South China Sea Dispute Latest News || साउथ चाइना समुद्र विवाद क्या है? अमेरिका क्यों करेगा चीन पर हमला

0
63
नई दिल्ली। साउथ चाइना सी के मुद्दे पर चीन और अमेरिका के बीच विवाद गहराता जा रहा है. चीन और अमेरिका के बीच हालात तनावपूर्ण बने हुए हैं. चीन चारों तरफ से घिर चुका है. चीन को घेरने की सबसे बड़ी तैयारी समंदर में की जा रही है. यही वजह है कि अब चीन भी अपनी तरफ से अमेरिका समेत ब्रिटेन, ऑस्ट्रेलिया का सामना करने की तैयारी कर रहा है. अमेरिका के विदेश मंत्री माइ​क पोम्पियो ने चीन को लेकर बड़ा बयान दिया है. पोम्पियो ने ट्वीट कर कहा, ‘दक्षिण चीन सागर चीन का समुद्री साम्राज्य नहीं है और अब स्वतंत्र राष्ट्रों को एक साथ आना होगा.’ 

दरअसल, कोरोना से शुरुआत हुई चीन-अमेरिका की कोल्डवॉर अब ऐसे मोड़ पर आ चुकी है जहां दोनों देशों के बीच हालात युद्ध जैसे हो चुके हैं. अमेरिका तैयारी कर चुका है. देशों के साथ सहयोग हो या फिर युद्धपोत की तैनाती या कॉन्सुलेट बंद करने का ऐलान, चीन की घेराबंदी चारों तरफ से है. वहीं एक जगह जहां सबसे ज्यादा तनावपूर्ण हालात हैं, वो है साउथ चाइना सी.

साउथ चाइना सी में अमेरिका के युद्धपोत तैनात है. लगातार युद्धाभ्यास किए जा रहे हैं. अमेरिका के अलावा जापान, ऑस्ट्रेलिया भी अपनी समुद्री ताकत चीन को दिखा चुके हैं. और अब असर ये है कि चीन भी बड़ी तैयारी करने में जुट गया है.

खबर ये है कि चीन दो नए एडवांस्ड एयरक्राफ्ट कैरियर्स बनाने में लगा है. चीन के दो नए एयरक्राफ्ट कैरियर्स अत्याधुनिक तकनीकों से लैस होंगे जो अगले साल तक तैयार होंगे. साउथ चाइना सी में अमेरिका और जापान की बढ़ती दखलअंदाजी को रोकने के लिए चीन इस समय नेक्स्ट जेनरेशन के दो एयरक्राफ्ट कैरियर्स का निर्माण कर रहा है. टाइप 002 क्लास का यह एयरक्राफ्ट कैरियर चीन का अपनी तरह का तीसरा जंगी जहाज होगा. इन जहाजों को बनाने का काम तेजी से चल रहा है.

चीन ये जान और समझ चुका है कि अगर विश्व युद्ध तो हुआ तो समंदर उसमें कितना अहम हो सकता है और उसे सबसे ज्यादा चुनौती फिलहाल समंदर से ही मिल रही है. भारत, ऑस्ट्रेलिया, जापान, ब्रिटेन, ताइवान, अमेरिका समेत कई देशों ने अपनी तैयारी पूरी की हुई है जिसके जवाब में अब चीन ये कदम उठाने की सोच रहा है.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, दोनों एयरक्राफ्ट कैरियर्स की असेंबलिंग की प्रक्रिया तेजी से चल रही है और चीन इन एयरक्राफ्ट कैरियर्स को आधुनिक तकनीक से लैस करने में लगा है. टाइप 002 क्लास के नए एयरक्राफ्ट कैरियर में दुनिया का सबसे एडवांस इलेक्ट्रो मैग्नेटिक एयरक्राफ्ट लॉन्च सिस्टम लगा होगा. ये सिस्टम यूएस नेवी के नई पीढ़ी की यूएसएस गेराल्ड आर फोर्ड क्लास के एयरक्राफ्ट कैरियर में लगी तकनीक के जैसा है. इसी की मदद से भारी भरकम जहाजों को छोटे से रनवे से टेकऑफ के दौरान हवा में प्रक्षेपित किया जाता है.

