Biography of Dr DM Mishra | कवि डॉ डीएम मिश्र का जीवन परिचय

239
Biography of Dr DM Mishra | कवि डॉ डीएम मिश्र का जीवन परिचय
Biography of Dr DM Mishra | कवि डॉ डीएम मिश्र का जीवन परिचय
  • संवाददाता, सुल्तानपुर

Biography of Dr DM Mishra: जनपद सुल्तानपुर के कवि एवं गजलकार डॉ. डीएम मिश्र आज किसी परिचय के मोहताज नहीं हैं। उनके बारे में लोग अक्सर जानना व उनकी गजलों को पढ़ना चाहते हैं। यहां आज उनके ही बारे में विस्तार से बताने जा रहे हें-

  • कवि रूप में नाम – डी एम मिश्र
  • पूरा नाम – डॉ डींगुर मल मिश्र
  • जन्म- 15 अक्तूबर 1950
  • पिता का नाम – स्व श्री रामपति मिश्र
  • माता का नाम – स्व श्रीमती रघुराजी कुंवर
  • जन्म स्थान – ग्राम मरखापुर पोस्ट बिझूरी जिला सुलतापुर उ प्र।
  • शिक्षा- एम एससी पीएच डी ज्योतिषरत्न ।
  • सम्प्रति – गजल, गीत, कविता, लेख का नियमित लेखन परन्तुE, जनधर्मी तेवर के ग़ज़लकार के रूप में विशेष ख्या ति ।
  • प्रकाशित साहित्य
  • देश की प्रतिष्ठित पत्र- पत्रिकाओं में 500 से अधिक गीत, ग़ज़ल, कविता व लेख प्रकाशित।

प्रकाशित पुस्तकें

कविता की छ और गजल की चार पुस्तरके प्रकाशित।

  • आदमी की मुहर, कविता संग्रह लहरों के हस्ताक्षर, कविता संग्रह
  • टेम्पो वाला छोरा, कविता संग्रह
  • मंगरू का नज़ला, कविता संग्रह
  • इज़्ज़तपुरम्, कविता संग्रह
  • यह भी एक रास्ताा है, कविता संग्रह
  • उजाले का सफर, ग़ज़ल संग्रह
  • रोशनी का कारवाँ, ग़ज़ल संग्रह
  • आईना -दर -आईना, ग़ज़ल संग्रह
  • वो पता ढॅूढें हमारा, ग़ज़ल संग्रह
  • लेकिन सवाल टेढ़ा है, ग़ज़ल संग्रह

पुरस्कार:सम्मान

  • जायसी पंचशती सम्मान अवधी अकादमी 1995
  • दीपशिखा सम्मान दीपशिखा साहित्य एवं 1996 सांस्कृतिक संस्था, सुलतानपुर
  • साहित्य रथी रश्मिरथी साहित्य परिषद मुसाफिरखाना 2005
  • भारती-भूषण सम्मान राष्ट्रीय राजभाषा पीठ इलाहाबाद 2007
  • भारत-भारती संस्थान का – लोक रत्न पुरस्कार 2011
  • प्रशस्ति -प़त्र प्रेमा देवी त्रिभुवन अग्रहरि मेमोरियल ट्रस्ट अमेठी 2015
  • उर्दू अदब का – फ़िराक़ गोरखुपरी एवार्ड 2017,
  • यू पी प्रेस क्लब का -सृजन सम्मान 2017, 9 शहीद वीर अब्दुल हमीद एसोसियेशन द्वारा सम्मान 2018 आदि ।
  • सेवक साहित्य-श्री सम्मान 2019, साहित्य संघ वाराणसी द्वारा।

अन्य साहित्यिक उपलब्धियाँ

राष्ट्रीय स्तर के कुछ प्रमुख संकलनों में भी मेरी रचनाओं ( गीत, ग़ज़ल, कविता, लेख आदि ) को स्थान मिला है । जैसे —

