ऑक्सीजन गैस की कालाबाजारी करने वाले 2 शातिर गिरफ़्तार

कब्जे से बड़े-छोटे 101 ऑक्सीजन गैस सिलेंडर बरामद

247
ऑक्सीजन गैस की कालाबाजारी करने वाले 2 शातिर गिरफ़्तार
ऑक्सीजन गैस की कालाबाजारी करने वाले 2 शातिर गिरफ़्तार
  • फाईज़ अली सैफी || ई-रेडियो इंडिया

गाज़ियाबाद। प्रदेश शासन ने कोविड-19 महामारी को मद्देनज़र रखते हुए ऑक्सीजन गैस सिलेंडर और रेमडेसिविर इंजेक्शन समेत आदि की कालाबाजारी करने वालों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई करने को लेकर संबंधित को निर्देशित किया हुआ हैं। जिसके चलते डीआईजी/एसएसपी अमित पाठक ने एसपी नगर, ट्रांस हिंडन और ग्रामीण टीमों को गठित कर आवश्यक दिशा-निर्देश दिए हुए हैं।

आपको बता दें कि इसी क्रम में निर्देशों का अनुपालन करती थाना कोतवाली नगर, थाना नंदग्राम और स्वाट टीम ने शनिवार रात्रि ऑक्सीजन गैस सिलेंडर की कालाबाजारी करने वाले दो शातिर अभियुक्तों को दबिश देकर गिरफ़्तार कर लिया हैं। पुलिस को इनके पास से बड़े-छोटे कुल मिलाकर 101 ऑक्सीजन गैस सिलेंडर बरामद हुए हैं। पुलिस को पकड़े गए शातिर अभियुक्तों की पहचान आकील पुत्र अशरफ अली और दूसरे की जावेद पुत्र सुलेमान निवासी थाना कोतवाली नगर गाज़ियाबाद के रूप में हुई हैं।

पूछताछ में पकड़े गए शातिर अभियुक्तों ने बताया कि करोना महामारी के बढ़ते प्रकोप के कारण भारी संख्या में लोग प्रभावित हो रहे हैं। जिनकी जान बचाने के लिए ऑक्सीजन देने की आवश्यकता पढ़ रही हैं। जिससे ऑक्सीजन की भारी मांग उत्पन्न हो रही हैं तथा इसी स्थिति का लाभ उठाने के लिए ऑक्सीजन सिलेंडरों को भारी मात्रा में जमा किया गया था।

एसपी नगर प्रथम निपुण अग्रवाल ने जानकारी देते हुए बताया कि इस कोविड-19 महामारी में लगातार ऑक्सीजन सिलेंडरों की कालाबाजारी की सूचनाएं प्राप्त हो रही थी। जिसके चलते कप्तान अमित पाठक के निर्देशन में कोतवाली नगर, नंदग्राम और स्वाट टीम का गठन किया गया था। जिसके उपरांत संयुक्त टीम बनाकर दबिश दी गई तो दो शातिर अभियुक्तों को गिरफ़्तार किया गया हैं। जिनके पास से 101 ऑक्सीजन गैस सिलेंडर बरामद किए गए हैं।

वही, शातिर अभियुक्त गणों को पकड़ने वाली टीम में थाना कोतवाली नगर प्रभारी निरीक्षक संदीप कुमार एवम् प्रभारी निरीक्षक स्वाट टीम संजय पांडे एवं थाना नंदग्राम प्रभारी निरीक्षक नीरज कुमार और उनकी टीम के उपनिरीक्षक दिनेश पाल सिंह, विकास शर्मा, महक सिंह बालियान, वरिष्ठ सिपाही मानवेंद्र सिंह, बालेंद्र, खुर्शीद आलम, सिपाही मनोज, सतीश मावी और सिपाही इन्साद खां भी मौजूद रहे हैं।