Home Blog

Lockdown में दर्ज मुकदमे को वापस लेगी उत्तर प्रदेश सरकार

  • संवाददाता || ई-रेडियो इंडिया

प्रदेश सरकार ने Lockdown के दौरान दर्ज किए गए मुकदमों को वापस लेने का फैसला कर चुकी। उत्तर प्रदेश के कानून मंत्रालय ने अधिकारियों को इस बाबत दिशा-निर्देश जारी कर दिए। आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश में लॉकडाउन के दौरान विभिन्न नियमों के उल्लंघन के परिणाम स्वरूप जिन लोगों पर मुकदमे दर्ज किए गए थे उनको कोर्ट और कचहरी के चक्कर से बचाने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार का यह निर्णय वरदान साबित हो सकता है।

उत्तर प्रदेश सरकार ने यह निर्णय लेते हुए बताया कि प्रदेश के व्यापारियों व अन्य लोगों पर दर्ज किए गए मुकदमों को सरकार वापस इसलिए ले रही है ताकि वह अपने व्यापार और कार्यों में लग सके तथा न्यायालय के चक्कर में ना उलझें। 

उत्तर प्रदेश के कानून मंत्रालय ने प्रदेशभर से ब्योरा जुटाने के लिए अधिकारियों को दिशा-निर्देश जारी कर दिया है। कानून मंत्री ब्रिजेश पाठक ने कहा कि अधिकारियों को उन लोगों की लिस्ट बनाने का निर्देश दिया गया है जिन पर मुकदमे दर्ज किए गए हैं।

क्या कर इस तरह का निर्णय पूरी तरह से अमलीजामा पहले का तो उत्तर प्रदेश पहला ऐसा राज्य बनेगा जो लॉकडाउन के दौरान दर्ज किए गए मुकदमों को वापस लेगा और इस निर्णय के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पूरा श्रेय जाएगा।

कानून मंत्री बृजेश पाठक ने बताया कि लंबे समय से व्यापारियों की मांग चल रही थी कि लॉकडाउन के दौरान दर्ज किए गए मुकदमों को वापस किया जाए, अंततः सरकार ने फैसला लिया है इससे लाखों व्यापारियों को राहत मिलेगी और उन लोगों को भी रिलीफ मिलेगा जो अपने कार्यों को छोड़कर अदालत के चक्कर काट रहे हैं।

सिर्फ इन्हीं लोगों को ही नहीं बल्कि अदालतों को भी मुकदमों के बोझ से निजात मिलेगी तो वहीं पुलिस कर्मियों को भी जांच पड़ताल करने के एक्स्ट्रा बर्डन से छुट्टी होगी।

image description

चुनाव आयोग ने किया यह नया फैसला, जरूर जानें

  • संवाददाता || ई-रेडियो इंडिया

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में चुनाव लड़ने वाले कैंडिडेट्स के लिए चुनाव आयोग लगातार सख्त नियम बनाते जा रहा है। हालांकि नया नियम बनाया नहीं गया है बल्कि मजबूरी बस बनाना पड़ा है। चुनाव आयोग ने अपनी वेबसाइट से वोटर लिस्ट डाउनलोड करने का विकल्प हटा दिया है।

ऐसा इसलिए किया गया है क्योंकि चुनाव आयोग के मुताबिक उनके पास एस एम एस के क्रेडिट खरीदने पर अभी कोई निर्णय नहीं हो पाया है। पिछले चुनाव में कोई भी व्यक्ति चुनाव आयोग की वेबसाइट पर जाकर किसी भी क्षेत्र का वोटर लिस्ट पीडीएफ फॉर्मेट में डाउनलोड कर सकता था, उसके लिए उसे अपना मोबाइल नंबर एंटर करना पड़ता था उसके मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी आता था उसी को दोबारा चुनाव आयोग की वेबसाइट पर डाल कर पी डी एफ डाउनलोड किया जा सकता था।

चुनाव आयोग ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में जानकारी देते हुए बताया है कि इस बार के क्रेडिट पर किसी तरह का निर्णय नहीं बन सका है, इस विकल्प को डिसएबल करना पड़ा। ग्राम पंचायत, क्षेत्र पंचायत और जिला पंचायत की लिस्ट को जानने के लिए या पाने के लिए आप स्थानीय अधिकारियों से संपर्क कर सकते हैं इसके अलावा चुनाव आयोग के कार्यालय पर कुछ शुल्क जमा करा कर ले सकते हैं।

अधिसूचना जारी होने में क्यों हो रही देरी

यूपी में होने वाले पंचायत चुुनाव में थोड़ी देरी हो सकती है। पहले माना जा रहा था कि फरवरी के दूसरे सप्ताह तक अधिसूचना जारी हो जाएगी और मार्च से वोटिंग शुरू होकर अप्रैल में चुनाव प्रक्रिया पूरी हो जाए लेकिन अब सूत्रों के हवाले से खबर आ रही है कि यह चुनाव अप्रैल में शुरू हो सकते हैं। इस बार ग्राम, क्षेत्र और जिला पंचायत के चुनाव एक साथ होंगे।

20 फरवरी के बाद सार्वजनिक होगा फॉर्मूला

यह भी जानकारी में आया है कि आरक्षण का यह नया फॉर्मूला आगामी 20 फरवरी के बाद ही सार्वजनिक किया जाएगा क्योंकि प्रदेश सरकार ने अब पंचायत चुनाव अप्रैल व मई के महीनों में करवाने का मन बना लिया है। अब यह तय किया गया है कि होली के ठीक पहले यानि 26 मार्च के बाद किसी भी दिन पंचायत चुनाव की अधिसूचना जारी की जाएगी और अप्रैल व मई के महीनों में त्रि-स्तरीय चुनाव की पूरी प्रक्रिया सम्पन्न करवायी जाएगी।

चार चरणों में ही होगा चुनाव

राज्य निर्वाचन आयोग के सूत्रों का कहना है कि पूरे प्रदेश में चार चरणों में ही चुनाव होगा। एक जिले के सभी विकास खंडों को चार हिस्सों में विभाजित करके एक-एक हिस्से के नामांकन दाखिले और मतदान की तारीखें तय की जाएगी। एक हिस्से के मतदान से दूसरे हिस्से के मतदान में तीन दिन का अंतर होना चाहिए।

