। भारतीय जनता पार्टी ने विधानसभा चुनाव प्रचार के लिए शुरू किये प्लेकार्ड प्रचार अभियान के तहत रविवार को प्रदेश मंत्री अर्चना मिश्रा, महापौर संयुक्ता भाटिया, अर्पणा यादव, रायबरेली से विधायक अदिति सिंह और प्रियंका मौर्या ने लालबाग स्थित शर्मा टी स्टाल के पास पहुंचकर प्रचार किया। अपने हाथों में अलग-अलग प्लेकार्ड (तख्तियां) लेकर सभी ने भाजपा सरकार की उपलब्धियों को बताते हुए एक बार फिर से भाजपा सरकार बनाने की अपील की। कोविड प्रोटोकाल का पालन करते हुए किये गए प्रचार के दौरान प्लेकार्ड पर बहु-बेटी को सुरक्षा और अधिकार-यूपी फिर मांगे भाजपा सरकार, बेहतर सुरक्षा कानून व्यवस्था में सुधार-यूपी फिर मांगे भाजपा सरकार, बिना भेदभाव भर्ती रोजगार-यूपी फिर मांगे भाजपा सरकार, गरीबों को पक्के मकान का सपना साकार-यूपी फिर मांगे भाजपा सरकार और मुफ्त राशन गरीबों के द्वार-यूपी फिर मांगे भाजपा सरकार लिखा हुआ था।

इस अवसर पर केन्द्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि ‘ये नई सपा नहीं, ये वही सपा है, जिससे जनता पूरी तरह खफा है। 10 मार्च को सपा प्रमुख अखिलेश कहेंगे कि अबकी फिर ईवीएम बेवफ़ा है‘। उन्होंने कहा कि सपा सरकार में बिजली के तार कपड़े सुखाने के काम आते थे। एक माह में 300 घंटे भी बिजली मिलना जिसके कार्यकाल में मुश्किल था, वो 300 यूनिट फ्री बिजली देने की बात कहते हैं तो संदेह होता है। जिन्होंने प्रदेश को गुण्डाराज, भ्रष्टाचार और दंगाराज दिया उन पर जनता कैसे भरोसा कर सकती है।

Advertisement

उन्होंने कहा कि सपा गठबंधन की पहली सूची देखे तो जिनको इन्होंने टिकट देकर उतारा है ये सपा के उम्मीदवार नहीं जनता की उम्मीदों पर वार करने वाले लोग हैं। इनमें कोई जेल में है तो कोई बेल पर है। छिप-छिप कर टिकट देने वाली सपा सरकार के कार्यकाल में बहु-बेटी असुरक्षित महसूस करती थी आज योगी सरकार में पिछले पांच सालों में महिला और बेटियों की सुरक्षा प्राथमिकता रही है। यही कारण है कि अपर्णा यादव, अदिति सिंह और प्रियंका मौर्या ने बीजेपी को चुना। प्रदेश की बहू-बेटियां खुद को बीजेपी में ही सुरक्षित महसूस करती हैं।

उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी जनता से झूठे वायदे कर रही हैं। 300 यूनिट फ्री बिजली के झूठे वादे सपा कर रही है। योगी सरकार ने डेढ़ करोड़ बिजली कनेक्शन, किसानों के बिजली बिल को माफ करने का कार्य किया है, जो 70 सालों में बीएसपी, कांग्रेस, समाजवादी पार्टी ने नहीं किया। समाजवादी गठबंधन की सूची में ज्यादातर जेल वाले हैं या बेल वाले हैं, इनकी सूची के उम्मीदवार नहीं बल्कि जनता की उम्मीदों पर वार करने वाले हैं।

अनुराग ठाकुर ने कहा कि विधानसभा चुनाव 2022 में जनता अपना बहुमूल्य वोट बीजेपी को देगी। यह जनता वाकियों को नकारते हुए बीजेपी को एक बार फिर से स्वीकार करेगी। यूपी की आधी आबादी मातृशक्ति योगी सरकार में खुद को सुरक्षित महसूस करती है। भारतीय जनता पार्टी सबका साथ-सबका विकास-सबका विश्वास-सबका प्रयास की नीति पर चलने वाली सरकार है। बीजेपी धर्म, जाति, मजहब के आधार पर नहीं बल्कि राष्ट्र को आगे बढ़ाने, विकास और तरक्की की राजनीति करने वाली पार्टी है। यही कारण है कि 46 लाख मकान, डेढ़ करोड़ निशुल्क बिजली का कनेक्शन, 3 करोड़ से अधिक शौचालय और 15 करोड़ डबल डोज मुफ्त राशन सभी जाति मजहब के लोगों को दिया गया। वहीं विपक्ष लगातार अपने जातीय समीकरण और तुच्छ राजनीति से जनता को बहकाने और बरगलाने की कोशिश कर रही है। इस कोशिश में वह पूरे तौर पर साल 2017 में भी नाकाम रही वैसे ही साल 2022 के चुनावी नतीजों में भी समाजवादी पार्टी को जनता पूर्ण रूप से नकार देगी।

इनकम फ्रॉम टेरर है असली सपा का चेहरा

समाजवादी पार्टी पर अनुराग ठाकुर ने हमला बोलते हुए कहा कि इनकी आईटी सेल इनकम फ्रॉम टेरर है। जिसमें अतीक, यूनुस खान और नाहिद हसन जैसे गुंडे और दंगाई है। जिनकी वजह से उद्योगपतियों, व्यापारियों और आम लोगों को पलायन करना पड़ जाता था। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश में माफिया, गुंडे, दंगाइयों पर न सिर्फ बुलडोजर चलाया बल्कि प्रदेश वासियों को सुरक्षा का चक्र भी दिया, जिसके कारण यूपी में निवेश, यूपी में रोजगार, महिलाओं की सुरक्षा, महिलाओं का सम्मान, किसानों और युवाओं के चेहरों पर मुस्कान खिल सके। यूपी को सुरक्षित प्रदेश बनाने के कारण ही आज यूपी अर्थव्यवस्था के पैमाने पर दूसरे पायदान पर काबिज है।

अपर्णा यादव, रायबरेली से भाजपा उम्मीदवार अदिति सिंह, प्रदेश मंत्री अर्चना मिश्रा, महापौर संयुक्ता भाटिया और प्रियंका मौर्य ने कहा कि उत्तर प्रदेश में सपा-बसपा के कुशासन का अन्त हो चुका है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में राज्य में गांव, गरीब, मजदूर, किसान, नौजवान सहित समाज के सभी वर्गाो का विकास हुआ है।