सल्फर का लाभ उठा रहे किसान, देवेंद्र ने दिखाया रास्ता

243
सल्फर का लाभ उठा रहे किसान, देवेंद्र ने दिखाया रास्ता
सल्फर का लाभ उठा रहे किसान, देवेंद्र ने दिखाया रास्ता
  • तकनीक के कारण बेनसल्फ सुपरफास्ट कम नमी की स्थिति में भी प्रभावी

मुजफ्फरनगर। जब अधिकांश स्थानीय गन्ना किसानों ने अपनी उपज की गुणवत्ता और वजन में कमी के चलते खुद को लाचार पाया तो शामली के जाने-माने किसान देवेंद्र सिंह ने उन्हें (किसानों को) उच्च उपज और गुणवत्ता प्राप्त करने का रास्ता दिखाया।

श्री सिंह ने उन कृषि विशेषज्ञों पर ध्यान दिया, जिन्होंने पौधों की वृद्धि और विकास में सल्फर की भूमिका पर जोर दिया है। उनके अनुसार सल्फर, फसलों हेतु नाइट्रोजन, फास्फोरस और पोटाश के बाद चौथा प्रमुख पोषक तत्व है, जो पत्तियों में क्लोरोफिल के निर्माण में मदद करता है और पौधों में एंजाइम की उत्पादकता बढ़ाता है। यह कार्बोहाइड्रेट और प्रोटीन के निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

बताया कि मैंने अपनी गन्ने की फसल में महाधन बेनसल्फ सुपरफास्ट इस्तेमाल किया था, जिसके कारण गन्ने की मोटाई अधिक मिली। गन्ने में रस एवं वजन ज्यादा था। जिसके कारण मुझे अन्य खेत जिसमें बेनसल्फ उपयोग नहीं किया था, उसकी तुलना में 50 कुंटल प्रति एकड़ अधिक उपज प्राप्त हुई। जिससे मुझे लगभग 15400 रुपये का अतिरिक्त शुद्ध मुनाफा प्रति एकड़ प्राप्त हुआ। शोध और सर्वेक्षणों से पता चलता है कि कई भारतीय राज्यों में सल्फर की कमी है। इसलिए, सल्फर उर्वरकों का उपयोग हमारे देश में अब एक आम बात हो गई है। अब शामली जिले के किसान सल्फर का लाभ उठा रहे हैं।

बाजार में कई प्रकार के सल्फर युक्त उर्वरक और बेंटोनाइट सल्फर उपलब्ध हैं। हालांकि, कई किसानों की प्रतिक्रिया के अनुसार, बेनसल्फ सुपरफास्ट गन्ने के लिए सबसे प्रभावी उर्वरक की तरह एक अगुआ के रूप में उभरा है। यह सल्फर युक्त दानेदार उर्वरक है, जिसमें 90 प्रतिशत सल्फर होता है। इसकी सुपरफास्ट रिलीज (तेजी से घुलने वाली) तकनीक के कारण, बेनसल्फ सुपरफास्ट कम नमी की स्थिति में भी प्रभावी है।

यह दानेदार सल्फर तेजी से घुलता है (डालने के 4 से 5 दिन बाद) और लंबी अवधि (फसल के 75वें दिन तक) तक काम करता रहता है। महाधन बेनसल्फ सुपरफास्ट का उपयोग करने वाले स्थानीय किसानों ने स्वीकार किया कि बुवाई के समय 15 किलोग्राम प्रति एकड़ की दर से उपयोग करने पर यह बहुत फायदेमंद है।