चुनाव में देरी के पीछे की वजह

बताया जा रहा है कि चुनाव में देरी के पीछे की दो वजहें हैं। 19 मार्च को राज्य सरकार के कार्यकाल के 4 साल पूरे हो रहे हैं। सरकार चाह रही है कि इन चार साल की उपलब्धियों को जनता के बीच ले जाया जाएगा। इससे सरकार और संगठन दोनों को ही फायदा होगा। सराकर से जुुड़े लोगों का मानना है कि इसका फायदा पंचायत चुुनाव में मिल सकता है। फरवरी के अंतिम सप्ताह में चुनाव कार्यक्रम जारी हुआ तो आचार संहिता लगने से सरकार जश्न नहीं मना पाएगी। वहीं कुुछ लोगों का मानना है कि किसान आंदोलन के कारण भी इसमें देरी हो सकती है, क्योंकि पश्चिमी यूपी के कुछ गांव से जुड़े कई किसान आंदोलन में हैं। इसका असर चुनाव में पड़ सकता है।

Apex Superficiality Hospital Jaunpur Uttar Pradesh
Advertisement Apex Superficiality Hospital Varansi Uttar Pradesh

किसान आंदोलन हार गया, मोदी जीत गये!

  • मोदी समर्थक के मन की खुशी

लाल किले पर झंडा आपने इतनी आसानी से लहरा दिया क्योंकि यह जो शासक है, वह आपको अपना मानता है वरना यदि चाहता तो आपको चार कदम भी न हिलने देता।

अगर आप समझते हो कि आपने मोदी को एक्सपोज़ कर दिया तो यह आपकी भूल है। सत्य यह है कि उसने आपको एक्सपोज़ कर दिया।

उसने उस साजिश की पोल खोल दी कि कैसे हर नेशनल डे तक किसी भी आंदोलन को खींचा जाता है और उसे शाहीन बाग जैसी घृणित आंदोलन की शक्ल दी जाती है।

आप हार गए मोदी जीत गया।

जिसे आप तानाशाह साबित करने पर तुले थे, उसने आपकी अराजकता को पूरी दुनिया के सामने दिखा दिया कि आप एक paid आंदोलन में शामिल थे, जिसकी आयु 26 जनवरी तक थी और दुनिया के सामने यह संदेश देना चाहते थे कि मोदी तानाशाह है।

लेकिन मोदी ने आपके क्रियाकलाप का भीषण विरोध न करके आपको जल बिन मछली बना दिया और यह संदेश दिया कि वह तानाशाह नही बल्कि आप अराजक हो।

जिस तरह से तलवारें लहराई गयी, जिस तरह से ईंट पत्थर फेंके गए, ट्रैक्टर से पुलिस वालों को कुचलने की कोशिश की गई, इन सब चीजों को जनता देख रही है।

आप मोदी विरोधी मुठ्ठी भर हो लेकिन मोदी के समर्थको की मुठ्ठियां फिर किसी चुनाव में खुलेंगी और उसे ही अपना सिर मौर बनाएगी जो कि आपके गाल पर एक गहरा तमाचा होगा।

वैसे मैं हमेशा कहता आया हूँ कि भारत को संजय गांधी जैसा नेता चाहिये।

भाग्यशाली हो आप लोग जो कि मोदी के कार्यकाल में हो जो आपकी उदंडता को भी सर माथे लगाया पता नहीं जी कोनसा नशा करता है ।

खैर! मुझे डर है कि कहीं जिहादी इस आंदोलन में घुसकर और ज्यादा उत्पात न मचा दें क्योंकि विपक्ष को और पाकिस्तान को जो खून खराबा चाहिए था वह अभी तक नही मिला।

इनकी सोच थी कि सरकार इनका खूब विरोध करे और सैकड़ो लोगों की लाशें गिरें, जिससे आज तक मोदी द्वारा किये गए सारे अच्छे कार्यों को भूला दिया जाय और वर्षो तक इस दिन को काला दिवस के रूप में मनाया जाए। लेकिन सरकार ने इनकी इस मंशा पर भी पानी फेर दिया।

मोदी हमे आप पर गर्व है।
शास्त्र कहता है कि राजा समस्त प्रजा के लिए पिता समान होता है और आपने इनकी उदंडता को माफ कर के अपने कर्तव्य का निर्वहन करके दिखा दिया लेकिन अगर जिहादी इसमे घुसकर उत्पात मचाये तो उन्हें भीषणतम दंड देना भी राजा का कर्तव्य होता है।

इस देश की जनता आशा करती है कि मोदी जी आप अपने इस कर्तव्य का भी अच्छे से निवर्हन करेंगे।

मोदी समर्थक जो नाराज़ है, उन्हें बस यही कहूंगा कि धैर्यपूर्वक एक बार विचार कीजिये कि आपके नेता के धैर्य ने कौन कौन सी अनहोनी को टाल दिया। लाल किले पर झंडा फहराए जाने को नाक का सवाल न बनाएं।

यह कृष्ण युग है इसमे शिशुपाल को 99 तक माफ किया जाता है। यहां कालयवन को स्वयं न मारकर राजा मुचुकुन्द की दृष्टि से मरवाया जाता है।

यहां कालयवन paid आंदोलनकारी है और राजा मुचुकुंद देश की जनता है। अब जनता अपनी आँख खोले और धराशायी कर दे कालयवन को।

मंगल, गुरु व शनि को “बाल-नाख़ून” कटवाना मना क्यों है?

