ध्यान क्या है? || ध्यान का क्या अर्थ है? || What is Meditation?

186
ध्यान क्या है? || ध्यान का क्या अर्थ है? || What is Meditation?
ध्यान क्या है? || ध्यान का क्या अर्थ है? || What is Meditation?

ध्यान क्या है? || ध्यान का क्या अर्थ है? || What is Meditation?

ध्यान का अर्थ है: समर्पण।

ध्यान का अर्थ है:

अपने को पूरी तरह छोड़ देना परमात्मा के हाथों  में।

ध्यान कोई क्रिया नहीं है, जो आपको करनी है।

ध्यान का अर्थ है: कुछ भी नहीं करना है और छोड़ देना है उसके हाथों में,

जो कि सचमुच ही हमें सम्हाले हुए है।

ध्यान के लिए पहली बात तो स्मरण रखना: समर्पण, सरेंडर, टोटल सरेंडर।

जिसने अपने को थोडा भी पकड़ा वह ध्यान में नहीं जा सकेगा ;

क्योंकि अपने को पकड़ना यानी रुक जाना अपने तक

और छोड़ देना यानी पहुंच जाना उस तक,

जहां छोड़ कर हम पहुंच ही जाते हैं।

ध्यान में जाने के लिए तीन सीढियां है:

पहला सीढ़ी है: बहने का अनुभव:-

—————————————

बहने का मतलब है, नदी में तैरना नहीं बहना, नदी के साथ एक हो जाना है| नदी जहां ले जाए वहीं हमारी मंजिल है। तब फिर नदी से कोई दुश्मनी नहीं रह जाती है।

समर्पण का पहला अर्थ है: इस जीवन के साथ हमारी कोई दुश्मनी न रह जाए। इस जीवन के साथ हम बह सकें, तैरें न।

दूसरी सीढ़ी: मरने का, मृत्यु का, मिट जाने का।

——————————————-

जैसे कोई बीज मिटता है तो फिर अंकुर हो जाता है। जैसे कोई कली मिटतीं है तो फूल हो जाती है। जब कुछ मिटता है, तभी कुछ हो पाता है। जब हम आदमी की तरह मिटेंगे, तभी हम परमात्मा की तरह हो पाएंगे। जन्म की पहली कड़ी मृत्यु है। और जो मरना नहीं सीख पाता, मिटना नहीं सीख पाता, वह कभी भी उस विराट तक नहीं पहुंच पाता, जहां तक पहुंचने में सब कुछ छुट जाना जरूरी है|

तीसरी सीढ़ी है: तथाता

——————————-

तथाता का अर्थ है: चीजें जैसी हैं वैसी हैं। हमे उनसे कोई विरोध नहीं। पक्षी आवाज कर रहें, कर रहे हैं। धूप गरम है, है। हवाएं चलती हैं और ठंड मालूम पडती है, मालूम पडती है। जिंदगी जैसी है वैसी हमें स्वीकार है। न हम उसमें कोई बदल करना चाहते हैं, न कोई हेर – फेर करना चाहते हैं। हमारा कोई विरोध नहीं, हमारी कोई अस्वीकृति नहीं।

तथाता का अर्थ है: परिपूर्ण राजी हो जाना, टोटल एक्सेप्टेबिलिटी।

परमात्मा को जानना है अगर, तो जीवन को पूरी तरह स्वीकार करके ही जान सकेंगे।

तथता, सब स्वीकार।

इन तीनों सीढ़ियों को पार कर ध्यान में प्रवेश होता है।

amazone advt

ओशो की जीवन बदल देने वाली किताबें खरीदने के लिये यहां क्लिक करें-

osho booksa