  • युगांत के कवि त्रिलोचन : सुकृति निकुंज लखनऊ सं0 कमलनयन पान्डेेय व डॉ राधेश्याैम सिेह, 2009,
  • पंख तितलियों के : अखिल भारतीय काव्य संकलन,अभिव्यंजना प्रकाशन कानपुर, सं0 उमेश्वर दत्त निशीथ, 2009
  • परम्परा के पडाव पर गाँव : एक्सिस बुक्सक प्रा0लि0 नई दिल्लीं 2, 2015 सं0 कमलनयन पान्डेेय व डॉ राधेश्यापम सिेह,2011
  • शब्द प्रवाह : शब्द प्रवाह साहित्य मंच , 2011 उज्जैन म0प्र0 सं0 संदीप सृजन
  • भष्टाचार के विरूद्ध: अखिल भारतीय साहित्य कला मंच, मुरादाबाद 2012 सं0 डॉ महेश दिवाकर, डॉ मीना कौल
  • दृष्टिकोण : फ्रेन्डस हेल्प लाइन कोटा, राजस्थान, 2012 सं0 नरेन्द्र कुमार चक्रवर्ती
  • प्राची की ओर : प्रज्ञा प्रकाशन विजय नगर,2014 जबलपुर म0प्र0 सं0 राकेश भ्रमर
  • माँ की पुकार : बोधिप्रकाशन, जयपुर, 2014 सं0 हरकीरत हीर
  • बखेडापुर : भारतीय ज्ञानपीठ 2014 लेखक हरेप्रकाश उपाघ्याय
  • शामियाना : संपादक व प्रकाशक अशोक खुराना, विजयनगर कॉलोनी, बदायॅू, 2014
  • अजमल: अदब, अदीब और आदमी :एक्सिस बुक्स, प्रा0लि0 नई दिल्लीं 2, सं0 कमलनयन पान्डेनय व डॉ राधेश्याअम सिेह, 2015
  • वाणी- विनयांजलि: प्रिया प्रकाशन अलवर राजस्थान,2016 सं0 शिवसागर शर्मा भावुक
  • एक तू ही : असीम प्रकाशन, 602 मालीवाडा गाजियाबाद, 2016, सं0 अशोक खुराना
  • आलोचना नही है यह : शिवम प्रकाशन 379 –ए शिवकुटी, इलाहाबाद, 2017 सं0 मत्येॉ म न्द्रड शुक्ल
  • कथाकार अब्दुल बिस्मिल्ला: अनुसंधान पब्लिशर्स एन्डए डिस्टी ब्यू1टर्स कानपुर 2017 सं0 डॉ एम, मूल्यांकन के विविध आयाम : फीरोज खान एव्र डॉ ए के पान्डेनय
  • हिन्दी काव्य के विविध रंग :उत्कॉर्ष पब्लिशर्स एन्ड डिस्टीयब्यू टर्स कानपुर 2017 सं0 डॉ एम फीरोज खान एव्र डॉ ए के पान्डेय
  • समकालीन हिन्दी गजलकार एक अध्ययन
  • खण्ड तीन : भावना प्रकाशन 109 ए पटपडगंज, दिल्ली1 110091 – सं0 हररेाम नेमा ‘’समीप’’, 2018 आदि

आकाशवाणी,दूरदर्शन, आजतक, ई टीवी आदि चैनलो पर अनेक कार्यक्रम प्रसारित ।
अखिल भारतीय कवि -सम्मेलनो, मुशायरों व गोष्ठियों में सक्रिय सहभागिता

सम्पर्क – 604 सिविल लाइन, निकट राणाप्रताप पी. जी. कालेज, सुलतानपुर एवं
ए – 1427 /14 इंदिरानगर, लखनऊ । मोबाइल नं. 09415074318,07985934703

कुछ विशिष्ट जनों का अभिमत

श्री मिश्र की कविताओ में लोक जीवन है। यह आम आदमी के कवि हैं। -प्रो 0विष्णु कान्त शास्त्री, पूर्व राज्यपाल

नये कवि प्रायःशास्त्रीय भाषा के व्यामोह में ऐसा फॅसते है कि‍ निकल नहीं पाते ! भाषा के स्तर पर भी श्री मि‍श्र की कविताए एकदम ताजा हैं- टटकी ! -रवीन्द्र कालिया

डी.एम.मिश्र की कविताओं का स्वाद अलग है। कुछ कसैला, कुछ चटपटा। इनके पास कहने का तरीका है- यही इनकी विशेषता है। -शिवमूर्ति

डी एम मिश्र एक बडी दुनिया के गजलकार हैं। हम उनके गजलकार के मर्म और धर्म के प्रति आश्वस्त हैं। – संजीव

मिश्र जी कविता के साथ कोई आडम्बर नहीं पालते,न ही कोई घटाटोप खडा करते हैं । जैसा आजकल के कवियों में प्रायः देखने को मिलता है ! इनकी कविताए आसानी से पाठको की समझ में आ जाती हैं! -रामदेव शुक्ल, हिन्दी के प्रोफेसर व लेखक

श्री मिश्र जी से उर्दू की बहरें सधी है और कभी -कभी तो जुबान ऐसी लगी कि कहें ये रेख्ता के पास जाकर गुफ्तगू करने लगी हैं। ऐसा लगता है कि आपका शायर अपने चतुर्दिक के प्रति बासजग है। – प्रो0विजय बहादुर सिंह, व प्रख्यात लेखक

सम्पर्क – 604 सिविल लाइन निकट राणाप्रताप पी जी कालेज सुलतानपुर 228001
मो 0 नं 0 9415074318

विशेष उपलब्ध्यिॉ

कविता कोश में प्रकाशित रचनाएं (Biography of Dr DM Mishra):

http://kavitakosh.org/kk/%E0%A4%A1%E0%A5%80.%E0%A4%8F%E0%A4%AE.%E0%A4%AE%E0%A4%BF%E0%A4%B6%E0%A5%8D%E0%A4%B0

2 COMMENTS

Comments are closed.