आजकल ये बात तो लगभग हर किसी को मालूम है कि ऐसा नहीं करना चाहिए…..
लेकिन, ऐसा क्यों नहीं करना चाहिए …. शायद ही किसी को मालूम हो।
और… इसका परिणाम ये होता है कि….
जाने-अनजाने हम हिन्दू स्वयं ही अपनी परम्पराओं को अन्धविश्वास घोषित कर देते हैं और, उसका पालन करना अपनी आधुनिक शिक्षा के खिलाफ समझते हैं।

जबकि, सत्य ये है कि हम हिन्दुओं के अधिकतर परंपराओं और रीति-रिवाजों के पीछे एक सुनिश्वित एवं ठोस वैज्ञानिक कारण होता है।

और इसीलिए आज भी हम घर के बड़े और बुजुर्गों को यह कहते हुए सुनते हैं कि मंगलवार, गुरूवार और शनिवार के दिन बाल और नाखून भूल कर भी नहीं काटने चाहिए।

वास्तव में जब हम अंतरिक्ष विज्ञान और ज्योतिष की प्राचीन और प्रामाणिक पुस्तकों का अध्ययन करते हैं तो हमें इन प्रश्रों का बड़ा ही स्पष्ट वैज्ञानिक समाधान प्राप्त होता है।

होता यह कि मंगलवार, गुरुवार और शनिवार के दिन ग्रह-नक्षत्रों की दशाएं तथा अंनत ब्रह्माण्ड में से आने वाली अनेकानेक सूक्ष्मातिसूक्ष्म किरणें (कॉस्मिक रेज़) मानवीय शरीर एवं मस्तिष्क पर अत्यंत संवेदनशील प्रभाव डालती हैं।

और अब वैज्ञानिक विश्लेषणों से यह भी स्पष्ट है कि इंसानी शरीर में उंगलियों के अग्र भाग तथा सिर अत्यंत संवेदनशील होते हैं तथा, कठोर नाखूनों और बालों से इनकी सुरक्षा होती है।

इसीलिये ऐसे प्रतिकूल समय में इनका काटना शास्त्रों के अनुसार वर्जित, निंदनीय और अधार्मिक कार्य माना गया है।

यह बहुत सामान्य सी बात है किहर किसी का मानसिक स्तर एक समान नहीं होता है ना ही हर किसी को एक-एक कर हर बात की वैज्ञानिकता समझाना संभव हो पाता है।

इसीलिए हमारे ऋषि-मुनियों ने गूढ़ से गूढ़ बातों को भी हमारी परम्परों और रीति-रिवाजों का भाग बना दिया ताकि, हम जन्म-जन्मांतर तक अपने पूर्वजों के ज्ञान-विज्ञान से लाभान्वित होते रहें।

हिंदुस्तानी यूनिटी मिशन ने लगाया रक्तदान शिविर

  • संवाददाता || मेरठ

हिंदुस्तानी यूनिटी मिशन के द्वारा गणतंत्र दिवस के उपलक्ष में सातवा रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया जिसमें 135 रक्त वीरों ने रक्तदान किया जिनको रक्त वीर सम्मान से सम्मानित किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य अतिथि अश्वनी कौशिक द्वारा किया गया। हिंदुस्तानी यूनिटी मिशन के समस्त कार्यकर्ताओं ने रक्तदान शिविर में बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया।

समस्त लोगों ने देश हित में रक्तदान किया। हिंदुस्तानी यूनिटी मिशन के अध्यक्ष सुमित शर्मा की मुहिम की सभी ने सराहना की और बताया कि ऐससे कार्यक्रम सदैव होते रहने चाहिये। आपको बता दें कि 15 अगस्त और 26 जनवरी के उपलक्ष में रक्तदान शिविर देश के प्रति समर्पित किया जाता है। राहुल कश्यप, दीपक सैनी, ऋषभ शर्मा, आशीष कश्यप, विकास त्यागी, आशीष सिंह, सुभाष सैनी एवं महिलाओं टीम के द्वारा भी रक्तदान किया गया।

Media Welfare Society || मीडिया वेलफेयर सोसायटी

about media welfare society

Email:mediawelfaresociety2@gmail.com

Media Welfare Society (मीडिया वेलफेयर सोसायटी) का गठन क्यों?

जब देश व समाज को खतरे में डालने वालों की संख्या बढ़ने लगती है तो ऐसे में खामोशी से बैठे लोगों का ‘सांस्कृतिक खाता’ नकारात्मक होने लगता है और फिर दूसरों को देखकर ‘मानसिक गरीबी’ में जीने वाले लोगों की अज्ञानता से उपजे विष रूपी विचारों को कुचलने के लिए एक मशाल जलाने की जरूरत पड़ती है।

जैसे कोई मशाल अगर अकेला हो तो उपहास करने वालों की संख्या बल के आगे उसे दीप्तिमान होने में अपेक्षाकृत ज्यादा समय लगता है इसी क्रम में अनेक अच्छे व्यक्तियों का समूह बनाकर एक मंच के माध्यम से अगर किसी बात को कही जाए तो समाज के कुत्सित विचारधारा वाले व्यक्तियों में कुछ पल के लिए ठहराव आ जाता है और धीरे-धीरे इस ठहराव का वक्त बढ़ने लगता है… यानी कई मशालों को एकजुट कर समाज को प्रकाशित करने का एक कठिन प्रयास करने के लिए मीडिया वेलफेयर सोसायटी (Media Welfare Society) का गठन किया है।

आजकल पत्रकारों की वजह से पत्रकारिता कही शिखर तो कही गर्त में। निष्पक्ष पत्रकारिता का तो जमाना ही नहीं रहा क्योंकि संवाद खर्चीला जो हो गया है और व्यापारियों ने न्यूज चैनलों की दुकान खोल रखी है और हर न्यूज के प्रसारण से पूर्व नफा-नुकसान की गणना होती है और अगर नुकसान होता दिखे तो पेड न्यूज भी चलाने से गुरेज नहीं करते।

Media Welfare Society क्या करना चाहती है?

