Kanohar Lal Mahila Vidyalay में Environment बचाने पर चर्चा

डॉ किरण प्रदीप एवं डॉ वेणु वनिता ने सजाया सुंदर कार्यक्रम

Kanohar Lal Mahila Vidyalay में Environment बचाने पर चर्चा
Kanohar Lal Mahila Vidyalay में Environment बचाने पर चर्चा
  • कल्चरल डेस्क, मेरठ

Kanohar Lal Mahila Vidyalay के कल्चरल एक्टिविटी क्लब द्वारा साेमवार 28 जून को राष्ट्रीय वेबीनार का आयोजन किया गया, जिसका विषय था सेव एनवायरनमेंट सेव फ्यूचर। यह राष्ट्रीय बेबिनार गूगल मीट एवं यूट्यूब द्वारा संचालित किया गया। मानवीय जीवन के आरम्भ से ही मनुष्य एवं पर्यावरण में आपसी संबंध बना हुआ है। मनुष्य का जीवन प्रकृति पर निर्भर करता है।

अत: उसके अस्तित्व के लिये प्राकृतिक परिवेश अनिवार्य है। भारतीय संस्कृति में प्रकृति ‘पृथ्वी’ को माँ कहा गया है। ‘माता भूमि: पुत्रो अहं पृथिव्या’अर्थात पृथ्वी हमारी माँ है और हम पृथ्वी के पुत्र हैं। चूँकि पृथ्वी माता रूप में संपूर्ण ब्रह्मांड के जीवों का पालन पोषण करती है। अत: इसका संरक्षण करना हमारा नैतिक कर्तव्य है।

Advertisement

Kanohar Lal Mahila Vidyalay के कार्यक्रम के मुख्य बन विशिष्ट अतिथि डॉ राजीव कुमार गुप्ता (क्षेत्रीय शिक्षा अधिकारी मेरठ) ने अपने उद्बोधन में बताया कि विकास के नाम पर पर्यावरण के साथ जो खिलवाड़ हो रहा है उसके तमाम प्रतिकूल प्रभाव हम सभी के सम्मुख हैं। वर्तमान कोविड-19 में ऑक्सीजन की कमी ने हम सभी को झकझोर दिया है, साथ ही गुप्ता सर ने प्लास्टिक प्रदूषण एवं ग्लोबल वार्मिंग के विषय में भी अपने व्याख्यान मैं बताया।

राजीव सर (बुक बैंक) जिसमें अपनी पुरानी पुस्तकों को डोनेट कर सकते हैं के विषय में भी छात्राओं को बताया तथा पेड़ लगाने के लिए एक नारे के माध्यम “खुशी हो या गम पेड़ लगाए हम” से छात्राओं को प्रोत्साहित किया।

Kanohar Lal Mahila Vidyalay के कार्यक्रम में क्या बोले वक्ता

बेबिनार मे प्रथम अतिथि वक्ता प्रोफेसर राणा प्रताप सिंह बाबा साहब अंबेडकर विश्वविद्यालय लखनऊ अपने ज्ञानवर्धक विचार प्रस्तुत किए और छात्राओं को पर्यावरण संरक्षण और जागरूक पर वर्तमान परिस्थितियों पर प्रकाश डालते हुए उपाय बताएं।सर्वप्रथम हमें जनाधिक्य को नियंत्रित करना होगा। दूसरे जंगलों व पहाड़ों की सुरक्षा पर ध्यान दिया जाए। साथ ही बताया कि पर्यावरण संकट क्या है? इकोसिस्टम क्या है? क्या इसके चुनौतियां हैं? एवं इसके राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर क्या प्रयास किए जा रहे हैं।

देखने में जाता है कि पहाड़ों पर रहने वाले लोग कई बार घरेलू ईंधन के लिए जंगलों से लकड़ी काटकर इस्तेमाल करते हैं जिससे पूरे के पूरे जंगल स्वाहा हो जाते हैं। कहने का तात्पर्य है जो छोटे-छोटे व बहुत कम आबादी वाले गांव हैं उन्हें पहाड़ों पर सड़क, बिजली-पानी जैसे सुविधाएं मुहैया कराने से बेहतर है उन्हें प्लेन में विस्थापित करें। इससे पहाड़ व जंगल कटान कम होगा, साथ ही पर्यावरण भी सुरक्षित रहेगा।

