kkkkkj

एंटोनियो गुटेरेस बोले, रुस को जलवायु परिवर्तन में हिस्सेदारी बढ़ाने की जरुरत

0 minutes, 0 seconds Read

मॉस्को, एजेंसी। संयुक्त राष्ट्र प्रमुख एंटोनियो गुटेरेस ने रूस से जलवायु परिवर्तन से निपटने के लिए वैश्विक प्रयास में अपनी भूमिका को प्रभावी ढंग से निभाने की अपील करते हुए स्वीकार किया कि रूस की कार्बन-निर्भर अर्थव्यवस्था को इसे फिर से हासिल करना कठिन होगा। गुटेरेस ने रूसी विदेश मंत्रालय की डिप्लोमैटिक एकेडमी की डिप्लोमैटिक सर्विस एंड प्रैक्टिस पत्रिका के जुलाई अंक के लेख में इस आशय की बात कही है।

उन्होंने तेजी से जलवायु परिवर्तन, बढ़ते प्रदूषण और जैव विविधता के पतन को रोकने के लिए रूस की प्रतिबद्धता का स्वागत किया, लेकिन यह भी कहा कि पृथ्वी के इस आपातकाल से निपटने के लिए और अधिक किया जाना चाहिए। जुलाई में प्रकाशित होने वाले लेख में उन्होंने लिखा,“रूस की अर्थव्यवस्था की वर्तमान संरचना और उसके ऊर्जा मिश्रण से उत्पन्न कठिनाइयों को पहचानते हुए, हम हरित, टिकाऊ ऊर्जा में बदलाव में अपनी पूरी भूमिका निभाने के लिए रूस की ओर देखते हैं।”

श्री गुटेरेस ने कहा कि ग्लोबल वार्मिंग को 1.5 डिग्री सेल्सियस तक सीमित करने के लिए सरकारों, कंपनियों और स्थानीय अधिकारियों को कोयले को चरणबद्ध तरीके से समाप्त करने और शुद्ध शून्य उत्सर्जन तक पहुंचने के लिए मिलकर काम करने की जरूरत है।साथ ही दुनिया के सबसे बड़े उत्सर्जकों को इसका नेतृत्व करना चाहिए।

संरा प्रमुख ने कहा,“73 प्रतिशत उत्सर्जन का प्रतिनिधित्व करने वाले देशों ने सदी के मध्य तक शुद्ध शून्य उत्सर्जन के लिए प्रतिबद्धता की है। लेकिन हमें सभी देशों, सभी शहरों और सभी कंपनियों को शमन अंतर को बंद करने के लिए और अधिक करने की आवश्यकता है। मैं सभी के मिलकर काम करने पर जोर दे रहा हूं नवंबर में अगले संयुक्त राष्ट्र जलवायु सम्मेलन, सीओपी26 के समय तक कम से कम 90 प्रतिशत उत्सर्जन को कवर करें।”

author

News Desk

आप अपनी खबरें न्यूज डेस्क को eradioindia@gmail.com पर भेज सकते हैं। खबरें भेजने के बाद आप हमें 9808899381 पर सूचित अवश्य कर दें।

Similar Posts

error: Copyright: mail me to info@eradioindia.com