  • समाज में ऐसी शिक्षा व सरकार का सहयोग करना जो रोजगार पैदा करने में सक्षम हो।
  • Media Welfare Society समाज में व्याप्त असमानता, असुरक्षा की भावना से ग्रसित एवं पुरातन सभ्यताओं से दूरी बनाने वाले युवाओं में ध्यान व योग शिविर द्वारा नई चेतना का संचार करना चाहती है ताकि भारत को पुन: सोने की चिड़िया वाले सपने को मजबूती मिले।
  • किसी भी बैनर के लिए कार्य कर रहे ऐसे पत्रकारों की आर्थिक मदद Media Welfare Society करने का प्रयास करेगी जो वास्तविक तौर पर पत्रकारिता करना चाहते हैं लेकिन धनाभाव में उनकी धार कमजोर हो रही है।
  • Media Welfare Society समय-समय पर पत्रकारिता की नई पौध के लिए विचार गोष्ठी, कार्यशाला, प्रशिक्षण शिविर का आयोजन करना।
  • समाज में स्वास्थ्य शिविर, सांस्कृतिक कार्यक्रम, विभिन्न प्रकार के सम्मेलनों एवं प्रतियोगिता का आयोजन करना।
  • गरीब व कमजोर तबके लिए निर्माण कार्य, आर्थिक सहायता, प्रोत्साहन राशि एवं अन्य सभी प्रकार की संभव मदद करना।

Media Welfare Society की आपसे भी अपेक्षा है

Media Welfare Society के सरल विचारों को मूर्तिरूप प्रदान करने में बहुत ही कठिन रास्तों से होकर गुजरना पड़ेगा अत: हमें आपके सहयोग की भी जरूरत है। आप हमें सहयोग करने में नि:संकोच योगदान दे सकते हैं। आप समाज के जिस भी वर्ग से हों हमारे इस यक्ष में आहुति दे सकते हैं।

  • सोसल वालंटियर: आप हमारे सोसल वालंटियर बनकर हमारे विचारों को समाज में प्रसारित करने में मददगार हो सकते हैं।
  • सदस्य: आप मीडिया वेलफेयर सोसायटी की सदस्यता ग्रहण कर सकते हैं जो वार्षिक है। कोई भी व्यक्ति जो मानसिक रूप से सकारात्मक है वार्षिक योगदान देकर सदस्य बन सकता है।
  • आर्थिक सहयोगी: सोसायटी के विचारों को प्रिंट, डिजिटल एवं अन्य माध्यमों से प्रचारित ही नहीं बल्कि कार्यान्वयित करने के लिए आप मीडिया वेलफेयर सोसायटी को आर्थिक सहयोग कर सकते हैं। सहयोग राशि आपके निजी सक्षमता पर निर्भर है।
  • पदाधिकारी बनकर: यदि आप उत्तर प्रदेश के विभिन्न जनपदों में मीडिया वेलफेयर सोसायटी का पदाधिकारी बनना चाहते हैं तो आप अपनी योग्यता साबित कर पदभार ग्रहण कर सकते हैं।
  • उपरोक्त माध्यमों से अलग भी यदि आप किसी अन्य रूप में हमसे जुड़ना चाहते हैं तो आपके विचारों का स्वागत है, कृपया आप अपनी प्रतिक्रया अवश्य दें क्योंकि आपकी प्रतिक्रिया से ही हमें नये विचारों के सूत्रपात करने में मदद मिलती है।

Media Welfare Society का आपसे निवेदन

आधा-आधा लिखा हुआ, तुम पूरा – पूरा पढ़ लेना।
नैनों की इन व्यथा-कथा, मन के तारों से गढ़ लेना।।

आधा-आधा लिखा हुआ तुम पूरा – पूरा पढ़ लेना 
नैनों की इन व्यथा-कथा मन के तारों से गढ़ लेना

फर्क कोई नहीं

आज की पत्रकारिता और उन पाजेबों में, जो हुक्मरानों के लिए छनका करतीं हैं।

पत्रकारिता कैसे डूबती चली गई?

इस देश में 1857 से अभी कुछ साल पहले तक पत्रकारिता की यह परंपरा रही है कि पत्रकारों ने तोप से उड़ाया जाना स्वीकार कर लिया, लेकिन अपनी कलम की इज्जत पर आंच नहीं आने दी। गदर के बाद दिल्ली पर जब अंग्रेजों की हुकूमत हुयी तो सबसे पहले जिस शख्स को तोप के मुंह से बांधकर उड़ाया गया वह एक पत्रकार था और उसका नाम था मौलवी बाकर। मौलवी बाकर एक अखबार निकालते थे, और अंग्रेजों के खिलाफ खुलकर लिखते थे।

फिर स्वतंत्रता संग्राम के दौर में महात्मा गांधी, मौलाना आजाद और जवाहरलाल नेहरू जैसे तमाम नेताओं ने अखबारों के माध्यम से लोगों तक अपनी आवाज पहुंचाई और जेल गए। उनके अखबारों पर पाबंदियां लगायी गयीं। इतने गौरवमयी अतीत के बावजूद, पिछले कुछ सालों में इस देश के पत्रकार, दरबारी कैसे बन गए।

जब मालिक सरकार के पास विज्ञापन मांगने गया तो सरकार ने बिना कुछ कहे सुने उसे विज्ञापन दे दिए। लेकिन जब इसी चैनल ने सरकार के खिलाफ आवाज उठायी, तो सरकार ने विज्ञापन बंद कर दिए। जब चैनल का दम घुटने लगा तो मालिक, संपादक दौड़कर सरकार के पास गया और दुखड़ा सुनाया कि ऐसे तो हम मर जाएंगे। सरकार ने बताया कि अगर विज्ञापन चाहिए तो आलोचना बंद कीजिए और गुणगान कीजिए। मरता क्या न करता, मालिक ने पत्रकार के हाथ मरोड़े और संदेश दे दिया कि चुपचाप घुटने टेक दो। इसी तरह कुछ मालिक पूंजीपतियों और उद्योगपतियों के पास गए कि हमारी मदद करो।

पूंजीपति और उद्योगपति ने थैलियां खोल दीं और जब चैनल मालिक कर्ज में डूब गया तो थैली का मुंह बंद कर दिया। चैनल का दम घुटने लगा तो चैनल मालिक ने फिर कहा कि हुजूर कुछ और मदद करो, पूंजीपति, उद्योगपति बोला कि हमको क्या फायदा होगा। सरकार से हमारा यह काम कराओगे तो और पैसा मिल जाएगा।

मालिक ने फिर से पत्रकारों और एंकरों के हाथ मरोड़े। एंकर और पत्रकार दोनों लाखों का वेतन लेने का आदी हो चुका था। उसने सोचा कि एक काम करवाने में क्या चला जाएगा। बस क्या था, धंधा शुरु हो गया। पत्रकार दरबारी हो गया और चैनल गला फाड़-फाड़कर सरकार का गुणगान करने और उसका एजेंडा लागू करने मे जुट गया।

लेकिन अफसोस, इस दरबारगीरी और चीख-चिल्लाहट में देश का पत्रकार ही नहीं, बल्कि पूरी की पूरी पत्रकारिता ही डूब गयी है। जो जांबाज पत्रकार बचे हैं, वह या तो भूखों मर रहे हैं या मारे जा रहे हैं। ऐसे माहौल में आखिर पत्रकारिता हो तो कैसे हो?