अमेरिका ने पहले ही ताइवान के पास अपने तीन न्यूक्लियर एयरक्राफ्ट कैरियर को तैनात किया है जिसमें से दो ताइवान और बाकी मित्र देशों के साथ युद्धाभ्यास कर रहे हैं, वहीं तीसरा एयरक्राफ्ट कैरियर जापान के द्वीपों के पास गश्त लगा है.

चीन जानता है कि उसका सामना कितनी बड़ी ताकत से है. अमेरिका के इन युद्दपोतों के सिर्फ युद्दाभ्यास से ही चीन को इनकी ताकत का अंदाजा हो गया था. अगर अमेरिका की बात करें तो अमेरिका के पास दुनिया की सबसे आधुनिक सेना और हथियार हैं. 137 देशों की सूची में आर्मी, नेवी और एयरफोर्स के मामले में अमेरिका दुनिया के बाकी देशों से बहुत आगे है. अमेरिका के दुनिया में 800 सैन्य ठिकाने हैं.

चीन को ना सिर्फ साउथ चाइना सी बल्कि हिंद महासागर में भारत और ईस्ट चाइना सी में जापान से खतरा है. क्योंकि यहां भी चीन का अतिक्रमण रोकने के लिए बड़ी तैयारी की गई है. वहीं ब्रिटेन भी अब साउथ चाइना सी में आ चुका है. जापान में अमेरिका की तीन सेनाएं मौजूद हैं.

एयरक्राफ्ट कैरियर क्या होते हैं ?

समंदर में मौजूद अस्थाई युद्धपोत को एयरक्राफ्ट कैरियर कहते हैं. इनमें लड़ाकू विमानों को उड़ाने और उतारने की क्षमता होती है. 60 से 90 लड़ाकू विमान और हेलीकॉप्टर्स को इनमें आसानी से उतारा जा सकता है. इनमें हवा में मार करनेवाली मिसाइलों के साथ-साथ रडार भी मौजूद होते हैं. ये एयरक्राफ्ट कैरियर समंदर पर तैरते किसी छोटे शहर के तरह लगते हैं. किसी भी हालात में समंदर में कई महीनों तक तैनात रहने की इनमें क्षमता होती है. किसी भी देश की सबसे बड़ी रणनीतिक ताकत का सबसे अहम हिस्सा होते हैं एयरक्राफ्ट कैरियर.

…………………………
south china sea dispute,
south china sea news,
south china sea war,
south china sea latest news in hindi,
south china sea map,
south china sea buaina,
south china sea conflict,
south china sea in hindi,
south china sea america,
south china sea and india,
south china sea ashirwad sir,
south china sea area,
south china sea america vs china,
south china sea attack,
south china sea a buaina,
south china sea by study iq,
south china sea china vs usa,
south china sea conflict study iq,
south china sea current news,
south china sea dispute in hindi,
south china sea dispute upsc,
south china sea dispute explained,
south china sea documentary,
south china sea dispute study iq,
south china sea drishti ias,
south china sea dispute in tamil,
south china sea explained,
south china sea exercise,
south china sea expansion,
south china sea encounter,
south china sea escalation,
south china sea economist,
south china sea exercise 2020,
south china sea fight,
south china sea for upsc,
south china sea fishing,
south china sea footage,
south china sea facts,
south china sea face off,
south china sea firing,
south china sea geography,
south china sea geopolitics,
south china sea gravitas,
south china sea geography now,
south china sea global times,
south china sea gyan jara hatke,
south china sea geopolitical significance upsc,
south china sea hindi,
south china sea hindi news,
south china sea history,
south china sea hindi mein,
south china sea history in hindi,
south china sea hausakna,
south china sea has assumed great geopolitical significance in the present context,
south china sea hot news,
south china sea kya h,
south china sea issue,
south china sea islands,
south china sea india,
south china sea in mizo,
south china sea issue study iq,
south china sea in map,
south china sea in tamil,
i witness south china sea

Send Your News to +919458002343 email to eradioindia@gmail.com for news publication to eradioindia.com