ऑपरेशन-420: नौकरी का झांसा देने वाले 2 शातिर गिरफ़्तार

202
ऑपरेशन-420: नौकरी का झांसा देने वाले 2 शातिर गिरफ़्तार
ऑपरेशन-420: नौकरी का झांसा देने वाले 2 शातिर गिरफ़्तार
  • साइबर क्राइम सेल और साहिबाबाद पुलिस की संयुक्त टीम द्वारा की शातिर ठगों की गिरफ़्तारी
  • देश-विदेश में स्थित बड़ी-बड़ी कंपनियों में अच्छे पदों पर नौकरी दिलाने के नाम पर कर चुके हैं अभियुक्त गण सैकड़ों लोगों से करोड़ों रुपए की ठगी
  • फाईज़ अली सैफी || ई-रेडियो इंडिया

गाज़ियाबाद। एसएसपी कलानिधि नैथानी ने शातिर ठगों के विरुद्ध ऑपरेशन-420 अभियान चलाया हुआ हैं। जिसके अंतर्गत साइबर क्राइम सेल गाज़ियाबाद और साहिबाबाद पुलिस की संयुक्त टीम ने दो शातिर ठगों को गिरफ़्तार कर लिया हैं, जोकि वांछित चल रहे थे। पुलिस को इनके पास से एक चेक बुक, पांच मोबाइल फोन और एक कार भी बरामद हुई हैं। पुलिस को पकड़े गए शातिर ठगों ने अपना नाम सोनवीर उर्फ सोनू पुत्र मुरलीधर निवासी थाना राया मथुरा और दूसरे ने अजीत पुत्र सुरेंद्र निवासी थाना जमुनापार मथुरा बताया हैं।

आपको बताते चलें कि शादी ठगों ने थाना साहिबाबाद क्षेत्र से 39 लाख रुपए की ठगी की थी। जिसके संबंध में अभियुक्त गणों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज किया गया था। जिसमें अभियुक्त गण वांछित चल रहे थे। वहीं, दूसरी तरफ पकड़े गए अभियुक्त गणों के साथी श्याम सुंदर पुत्र मुरलीधर निवासी थाना साया और एक अभियुक्ता थाना सेक्टर-20 गौतम बुधनगर पूर्व में जेल जा चुके हैं।

दरअसल, पूछताछ करने पर अभियुक्त गणों ने बताया कि वह टाटा ग्रुप और अन्य कंपनियों में पढ़ने-लिखने वाले लोगों को देश-विदेश में अच्छे पदों पर नौकरी दिलाने के नाम पर बेरोजगार लोगों को फर्जी नंबरों से कॉल करके अपने परिचित लोगों के खाते में पैसा डलवाया करते थे। इतना ही नहीं, खातों में पैसा आने के बाद तुरंत ही अभियुक्त गण एटीएम/चेक से उस पैसे को निकाल लिया करते थे। इसके अलावा अभियुक्त गण ठगी करने में इस्तेमाल किए गए सिम कार्ड और मोबाइल फोन को भी तोड़कर फेंक दिया करते थे।

थाना साहिबाबाद अतिरिक्त निरीक्षक रमेश चंद्र सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि अभियुक्त गण अब तक सैकड़ों लोगों को कॉल करके लगभग करोड़ों रुपए की ठगी कर चुके हैं। पुलिस ने इनके विरुद्ध कानूनी कार्रवाई करके इनको जेल भेज दिया हैं।

Advertisement