  • लेकिन एक सवाल समाज से भी, क्या आप अपनी और समाज की सुरक्षा के लिए पत्रकारिता के पक्ष में खुले तौर पर जबान नहीं खोल सकते?
  • क्या आप पत्रकारों को किसी का आर्थिक गुलाम बनने से नहीं रोक सकते?
  • जनता के हाथों में इतनी बड़ी ताकत है कि वो सरकार पलट देती है… क्या इस जनता में अब इतनी भी संवेदनशीलता नहीं रही कि वो जिस पर सबसे ज्यादा यकीन करता है उसे बचाने की मुहिम न छेड़ सके?

एक कविता की चंद पंक्तियां आपके लिए

सुना है कि अब मैं पत्रकार हो गया हूं

ना समझ था पहले अब समझदार हो गया हूं।

बहुत गुस्सा था इस व्यवस्था के खिलाफ

अब उसी का भागीदार हो गया हूं।

इंकबाल वंदे मातरम कई नारे आते हैं मुझे

पर क्या करूं विज्ञापनों के कारण लाचार हो गया हूं।

मीडिया वेलफेयर सोसाटी द्वारा आयोजित सेमिनार ‘पत्रकारिता पूजीपतियों की‘ विषय पर अपने व्याख्यान देते अतिथि, यहां क्लिक कर देखें वीडियो।

DM Meerut IAS K.Balaji ने गौशाला का किया औचक निरीक्षण

DM Meerut IAS K.Balaji ने गौशाला का किया औचक निरक्षण किया
  • मनोज मिश्र || मेरठ

DM Meerut IAS K.Balaji ने आज नगर निगम मेरठ द्वारा संचालित कान्हा उपवन गौशाला परतापुर का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उनके संज्ञान में आया कि कान्हा उपवन गौशाला में करीब 450 गौवंष संरक्षित है। उन्होने नगर निगम के अधिकारियों से कहा कि वह शहर में निराश्रित गौवंषों को संरक्षित करने हेतु आवष्यकतानुसार शेडो का निर्माण कराये तथा बजट आवंटन से पूर्व से निर्मित शेडो में ही 02 खोरो का निर्माण भी किया जाये ताकि निराश्रित गौवंशों को संरक्षित किया जा सके।

DM Meerut IAS K.Balaji ने गोबर को निस्तारण के लिए भी कहा। जिलाधिकारी पषुओ को ठंड से बचाने हेतु नगर निगम व पषुपालन विभाग द्वारा की गयी व्यवस्था से संतुष्टी व्यक्त की।

सहायक नगरायुक्त ब्रजपाल सिंह ने बताया कि नगर निगम मेरठ द्वारा अतिरिक्त शेडो के निर्माण हेतु शासन से रू0 02 करोड की मांग की गयी है। जिलाधिकारी ने कहा कि जब तक शासन से धनराषि प्राप्त नहीं हो जाती है तब तक पूर्व से निर्मित शेडो में ही 02 खोरो का निर्माण किया जाये। इस अवसर पर मुख्य पषु चिकित्सा अधिकारी डा0 अनिल कंसल, सहायक नगरायुक्त ब्रजपाल सिंह सहित अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे।

DM Meerut IAS K.Balaji ने पुलिस लाईन में निर्माणाधीन ट्रांजिट हास्टल का निरीक्षण                                                                                 

DM Meerut IAS K.Balaji ने आज पुलिस लाईन में निर्माणाधीन ट्रांजिट हास्टल का निरीक्षण किया। जिलाधिकारी ने कहा कि निर्माण कार्यों में गुणवत्ता व समयबद्धता का विषेष ध्यान रखा जाये।

कार्यदायीं संस्था उ0प्र0 राजकीय निर्माण निगम के सहायक अभियंता प्रत्युष सिंह ने बताया कि ट्रांजिट हाॅस्टल करीब रू0 47 करोड की लागत से बनाया जा रहा है, जी़ 12 के 04 ब्लाॅक है। एक ब्लाॅक में 48 फ्लैटो का निर्माण किया जा रहा है। इस प्रकार कुल 192 फ्लैटो का निर्माण किया जा रहा है। उन्होने बताया कि ट्रांजिट हाॅस्टल करीब 07 हजार वर्ग मीटर में बनाया जा रहा है। उन्होने बताया कि ट्रांजिट हाॅस्टल का निर्माण दिसम्बर 2020 से प्रारंभ हुआ तथा इसको दिसम्बर 2022 तक पूरा करने का लक्ष्य है।

इस अवसर पर सहायक अभियंता उ0प्र0 राजकीय निर्माण निगम प्रत्युष सिंह सहित अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे।

डिस्क्लेमर

Disclaimer

About Using This Website

By using this website you are accepting all the terms of this disclaimer notice. If you do not agree with anything in this notice you should not use this website.

Warranties and Liability

While every effort is made to ensure that the content of this website is accurate, the website is provided “as is” and eradioindia.com makes no representations or warranties in relation to the accuracy or completeness of the information found on it. While the content of this site is provided in good faith, we do not warrant that the information will be kept up to date, be true and not misleading, or that this site will always (or ever) be available for use.

We do not warrant that the servers that make this website available will be error, virus or bug free and you accept that it is your responsibility to make adequate provision for protection against such threats. We recommend scanning any files before downloading.

Nothing on this website should be taken to constitute professional advice or a formal recommendation and we exclude all representations and warranties relating to the content and use of this site.

In case, eradioindia.com will not be liable for any incidental, indirect, consequential or special damages of any kind, or any damages whatsoever, including, without limitation, those resulting from loss of profit, loss of contracts, goodwill, data, information, income, anticipated savings or business relationships, whether or not advised of the possibility of such damage, arising out of or in connection with the use of this website or any linked websites.

Exceptions

Nothing in this disclaimer notice excludes or limits any warranty implied by law for death, fraud, personal injury through negligence, or anything else which it would not be lawful for eradioindia.com to exclude.

