पाकिस्‍तान में तेल की बढ़ती कीमतों से लोग बेहाल, उड्डयन कर्मचारी ने गधा गाड़ी रखने की मांगी अनुमति

इस्‍लामाबाद। पाकिस्‍तान में ईंधन की बढ़ती कीमतों से लोग बेहाल हैं। पेट्रो पदार्थों के मूल्य में बेतहाशा वृद्धि के बाद पाकिस्तान नागरिक उड्डयन प्राधिकरण के एक कर्मचारी ने गधा गाड़ी (donkey cart) रखने की अनुमति मांगी है। उसने प्राधिकरण के महानिदेशक को भेजे पत्र में राजा आसिफ इकबाल ने कहा कि महंगाई ने न केवल गरीबों की बल्कि मध्यम वर्ग की भी कमर तोड़ दी है। उसने सीएए पार्किंग लाट में गधा गाड़ी लाने की अनुमति मांगी है। मालूम हो कि सरकार ने एक हफ्ते बाद शुक्रवार को ईंधन की कीमतों में दोबारा बढ़ोतरी की।पाकिस्‍तानी अखबार डान की रिपोर्ट के मुताबिक नागरिक उड्डयन प्राधिकरण (Civil Aviation Authority, CAA) के महानिदेशक को लिखे पत्र में, राजा आसिफ इकबाल ने कहा है कि महंगाई ने गरीब और मध्‍यम वर्ग की कमर तोड़ दी है। राजा आसिफ इकबाल 25 वर्षों से सेवा में हैं और इस्लामाबाद अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर काम कर रहे हैं।
राजा आसिफ इकबाल ने नागरिक उड्डयन प्राधिकरण के महानिदेशक से सीएए पार्किंग में गधा गाड़ी को लाने की अनुमति मांगी। उन्‍होंने कहा कि महंगाई में संगठन ने परिवहन सुविधा बंद कर दी है। पेट्रोल की बढ़ती कीमतों के कारण निजी परिवहन का उपयोग करना असंभव हो गया है। इसलिए विनम्र आग्रह है कि मुझे अपनी गधा गाड़ी (donkey cart) को हवाई अड्डे पर लाने की अनुमति प्रदान की जाए।
अथारिटी ने बताया पब्लिसिटी स्टंट
हालांकि, सीएए के प्रवक्ता सैफुल्ला खान ने कहा कि स्टाफ के हर सदस्य को ईंधन भत्ता दिया जाता है। कर्मचारियों को पिक एंड ड्राप सेवा प्रदान की जाती है। हवाई अड्डे पर कर्मचारियों के लिए मेट्रो बस सेवा भी उपलब्ध है। यह आवेदन पब्लिसिटी स्टंट से ज्यादा कुछ नहीं है। वहीं वित्त मंत्री ने कहा कि वह देश को दिवालिया नहीं होने दे सकते हैं। अंतरराष्ट्रीय कीमतें बढ़ने से सरकार को काफी नुकसान हो रहा था।
लाहौर हाई कोर्ट में याचिका
पेट्रोलियम उत्पादों के मूल्य वृद्धि के खिलाफ एक व्यक्ति ने लाहौर हाई कोर्ट में याचिका दाखिल की है। वकील अजहर सिद्दिकी ने याचिका में कहा है कि पेट्रोलियम पदार्थो की कीमतों में वृद्धि से महंगाई और बढ़ेगी।
नाराज पाकिस्तानियों का पेट्रोल पंप पर हमला
पाकिस्तान में पेट्रो पदार्थों की कीमतों में उछाल के विरोध में प्रदर्शन शुरू हो गए हैं। गुस्साए लोगों ने कराची के सेंट्रल जिले में पुरानी सब्जी मंडी के समीप एक पेट्रोल पंप पर हमला कर दिया। लोगों ने पथराव कर पेट्रोल पंप में तोड़फोड़ की। नागन चौरंगी में भी प्रदर्शन हुए। लरकाना में भी पेट्रोल मूल्य वृद्धि के खिलाफ प्रदर्शन किए हैं। प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ की अगुआई वाली सरकार ने हाल ही में पेट्रोलियम उत्पादों की कीमतों में वृद्धि की थी।
टायर जलाकर जताया गुस्सा
एआरवाई न्यूज के मुताबिक, लरकाना में जिन्ना बाग चौक में नाराज लोगों ने टायर जलाकर अपना गुस्सा दिखाया। सरकार ने अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष की मांग मानते हुए ईधन सब्सिडी खत्म कर दी है, जिससे पेट्रोल के मूल्य में 30 रुपये की वृद्धि हुई है। शहबाज ने पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान के सिर पर दोष मढ़ते हुए कहा कि पिछली सरकार के कारण भरे दिल से ईधन की कीमतों में वृद्धि का कठोर फैसला लिया गया।

- Advertisement -spot_img

Stay Connected

5,260फैंसलाइक करें
488फॉलोवरफॉलो करें
1,236फॉलोवरफॉलो करें
15,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

Must Read

error: Copyright: mail me to info@eradioindia.com
%d bloggers like this: