सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र दौराला में हुआ जनजागरूकता शिविर का आयोजन

  • मेरठ

 मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा0 अखिलेश मोहन ने बताया कि राष्ट्रीय मानसिक स्वास्थ्य कार्यक्रम के अंतर्गत जनपद मानसिक स्वास्थ्य प्रकोष्ठ एवं मानसिक रोग विभाग द्वारा दिनांक 20 सितम्बर से 26 सितम्बर 2021 को विश्व अल्जाइमर दिवस एवं राष्ट्रीय डिमेन्शिया जागरूकता सप्ताह के रूप में मनाया जा रहा है।

जिसका मुख्य उद्देश्य पूरे विश्व में अल्जाइमर्स, डिमेन्शिया एवं अन्य प्रकाश के डिमेन्शिया के प्रति जनजागरूकता पैदा करना है। उन्होने बताया कि जनपद के विभिन्न स्थानों पर विभिन्न कार्यक्रमो यथा स्कूल कार्यक्रम, अर्बन स्लम क्षेत्र शिविर, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर संगोष्ठी, जागरूकता शिविर का आयोजन किया जा रहा है।

Advertisement

आज सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र दौराला में एक विशाल जनजागरूकता शिविर का आयोजन किया गया जिसका उद्घाटन नोडल मानसिक स्वास्थ्य कार्यक्रम डा0 पूजा शर्मा द्वारा किया गया। उन्होने बताया कि आयोजित शिविर में आने वाले समस्त जनमानस को डा0 पूजा शर्मा ने शिविर में उपस्थित सभी मरीजो से बात करते हुये वृद्धावस्था में होने वाले मानसिक रोग

अल्जाइमर्स के लक्षण व उपचार के विषय में विस्तृत जानकारी प्रदान की साथ ही मनोरोग विशेषज्ञ डा0 कमलेन्द्र किशोर ने बताया कि इस बीमारी में याददाश्त व सोचने की क्षमता कमजोर पड जाती है। सामान्य भाषा में इसे भूलने की बीमारी कहा जाता है और समय के साथ-साथ यह बीमारी बढ़ती जाती है व रोगी को अपने रोजमर्रा की आवश्यकताओ व कार्यों को करने में असुविधा होने लगती है। 

इसके उपचार हेतु विशेषज्ञो ने बताया कि हमें बुजुर्गों की देखभाल के साथ-साथ उनका सम्मान भी करना चाहिए और उनकी जरूरतो व दिक्कतो को समझ कर उनसे बात कर सहयोग करना चाहिए साथ ही समय रहते अगर इस बीमारी की पहचान व इलाज हो जाए तो रोगी के जीवन की गुणवत्ता में बढोत्तरी की जा सकती है। उन्होने बताया कि प्रत्येक सप्ताह सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र दौराला पर मन चेतना दिवस का आयोजन प्रारंभ किया जा रहा है।

समें आने वाले मरीजो को मानसिक स्वास्थ्य से संबंधित समस्त जानकारी निःशुल्क प्रदान की जायेगी। इस अवसर पर सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र दौराला के चिकित्सा अधीक्षक डा0 विपुल, डा0 अमित कुमार व अन्य स्टाफ और एनसीडी प्रकोष्ठ से वर्षा देवी सुदेश पाल व मोहित भारद्वाज आदि उपस्थित रहे।