Licence To Use This Website

By using this website you agree to the exclusions and limitations of liability stated above and accept them as reasonable. Do not use this website if you do not agree that they are reasonable.

If any of the points in this disclaimer notice are found to be unenforceable under applicable law, that will have no bearing on the enforceability of the rest of the disclaimer notice.

Material on this website, including text and images, is protected by copyright law and is copyright to eradioindia.com unless credited otherwise. It may not be copied, reproduced, republished, downloaded, posted, broadcast or transmitted in any way except for your own personal, non-commercial use.

Prior written consent of the copyright holder must be obtained for any other use of material. Copyright of all images on this site remains with the artist or copyright owner at all times.

No part of this site may be distributed or copied for any commercial purpose or financial gain.

All intellectual property rights in relation to this website are reserved and owned by eradioindia.

Links to Other websites and Products

Links to other websites are provided for the convenience of users. We are unable to provide any warranty regarding the accuracy or completeness of the content of such sites, or the reliability, quality or effectiveness of any products provided through external websites. A link to an external site does not imply an endorsement of the views, information or products provided or held by such websites.

Law and Jurisdiction

This disclaimer notice shall be interpreted and governed by Indian law, and any disputes in relation to it are subject to the jurisdiction of the MEERUT court

Variations

We reserve the right to revise and amend this disclaimer notice from time to time and any revised version will be deemed to be applicable from the first date of publication on this website.

To Know About Us Click Here

रीफंड पॉलिसी

Refund Policy

Returns

Our policy lasts 30 days. If 30 days have gone by since your purchase, unfortunately we can’t offer you a refund or exchange.To be eligible for a return, your item must be unused and in the same condition that you received it. It must also be in the original packaging. Several types of goods are exempt from being returned. Perishable goods such as food, flowers, newspapers or magazines cannot be returned. We also do not accept products that are intimate or sanitary goods, hazardous materials, or flammable liquids or gases.

Additional non-returnable items:

  • Gift cards
  • Downloadable software products
  • Some health and personal care items

To complete your return, we require a receipt or proof of purchase. Please do not send your purchase back to the manufacturer.There are certain situations where only partial refunds are granted: (if applicable)Book with obvious signs of useCD, DVD, VHS tape, software, video game, cassette tape, or vinyl record that has been opened.Any item not in its original condition, is damaged or missing parts for reasons not due to our error.Any item that is returned more than 30 days after delivery

Refunds (if applicable)

Once your return is received and inspected, we will send you an email to notify you that we have received your returned item. We will also notify you of the approval or rejection of your refund.If you are approved, then your refund will be processed, and a credit will automatically be applied to your credit card or original method of payment, within a certain amount of days.

Late or missing refunds (if applicable)

If you haven’t received a refund yet, first check your bank account again.Then contact your credit card company, it may take some time before your refund is officially posted.Next contact your bank. There is often some processing time before a refund is posted.If you’ve done all of this and you still have not received your refund yet, please contact us at eradioIndia@gmail.com

Sale items (if applicable)

Only regular priced items may be refunded, unfortunately sale items cannot be refunded.Exchanges (if applicable)We only replace items if they are defective or damaged.  If you need to exchange it for the same item, send us an email at eradioIndia@gmail.com and send your item to: 203/4, ShastriNagar Meerut UP 250004. GiftsIf the item was marked as a gift when purchased and shipped directly to you, you’ll receive a gift credit for the value of your return. Once the returned item is received, a gift certificate will be mailed to you.If the item wasn’t marked as a gift when purchased, or the gift giver had the order shipped to themselves to give to you later, we will send a refund to the gift giver and he will find out about your return.ShippingTo return your product, you should mail your product to: 203/4, ShastriNagar Meerut UP 250004.You will be responsible for paying for your own shipping costs for returning your item. Shipping costs are non-refundable.

If you receive a refund, the cost of return shipping will be deducted from your refund.Depending on where you live, the time it may take for your exchanged product to reach you, may vary.If you are shipping an item over $75, you should consider using a trackable shipping service or purchasing shipping insurance. We don’t guarantee that we will receive your returned item.

प्राइवेसी पॉलिसी

Effective date: 2020-05-22

1. Introduction

Welcome to eradioIndia.

eradioIndia (“us”, “we”, or “our”) operates www.eradioindia.com (hereinafter referred to as “Service”).

Our Privacy Policy governs your visit to www.eradioindia.com, and explains how we collect, safeguard and disclose information that results from your use of our Service.

We use your data to provide and improve Service. By using Service, you agree to the collection and use of information in accordance with this policy. Unless otherwise defined in this Privacy Policy, the terms used in this Privacy Policy have the same meanings as in our Terms and Conditions.

Our Terms and Conditions (“Terms”) govern all use of our Service and together with the Privacy Policy constitutes your agreement with us (“agreement”).

2. Definitions

SERVICE means the www.eradioindia.com website operated by eradioIndia.

PERSONAL DATA means data about a living individual who can be identified from those data (or from those and other information either in our possession or likely to come into our possession).

USAGE DATA is data collected automatically either generated by the use of Service or from Service infrastructure itself (for example, the duration of a page visit).

COOKIES are small files stored on your device (computer or mobile device).

DATA CONTROLLER means a natural or legal person who (either alone or jointly or in common with other persons) determines the purposes for which and the manner in which any personal data are, or are to be, processed. For the purpose of this Privacy Policy, we are a Data Controller of your data.

DATA PROCESSORS (OR SERVICE PROVIDERS) means any natural or legal person who processes the data on behalf of the Data Controller. We may use the services of various Service Providers in order to process your data more effectively.

DATA SUBJECT is any living individual who is the subject of Personal Data.

THE USER is the individual using our Service. The User corresponds to the Data Subject, who is the subject of Personal Data.

3. Information Collection and Use

We collect several different types of information for various purposes to provide and improve our Service to you.

4. Types of Data Collected

Personal Data
While using our Service, we may ask you to provide us with certain personally identifiable information that can be used to contact or identify you (“Personal Data”). Personally identifiable information may include, but is not limited to:

0.1. Email address
0.2. First name and last name
0.3. Phone number
0.4. Address, Country, State, Province, ZIP/Postal code, City
0.5. Cookies and Usage Data

We may use your Personal Data to contact you with newsletters, marketing or promotional materials and other information that may be of interest to you. You may opt out of receiving any, or all, of these communications from us by following the unsubscribe link.

