मेरठ महायोजना की विसंगतियों को दूर करने को सांसद ने दिए सुझाव

मेरठ,मेरठ महायोजना 2031 के प्रारूप में विसंगतियों को दूर करने के लिए सांसद राजेंद्र अग्रवाल ने एमडीए अध्यक्ष को पत्र लिखा है। सांसद ने महायोजना में विसंगतियों को दूर करने के लिए बिंदुवार सुझाव भी दिए गए हैं। सांसद राजेंद्र अग्रवाल ने एमडीए अध्यक्ष और आयुक्त सुरेंद्र सिंह को मेरठ महायोजना 2031 के प्रारूप के बारे में पत्र लिखा है।

सांसद ने कहा कि मेरठ महायोजना के प्रारूप पर मेरठ सिटीजन फोरम द्वारा मेरठ के विभिन्न क्षेत्रों के प्रमुख व्यक्तियों की विमर्श बैठक चर्चा हुई। चर्चा के बाद मेरठ महायोजना में कई विसंगतियां सामने आई है। इन विसंगतियों को दूर करने के लिए भी सांसद ने कई सुझाव दिए हैं।

Advertisement

उन्होंने कहा कि मेरठ महायोजना का वर्तमान भू-उपयोग आज तक भी एमडीए की वेबसाइट पर नहीं डाला गया है। हिन्दी और अंग्रेजी रिपोर्ट में बहुत अधिक अंतर है, जो महायोजना मानचित्र से भी मेल नहीं खाते। इन दोनों रिपोर्ट में से किसे सही माना जाए और किस पर सुझाव दिया जाए।

हिन्दी प्रतिवेदन के आधार पर 15 जुलाई तक भी सुझाव देना संभव नहीं है। इस महायोजना में बड़ा ग्रामीण क्षेत्र शामिल है। इन क्षेत्रों में कई स्थानों पर महायोजना की प्रदर्शनी लगाकर ग्रामीणों को इसके बारे में समझाया जाना चाहिए। भू उपयोग को लेकर भी महायोजना में एकरूपता नहीं है। आउटर रिंग रोड और हवाई पट्टी को लेकर भी स्थिति स्पष्ट नहीं की गई। सांसद ने महायोजना में विसंगतियों को दूर करने के लिए अनेक सुझाव दिए हैं।