एसडीएम के आदेशों की बिजनौर में खुलेआम उड़ रही धज्जियां, प्रशासन मौन

WhatsApp%2BImage%2B2020 07 02%2Bat%2B6.32.49%2BPM
  • जितेंद्र शर्मा जीतू, ई-रेडियो इंडिया

बिजनौर। चांदपुर एसडीएम द्वारा बृहस्पतिवार को दुकानें, बाजार बंद रखने के आदेश दिये गये थे, लेकिन बंद के बाद भी पूरा बाजार पूरी तरह खुला है। नियम कहां है यह सोचकर हर व्यक्ति परेशान है कि क्या छोटे गरीब सब्जी वालों ने ही समाज को ठीक करने का ठेका ले रखा है, जिनको जब चाहा तब बंद कर दिया जाता।

Advertisement

पुलिस ठेले व रेड़ी वालों पर दुश्मानों की तरह टूटती है

बता दें कि पुलिस रेड़ी व ठेले वालों को कानून का पाठ पढ़ाते हुये दुश्मनों की तरह व्यवहार करती है। जबकि  शहर में बाजारों की दुकाने खुली नजर आ रही है, शायद पुलिस सफेदपोश की दुत्कार से डर रही है।
एसडीएम के आदेश को यह दुकानदार ठेंगा दिखा रहे है। कोरोना का कहर कम नही हो रहा है। जहाँ चांदपुर में कोरोना ने फिर दस्तक दी है वही लोगों व दुकानदारों में कोरोना का डर नही दिखाई दे रहा है। ऐसे में पहले शहर व नगर सप्तहितक बन्दी का दिन रविवार था फिर चांदपुर उपजिलाधिकारी घनश्याम वर्मा जी ने चांदपुर शहर व नगर को बृहस्पतिवार का दिन पूर्ण रूप से बन्द करने के आदेश दिया था। इतना ही नही उन्होंने रिक्शा के माध्यम से नगर में अलाउंस कर के दुकानदारों को भी अवगत कराया था। लेकिन कुछ दुकानदारों ने बृहस्पतिवार को दुकाने खोल कर सब पर पानी फेर दिया। 
हालात यह है कि नगर में लोग बिना मास्क के घूम रहे है। ना ही सोशल डिस्टेंसिक पर ध्यान दिया जा रहा है। जबकि मोदी जी बार बार अपनी बातों में बोल चुके है कि मास्क व दो गज दूरी बहुत जरूरी है। एसडीएम घनश्याम वर्मा जी ने बताया कि जो भी दुकानदार नियमों का पालन नही करेगा का उनके विरुद्ध कार्यवाही की जायेगी। जो दुकाने खुली है उनकों बन्द कराया जाएगा।
Send Your News to +919458002343 email to [email protected] for news publication to eradioindia.com