Usage Data
We may also collect information that your browser sends whenever you visit our Service or when you access Service by or through any device (“Usage Data”).

This Usage Data may include information such as your computer’s Internet Protocol address (e.g. IP address), browser type, browser version, the pages of our Service that you visit, the time and date of your visit, the time spent on those pages, unique device identifiers and other diagnostic data.

When you access Service with a device, this Usage Data may include information such as the type of device you use, your device unique ID, the IP address of your device, your device operating system, the type of Internet browser you use, unique device identifiers and other diagnostic data.

Location Data
We may use and store information about your location if you give us permission to do so (“Location Data”). We use this data to provide features of our Service, to improve and customize our Service.

You can enable or disable location services when you use our Service at any time by way of your device settings.

Tracking Cookies Data
We use cookies and similar tracking technologies to track the activity on our Service and we hold certain information.

Cookies are files with a small amount of data which may include an anonymous unique identifier. Cookies are sent to your browser from a website and stored on your device. Other tracking technologies are also used such as beacons, tags and scripts to collect and track information and to improve and analyze our Service.

You can instruct your browser to refuse all cookies or to indicate when a cookie is being sent. However, if you do not accept cookies, you may not be able to use some portions of our Service.

Examples of Cookies we use:

0.1. Session Cookies: We use Session Cookies to operate our Service.
0.2. Preference Cookies: We use Preference Cookies to remember your preferences and various settings.
0.3. Security Cookies: We use Security Cookies for security purposes.
0.4. Advertising Cookies: Advertising Cookies are used to serve you with advertisements that may be relevant to you and your interests.

Other Data
While using our Service, we may also collect the following information: sex, age, date of birth, place of birth, passport details, citizenship, registration at place of residence and actual address, telephone number (work, mobile), details of documents on education, qualification, professional training, employment agreements, non-disclosure agreements, information on bonuses and compensation, information on marital status, family members, social security (or other taxpayer identification) number, office location and other data.

5. Use of Data

eradioIndia uses the collected data for various purposes:

0.1. to provide and maintain our Service;
0.2. to notify you about changes to our Service;
0.3. to allow you to participate in interactive features of our Service when you choose to do so;
0.4. to provide customer support;
0.5. to gather analysis or valuable information so that we can improve our Service;
0.6. to monitor the usage of our Service;
0.7. to detect, prevent and address technical issues;
0.8. to fulfil any other purpose for which you provide it;
0.9. to carry out our obligations and enforce our rights arising from any contracts entered into between you and us, including for billing and collection;
0.10. to provide you with notices about your account and/or subscription, including expiration and renewal notices, email-instructions, etc.;
0.11. to provide you with news, special offers and general information about other goods, services and events which we offer that are similar to those that you have already purchased or enquired about unless you have opted not to receive such information;
0.12. in any other way we may describe when you provide the information;
0.13. for any other purpose with your consent.

6. Retention of Data

We will retain your Personal Data only for as long as is necessary for the purposes set out in this Privacy Policy. We will retain and use your Personal Data to the extent necessary to comply with our legal obligations (for example, if we are required to retain your data to comply with applicable laws), resolve disputes, and enforce our legal agreements and policies.

We will also retain Usage Data for internal analysis purposes. Usage Data is generally retained for a shorter period, except when this data is used to strengthen the security or to improve the functionality of our Service, or we are legally obligated to retain this data for longer time periods.

7. Transfer of Data

Your information, including Personal Data, may be transferred to – and maintained on – computers located outside of your state, province, country or other governmental jurisdiction where the data protection laws may differ from those of your jurisdiction.

If you are located outside India and choose to provide information to us, please note that we transfer the data, including Personal Data, to India and process it there.

Your consent to this Privacy Policy followed by your submission of such information represents your agreement to that transfer.

eradioIndia will take all the steps reasonably necessary to ensure that your data is treated securely and in accordance with this Privacy Policy and no transfer of your Personal Data will take place to an organisation or a country unless there are adequate controls in place including the security of your data and other personal information.

8. Disclosure of Data

We may disclose personal information that we collect, or you provide:

0.1. Disclosure for Law Enforcement.
Under certain circumstances, we may be required to disclose your Personal Data if required to do so by law or in response to valid requests by public authorities.

0.2. Business Transaction.
If we or our subsidiaries are involved in a merger, acquisition or asset sale, your Personal Data may be transferred.

0.3. Other cases. We may disclose your information also:
0.3.1. to our subsidiaries and affiliates;
0.3.2. to contractors, service providers, and other third parties we use to support our business;
0.3.3. to fulfill the purpose for which you provide it;
0.3.4. for the purpose of including your company’s logo on our website;
0.3.5. for any other purpose disclosed by us when you provide the information;
0.3.6. with your consent in any other cases;
0.3.7. if we believe disclosure is necessary or appropriate to protect the rights, property, or safety of the Company, our customers, or others.

9. Security of Data

The security of your data is important to us but remember that no method of transmission over the Internet or method of electronic storage is 100% secure. While we strive to use commercially acceptable means to protect your Personal Data, we cannot guarantee its absolute security.

10. Your Data Protection Rights Under General Data Protection Regulation (GDPR)

If you are a resident of the European Union (EU) and European Economic Area (EEA), you have certain data protection rights, covered by GDPR.

We aim to take reasonable steps to allow you to correct, amend, delete, or limit the use of your Personal Data.

If you wish to be informed what Personal Data we hold about you and if you want it to be removed from our systems, please email us at eradioindia@gmail.com.

In certain circumstances, you have the following data protection rights:
0.1. the right to access, update or to delete the information we have on you;
0.2. the right of rectification. You have the right to have your information rectified if that information is inaccurate or incomplete;
0.3. the right to object. You have the right to object to our processing of your Personal Data;
0.4. the right of restriction. You have the right to request that we restrict the processing of your personal information;
0.5. the right to data portability. You have the right to be provided with a copy of your Personal Data in a structured, machine-readable and commonly used format;
0.6. the right to withdraw consent. You also have the right to withdraw your consent at any time where we rely on your consent to process your personal information;
Please note that we may ask you to verify your identity before responding to such requests. Please note, we may not able to provide Service without some necessary data.
You have the right to complain to a Data Protection Authority about our collection and use of your Personal Data. For more information, please contact your local data protection authority in the European Economic Area (EEA).

