होम देश उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले संगठन की कमजोर कड़ियां बदलेगी भाजपा

विधानसभा चुनाव से पहले संगठन की कमजोर कड़ियां बदलेगी भाजपा

CM UP Yogi adityanath eradio india
  • लखनऊ

उत्तर प्रदेश में अब तक लगातार चुनावों में मिल रही जीत के बावजूद भारतीय जनता पार्टी 2022 की चुनावी जंग से पहले अपने विजय-रथ को अच्छे से देख-टटोल लेना चाहती है। पार्टी ने तय किया है कि चुनाव से पहले कमजोर कड़ियों को बदल दिया जाएगा। राजनीतिक प्रस्ताव के लिए केंद्र और प्रदेश सरकार की कल्याणकारी योजनाओं व टीकाकरण पर विशेष ध्यान जैसे सुझाव हैं तो संगठन की मजबूती के लिए मंडल, बूथ और शक्ति केंद्रों तक आपरेशन की तैयारी है।

भाजपा प्रदेश कार्यसमिति की बैठक शुक्रवार को होने जा रही है। उससे पहले गुरुवार शाम को पार्टी के प्रदेश मुख्यालय में प्रदेश पदाधिकारियों की बैठक हुई। इसमें आगामी कार्यक्रम और अभियानों के साथ ही राजनीतिक प्रस्ताव के लिए सुझाव लिए गए। मंच पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, प्रदेश प्रभारी राधा मोहन सिंह, प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह, प्रदेश महामंत्री संगठन सुनील बंसल और उपमुख्यमंत्री डा. दिनेश शर्मा थे।

सूत्रों ने बताया कि सबसे अधिक जोर टीकाकरण को तेज करने पर ही रहा। भाजपा इसके लिए अभियान चला रही है, जिसे और बढ़ाया जाएगा। साथ ही सेवा ही संगठन अभियान के जरिये जनता तक केंद्र और प्रदेश सरकार की कल्याणकारी योजनाओं को पहुंचाना है। आगामी कार्यक्रमों में स्वास्थ्य स्वयंसेवकों के जरिये कोरोना संक्रमण से जनता के बचाव का अभियान प्रमुख रहेगा।

इसके साथ ही रणनीति में संगठन को और चुस्त-दुरुस्त करने की बात कही गई है। तय हुआ है कि सभी बूथ समितियों का सत्यापन 25 सितंबर तक किया जाना है। अपडेट सूची इसी अवधि में प्रदेश मुख्यालय को भेजनी होगी। मतदान स्थलों को भाजपा ने शक्ति केंद्र के रूप में संगठन की निचली इकाई बनाया है। निर्देश दिए गए हैं कि समीक्षा कर यदि शक्ति केंद्रों के प्रभारी और संयोजक बदलने हों तो जल्द बदल डालें। निष्क्रिय मंडल अध्यक्ष व प्रभारी भी बदले जाएंगे।

बूथ और मंडल कमेटियों के कुछ पदाधिकारियों की मृत्यु कोरोना संक्रमण की वजह से हो गई। कुछ पदाधिकारी पंचायत चुनाव में प्रधान, बीडीसी, जिला पंचायत अध्यक्ष या ब्लाक प्रमुख बन चुके हैं। उनके स्थान पर नए पदाधिकारी बनाए जाने हैं। भाजपा मानती है कि पंचायत चुनाव में बड़ी संख्या में निर्दलीय विजेता सदस्य उसके साथ आए हैं। उन्हें पार्टी की रीति-नीति के साथ जोड़कर मिशन-2022 में लगाना है।

सूत्रों ने बताया कि जल्द ही सभी नवनिर्वाचित जिला पंचायत अध्यक्ष व ब्लाक प्रमुखों को लखनऊ बुलाकर सामूहिक सम्मान समारोह, जबकि क्षेत्र पंचायत सदस्य और ग्राम प्रधानों का सम्मान ब्लाक स्तर पर कराने का सुझाव आया है। जनसंख्या नियंत्रण कानून भी होगा मुद्दा : बैठक के दौरान तमाम पदाधिकारियों ने सुझाव दिया कि जनसंख्या नियंत्रण कानून सरकार का अच्छा कदम है।

अभी जो मसौदा बनाया है, उस पर कानून बनाया जाना चाहिए। ऐसे में संकेत साफ हैं कि इसे जल्द अंतिम रूप दिया जाएगा। इसे कार्यकर्ता चुनावी मुद्दे के रूप में इस्तेमाल कर सकते हैं। नड्डा करेंगे प्रदेश कार्यसमिति का वर्चुअल उद्घाटन : भाजपा प्रदेश कार्यसमिति की बैठक शुक्रवार को प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह की अध्यक्षता में होगी। वर्चुअल उद्घाटन राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा सुबह 11.30 बजे करेंगे।

प्रदेश महामंत्री जेपीएस राठौर ने बताया कि राष्ट्रीय अध्यक्ष के साथ दिल्ली के मंच से केंद्रीय मंत्री डा. महेंद्र नाथ पांडेय, स्मृति ईरानी, राष्ट्रीय महामंत्री अरुण सिंह जुड़ेंगे। प्रदेश मुख्यालय में मुख्यमंत्री, प्रदेश प्रभारी, प्रदेश अध्यक्ष, दोनों उपमुख्यमंत्री, प्रदेश महामंत्री संगठन सहित पार्टी के प्रदेश पदाधिकारी, क्षेत्रीय अध्यक्ष, मोर्चों के अध्यक्ष शामिल होंगे। बैठक चार सत्रों में होगी। उद्घाटन सत्र को राष्ट्रीय अध्यक्ष संबोधित करेंगे। दूसरे सत्र में शोक प्रस्ताव व राजनीतिक प्रस्ताव आएगा। तीसरे सत्र में आगामी कार्यक्रमों-अभियानों और चुनावी रणनीति पर चर्चा होगी। समापन सत्र को मुख्यमंत्री संबोधित करेंगे।

error: Copyright: mail me to info@eradioindia.com
%d bloggers like this: