चेयर पर्सन व सभासदों का विवाद पहुंचा विधायक के दरबार 

सरधना (मेरठ)। खिवाई नगर पंचायत प्रशासन व चेयर पर्सन के साथ सभासदों का चला आ रहा विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। सामूहिक इस्तीफे की पेशकश के बाद अब नगर पंचायत के सभी 18 सभासदों ने क्षेत्रीय विधायक के यहां परेड करते हुए नगर पंचायत प्रशासन व चेयर पर्सन की मनमानी के खिलाफ झंडा बुलंद करते हुए शिकायत कर कार्यवाही की मांग रखी है। कस्बा खिवाई नगर पंचायत प्रशासन अध्यक्ष व सभासदों के बीच विवाद बढ़ता ही नजर आ रहा है।

हालांकि इस मामले में विधायक ने हस्तक्षेप करते हुए सभासदों को जांच के बाद कार्यवाही का भरोसा दिलाते हुए फिलहाल मामला शांत करा दिया है।  गौरतलब है कि कस्बा खिवाई में चेयरपर्सन रंगीला बेगम की मनमानी और नगर पंचायत प्रशासन की हीला हवाली के चलते नगर पंचायत में रुके पड़े विकास कार्यों के विरोध में सभासद लामबंद होते नजर आ रहे हैं। पिछले एक पखवाड़े से लगातार हंगामा प्रदर्शन कर सभासद विरोध जता चुके हैं।

Advertisement

एकजुट हुए सभासद नगर पंचायत की अध्यक्षा रंगीला बेगम पर मनमाने तरीके से विकास कार्य कराने का आरोप लगाते हुए कई बार हंगामा किया है,तो वहीं नगर पंचायत की अधिशासी अधिकारी पर भी हीला हवाली का आरोप लगाते हुए नगर पंचायत में पैसे होने के बावजूद चंदा इकट्ठा करके विकास कराने पर मजबूर होने के बाद रखते हुए कई बार बखेड़ा खड़ा कर चुके हैं। इसे लेकर पिछले एक पखवाड़े से नगर पंचायत के लामबंद हुए सभासद सामूहिक ठप पड़े विकास कार्य नहीं होने और अध्यक्ष की मनमानी से तंग आकर हंगामा प्रदर्शन कर सामूहिक इस्तीफे की पेशकश कर चुके हैं।

लेकिन इसे लेकर नगर पंचायत प्रशासन या अध्यक्ष रंगीला बेगम की ओर से वार्ता के लिए कोई न्यौता नहीं आने के कारण सभासद गण खफा हैं। इस मामले को लेकर अब विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है।  जिसके चलते सोमवार को नगर पंचायत प्रशासन के सभी 18 सभासदों ने क्षेत्रीय भाजपा विधायक जितेंद्र सतवाई के यहां पर परेड करते हुए नगर पंचायत अध्यक्षा पर गंभीर आरोप लगाए हैं।

और कस्बे में मुंह देखकर विकास कराने का आरोप लगाते हुए घोटाला करने के भी गंभीर आरोप जड़े हैं,तो वहीं नगर पंचायत के अधिशासी अधिकारी पर हीला हवाली का आरोप लगाते हुए नगर पंचायत को लावारिस छोड़ने के आरोप जड़े हैं। सभासदों ने क्षेत्रीय विधायक को लिखित शिकायत करते हुए कार्यवाही की मांग की है। इसे लेकर विधायक ने मामले को संज्ञान लेते हुए कार्यवाही का भरोसा दिलाया है। जिसे लेकर या विवाद अब विधायक दरबार में जाने के बाद बढ़ता नजर आ रहा है।