बदनामी की वजह से भाई ने बहन को मौत के घाट उतारा

  • सरधना ,मेरठ

आन की खातिर अपनों का खून बहाने का सिलसिला रुक नहीं रहा है। प्रेम संबंधों का पता चलने पर छोटे भाई ने तमंचे से गोली मारकर बहन की हत्या कर दी। मोहल्ला इस्लामाबाद में हुई वारदात के बाद आरोपित थाने जाने लगा लेकिन पुलिस ने उसे तमंचे सहित गिरफ्तार कर लिया।

आरोपित को कोर्ट में पेश किया, जहां से जेल भेज दिया गया। मोहल्ला इस्लामाबाद निवासी 23 वर्षीय समरीन पुत्री आरिफ का मोहल्ले के युवक से प्रेम-प्रसंग था। करीब आठ दिन पहले समरीन के छोटे भाई आरिश ने उसका मोबाइल देखा तो उसके प्रेम संबंधों का पता चला।

Advertisement

उसने बहन को काफी समझाया लेकिन वह मानने को तैयार नहीं थी। मोहल्ले के लोग भी इसे लेकर सवाल-जवाब करने लगे थे। इसके चलते आरिश खामोश रहने लगा। बुधवार देर रात आरिश ने समरीना के सिर के पास तमंचे से गोली मार दी।

वारदात के बाद आरोपित तमंचा लेकर थाने जाने लगा। इसी दौरान सरधना-बिनौली रोड पर गश्त कर रही पुलिस आरोपित को पकड़कर थाने ले आई। आरोपित ने पुलिस को बताया कि दो साल पहले उसने अपने दोस्त साकिब से तमंचा खरीदा था, जिसका शव नवाबगढ़ी और नगला आर्डर रोड के बीच मिला था।

पुलिस व फारेंसिक टीम मौके पर पहुंची। घायल युवती को सीएचसी में भर्ती कराया, जहां से गंभीर हालत में मेडिकल कालेज मेरठ रेफर कर दिया। गुरुवार सुबह उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई।

आरोपित आरिश बागपत-बिनौली रोड पर बाइक मरम्मत का काम करता था। बकौल आरिश, वह अपनी बहन से बहुत प्यार करता था। उसे मजबूरन यह कदम उठाना पड़ा, क्योंकि लोग इन संबंधों को लेकर सवाल करने लगे थे। इस कारण उसको बदनामी महसूस हो रही थी।

मोहल्ले वालों के मुताबिक, नसीमा उर्फ शन्नो का निकाह रोहटा के मोहम्मदपुर निवासी आरिफ से हुआ था। इसके बाद बच्चे समरीन व आरिश हुए थे। बाद में नसीमा ने आरिफ को तलाक देकर मेरठ के श्यामनगर निवासी आरिफ से शादी की थी।

आरिफ फलों का ठेला लगाता है। नसीमा अपने बच्चों संग मायके में ही रह रही थी। सीओ सरधना आरपी शाही ने बताया कि मामला आनर किलिंग का है। प्रेम-प्रसंग के चलते आरोपित ने अपनी बहन की गोली मारकर हत्या की है। आरोपित को गिरफ्तार कर लिया गया है। जांच की जा रही है।