CM Arogya Mela Yojana

पर्यावरण की चुनौतियों पर डॉ आलोक ने दिया व्याख्यान

द्वितीय अतिथि वक्ता डॉ आलोक कुमार खरे अध्यक्ष बॉटनी विभाग बरेली कॉलेज बरेली ने अपने विचार छात्राओं के समक्ष रखें और पावर पॉइंट प्रेजेंटेशन के माध्यम से पर्यावरण संरक्षण की चुनौतियां के विषय में सारगर्भित व्याख्यान प्रस्तुत किया। वर्तमान में पर्यावरण की स्थिति एवं प्रदूषण इस समस्या को सबके सामने रखते हुए बताया कि भविष्य में यदि हमने पर्यावरण को ना बचाया तो हमारे लिए कितनी समस्याएं खड़ी हो जाएगी।

वर्तमान में पर्यावरण चेतना के प्रति जागरूकता अत्यंत आवश्यक है क्योकि पर्यावरण प्रदूषित हो जाने से ग्लोबल वार्मिग की समस्या उत्पन्न हो गई है. इसको रोकने के लिए पर्यावरण संरक्षण व पर्यावरण शिक्षा का प्रचार जरुरी है. हमारे देश में पर्यावरण संरक्षण की दिशा में कई अहम कदम उठाए गये है जिनमे खेजड़ली आंदोलन, चिपकों आंदोलन, अप्पिको आंदोलन, शांतघाटी आंदोलन और नर्मदा बचाओ आंदोलन पर्यावरण संरक्षण के प्रति जागरूकता के ही परिचायक है।

डॉ किरण प्रदीप एवं डॉ वेणु वनिता ने सजाया सुंदर कार्यक्रम

कार्यक्रम का शुभारंभ एवं अध्यक्षता महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ किरण प्रदीप ने अपने अनुमति से की। कार्यक्रम का संयोजन एवं संचालन कल्चरल एक्टिविटी क्लब की समन्वयक डॉ वेणु वनिता ने किया।कार्यक्रम के प्रारंभ में डॉ रुचि मिश्रा ने मंगलाचरण की प्रस्तुति की।

कार्यक्रम के सफल संचालन में डॉ शुभा मालवीय एवं श्रीमती सोनिका नागर ने अतिथियों का परिचय पढ़कर अपनी सहभागिता की। वेबीनार में महाविद्यालय की सभी शिक्षिकाओं ने भाग लिया साथ ही कार्यक्रम में तकनीकी व्यवस्था श्रीमान दीपक राठी जी ने संचालित की। यह कार्यक्रम बहुत ही ज्ञानवर्धक एवं उपयोगी रहा। ऑनलाइन वेबीनार में लगभग 300 प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया।

डिजिटल दुनिया में अपनी उपस्थिति करें और भी मजबूत-

अगर आपके व्यवसाय, कम्पनी या #प्रोडक्ट की ब्राडिंग व #प्रमोशन अनुभवी टीम की देखरेख में #वीडियो, आर्टिकल व शानदार ग्राफिक्स द्वारा किया जाये तो आपको अपने लिये ग्राहक मिलेगें साथ ही आपके ब्रांड की लोगों के बीच में चर्चा होनी शुरू हो जायेगी।
साथियों, वीडियो और #आर्टिकल के माध्यम से अपने व्यापार को Eradio India के विज्ञापन पैकेज के साथ बढ़ायें। हम आपके लिये 24X7 काम करने को तैयार हैं। सोशल मीडिया को हैंडल करना हो या फिर आपके प्रोडक्ट को कस्टमर तक पहुंचाना, यह सब काम हमारी #एक्सपर्ट_टीम आपके लिये करेगी।

इस पैकेज में आपको इन सुविधाओं का लाभ मिलेगा-

  • आपकी ब्रांड के प्रचार के लिए 2 वीडियो डॉक्यूमेंट्री।
  • 2 सोशल मीडिया एकाउंट बनाना व मेंटेन करना।
  • 8 ग्राफिक्स डिज़ाइन की शुभकामना व अन्य संदेश का विज्ञापन।
  • फेसबुक विज्ञापन और Google विज्ञापन, प्रबंधन।
  • नियमित प्रोफ़ाइल को मेंटेन करना।
  • नि:शुल्क ब्रांड लोगो डिजाइन (यदि आवश्यक होगा तो)।
  • परफेक्ट हैशटैग के साथ कंटेंट लिखना और प्रभावशाली पोस्टिंग।
  • कमेंट‍्स व लाइक्स काे मैंनेज करना।
  • www.eradioindia.com पर पब्लिश की जाने वाली न्यूज में आपका विज्ञापन नि:शुल्क दिया जायेगा।
  • अभी ह्वाट‍्सअप करें: 09458002343
  • ईमेल करें: [email protected]