11. Your Data Protection Rights under the California Privacy Protection Act (CalOPPA)

CalOPPA is the first state law in the nation to require commercial websites and online services to post a privacy policy. The law’s reach stretches well beyond California to require a person or company in the United States (and conceivable the world) that operates websites collecting personally identifiable information from California consumers to post a conspicuous privacy policy on its website stating exactly the information being collected and those individuals with whom it is being shared, and to comply with this policy.

According to CalOPPA we agree to the following:
0.1. users can visit our site anonymously;
0.2. our Privacy Policy link includes the word “Privacy”, and can easily be found on the home page of our website;
0.3. users will be notified of any privacy policy changes on our Privacy Policy Page;
0.4. users are able to change their personal information by emailing us at eradioindia@gmail.com.

Our Policy on “Do Not Track” Signals:
We honor Do Not Track signals and do not track, plant cookies, or use advertising when a Do Not Track browser mechanism is in place. Do Not Track is a preference you can set in your web browser to inform websites that you do not want to be tracked.

You can enable or disable Do Not Track by visiting the Preferences or Settings page of your web browser.

12. Your Data Protection Rights under the California Consumer Privacy Act (CCPA)

If you are a California resident, you are entitled to learn what data we collect about you, ask to delete your data and not to sell (share) it. To exercise your data protection rights, you can make certain requests and ask us:

0.1. What personal information we have about you. If you make this request, we will return to you:
0.0.1. The categories of personal information we have collected about you.
0.0.2. The categories of sources from which we collect your personal information.
0.0.3. The business or commercial purpose for collecting or selling your personal information.
0.0.4. The categories of third parties with whom we share personal information.
0.0.5. The specific pieces of personal information we have collected about you.
0.0.6. A list of categories of personal information that we have sold, along with the category of any other company we sold it to. If we have not sold your personal information, we will inform you of that fact.
0.0.7. A list of categories of personal information that we have disclosed for a business purpose, along with the category of any other company we shared it with.

Please note, you are entitled to ask us to provide you with this information up to two times in a rolling twelve-month period. When you make this request, the information provided may be limited to the personal information we collected about you in the previous 12 months.

0.2. To delete your personal information. If you make this request, we will delete the personal information we hold about you as of the date of your request from our records and direct any service providers to do the same. In some cases, deletion may be accomplished through de-identification of the information. If you choose to delete your personal information, you may not be able to use certain functions that require your personal information to operate.

0.3. To stop selling your personal information. We don’t sell or rent your personal information to any third parties for any purpose. We do not sell your personal information for monetary consideration. However, under some circumstances, a transfer of personal information to a third party, or within our family of companies, without monetary consideration may be considered a “sale” under California law. You are the only owner of your Personal Data and can request disclosure or deletion at any time.

If you submit a request to stop selling your personal information, we will stop making such transfers.

Please note, if you ask us to delete or stop selling your data, it may impact your experience with us, and you may not be able to participate in certain programs or membership services which require the usage of your personal information to function. But in no circumstances, we will discriminate against you for exercising your rights.

To exercise your California data protection rights described above, please send your request(s) by email: eradioindia@gmail.com.

Your data protection rights, described above, are covered by the CCPA, short for the California Consumer Privacy Act. To find out more, visit the official California Legislative Information website. The CCPA took effect on 01/01/2020.

13. Service Providers

We may employ third party companies and individuals to facilitate our Service (“Service Providers”), provide Service on our behalf, perform Service-related services or assist us in analysing how our Service is used.

These third parties have access to your Personal Data only to perform these tasks on our behalf and are obligated not to disclose or use it for any other purpose.

14. Analytics

We may use third-party Service Providers to monitor and analyze the use of our Service.

15. CI/CD tools

We may use third-party Service Providers to automate the development process of our Service.

16. Advertising

We may use third-party Service Providers to show advertisements to you to help support and maintain our Service.

17. Behavioral Remarketing

We may use remarketing services to advertise on third party websites to you after you visited our Service. We and our third-party vendors use cookies to inform, optimise and serve ads based on your past visits to our Service.

18. Payments

We may provide paid products and/or services within Service. In that case, we use third-party services for payment processing (e.g. payment processors).

We will not store or collect your payment card details. That information is provided directly to our third-party payment processors whose use of your personal information is governed by their Privacy Policy. These payment processors adhere to the standards set by PCI-DSS as managed by the PCI Security Standards Council, which is a joint effort of brands like Visa, Mastercard, American Express and Discover. PCI-DSS requirements help ensure the secure handling of payment information.

19. Links to Other Sites

Our Service may contain links to other sites that are not operated by us. If you click a third party link, you will be directed to that third party’s site. We strongly advise you to review the Privacy Policy of every site you visit.

We have no control over and assume no responsibility for the content, privacy policies or practices of any third party sites or services.

For example, the outlined Privacy Policy has been made using PolicyMaker.io, free tool that helps create high-quality legal documents. PolicyMaker’s free online privacy policy generator is an easy-to-use tool for creating a privacy policy for website, blog, e-commerce store or app.

20. Children’s Privacy

Our Services are not intended for use by children under the age of 18 (“Child” or “Children”).

We do not knowingly collect personally identifiable information from Children under 18. If you become aware that a Child has provided us with Personal Data, please contact us. If we become aware that we have collected Personal Data from Children without verification of parental consent, we take steps to remove that information from our servers.

21. Changes to This Privacy Policy

We may update our Privacy Policy from time to time. We will notify you of any changes by posting the new Privacy Policy on this page.

We will let you know via email and/or a prominent notice on our Service, prior to the change becoming effective and update “effective date” at the top of this Privacy Policy.

You are advised to review this Privacy Policy periodically for any changes. Changes to this Privacy Policy are effective when they are posted on this page.

22. Contact Us

If you have any questions about this Privacy Policy, please contact us by email: eradioindia@gmail.com.

error: Copyright: mail me to info@eradioindia.com