विकासवाद से चल रही है यूपी सरकार, वंशवाद कर रहा विपक्ष: मोदी

34
PM Fasal Beema Yojana के 5 वर्ष पूर्ण, मोदी ने दी बधाई
PM Fasal Beema Yojana के 5 वर्ष पूर्ण, मोदी ने दी बधाई

वाराणसी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गत सात वर्षों की विकास योजनाओं को ‘आत्मनिर्भर भारत’ के निर्माण का आधार बताते हुए गुरुवार को यहां कहा कि उत्तर प्रदेश में सरकार भ्रष्टाचार व भाई-भतीजावाद से नहीं, बल्कि विकासवाद से चल रही है।

उन्होंने अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में पर्यटन, स्वास्थ्य, यातायात एवं बुनियादी सुविधाओं से जुड़ी 1583 करोड़ की विकास योजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया। बीएचयू में आयोजित जनसभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि ये सभी कार्य बाबा विश्वनाथ की के आशीर्वाद से संपन्न हो रहे हैं।

काशी की जनता के सहयोग और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की कड़ी मेहनत के कारण लगातार विकास के कार्य हो रहे हैं। मोदी ने कोरोना को गत 100 वर्ष की सबसे बड़ी महामारी बताते हुए कहा कि दुनिया के कई देशों से अधिक आबादी वाले उत्तर प्रदेश ने इस संकट से मजबूती से मुकाबला किया। इसके लिए स्वास्थ्य एवं अन्य कोरोना योद्धाओं ने अपने जीवन पर खेल कर हम सब की रक्षा की।

काशी वासियों ने इस संकट की घड़ी में एक दूसरे की मदद की। यह बहुत ही सराहनीय है। प्रधानमंत्री ने कहा उत्तर प्रदेश में सड़क, स्वास्थ्य, रेल, बिजली, कृषि समेत हर क्षेत्र में लगातार विकास हो रहे हैं। डिफेंस कॉरिडोर, पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे, बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे से रोजगार सृजन की व्यवस्था को मजबूत करने के साथ ही इसके आसपास के गांव वासियों का जीवन आसान होगा।

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में योगी के नेतृत्व में कानून व्यवस्था में बड़ा बदलाव आया है। बहन-बेटियों की सुरक्षा का ख्याल रखा जा रहा है। अपराधियों को पता है कि अब उनके साथ क्या होगा। भ्रष्टाचार मुक्त व्यवस्था के कारण दुनियाभर के निवेशक आत्मनिर्भर भारत के यज्ञ में साथ हो रहे हैं। वे राज्य में निवेश कर रहे हैं। इससे आने वाले समय में बड़ी संख्या में लोगों को रोजगार मिलेगा।

मोदी ने जिन परियोजनाओं का लोकार्पण किया उनमें गोदौलिया चौराहे पर पहली मल्टीलेवल पार्किंग, बीएचयू अस्पताल में 100 बिस्तरों का मातृत्व एवं शिशु शाखा, वाराणसी-गाजीपुर सड़क पर तीन लेन का फ्लाईओवर पुल, बीएचयू परिसर में शिक्षकों के लिए कई आवासीय भवन, क्षेत्रीय नेत्र चिकित्सालय, पर्यटन विकास के लिए गंगा में यातायात के लिए रो-रो सेवा समेत 744 करोड़ रुपये की विकास परियोजनाएं शामिल हैं।

उन्होंने 839 करोड़ रुपये की परियोजनाओं का शिलान्यास किया। उनमें बीएचयू में सेंटर फॉर स्किल्स एंड टेक्निकल स्पोर्ट ऑफ सेंट्रल इंस्टीट्यूट ऑफ प्रो-केमिकल इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी (सीआईपीईटी), जल मिशन योजना के तहत ग्रामीण क्षेत्रों की 143 परियोजना, करखियांव में आम एवं सब्जी के लिए इंटीग्रेटेड पैक हाउस का शिलान्यास योजनाएं में शामिल है।

इस अवसर पर उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, योगी आदित्यनाथ, प्रदेश के राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार डॉ0 नीलकंठ तिवारी, रवींद्र जायसवाल समेत अन्य जनप्रतिनिधि मौजूद थे। कोविड दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए जनसभा में करीब 5000 लोगों के बैठने की व्यवस्था की गई थी।