अस्पताल में जगह ना मिलने से गर्भवती भारतीय महिला की मौत

लिस्बन। पुर्तगाल में गर्भवती भारतीय महिला की अस्पताल में जगह ना मिलने की वजह से मौत हो गई। रिपोर्ट सामने आने के बाद यहां की स्वास्थ्य मंत्री मार्ता टेमिडो ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। 34 साल की महिला की तब मौत हो गई जब उसे बेड ना मिलने की वजह से दूसरे अस्पताल में शिफ्ट किया जा रहा था। 34 साल की महिला को राजधानी लिस्बन के एक अस्पातल में ले जाया गया था। मेटरनिटी वॉर्ड में जगह ना मिलने की वजह से उसे भर्ती नहीं किया जा सका और दूसरे अस्पताल शिफ्ट किया जाने लगा। रास्ते में ही कार्डियक अरेस्ट की वजह से उसकी मौत हो गई।

नैतिकता के आधार पर दिया इस्तीफा

पुर्तगाल के अस्पतालों में कर्मचारियों और डॉक्टरों की कमी के चलते ऐसी कई घटनाएं सामने आ चुकी हैं। डॉ. मार्ता डेमिडो 2018 से ही स्वास्थ्य मंत्री थीं। कोरोना काल में स्थिति को संभालने के लिए उनकी काफी तारीफ की गई थी। मंगलवार को सरकार ने कहा, डॉ. टेमिडो को अहसास हो गया है कि ऐसी स्थिति में पद पर नहीं रहा जा सकता है।

स्टाफ की कमी से जूझ रहे अस्पताल

पुर्तगाल के प्रधानमंत्री एंटोनियो कोस्ता ने कहा कि महिला की मौत से डॉ. टेमिडो का बहुद दुख पहुंचा था इसलिए उन्होंने इस्तीफा दे दिया। मेटेरनिटी वॉर्ड में स्टाफ की कमी को लेकर पुर्तगाल सरकार की काफी आलोचना भी हो रही है। इस समस्या के चलते कई जगहों पर वॉर्ड को बंद भी कर दिया गया है। वहीं कई बार प्रेग्नेंट महिलाओं को खतरे की स्थिति में भी एक अस्पताल से दूसरे अस्पताल शिफ्ट करना पड़ता है।

महिला की मौत पर बचाई गई बच्चे की जान

स्थानीय मीडिया के मुताबिक भारतीय महिला को लिस्बन के सांता मारिया अस्पताल से शिफ्ट किया जा रहा था। यह राजधानी लिस्बन का सबसे बड़ा अस्पातल है। महिला को तो नहीं बचाया जा सका लेकिन इमर्जेंसी सर्जरी के जरिए बच्चे को बचा लिया गया है। बताया जा रहा है कि महिला का बच्चा स्वस्थ है। महिला की मौत को लेकर एक जांच कमिटी बनाई गई है।

हाल के महीने में पुर्तगाल में ऐसी कई घटनाएं हो चुकी हैं। कुछ दिन पहले भी महिलाओं को अस्पताल ले जाते वक्त ही दो बच्चों की मौत हो गई थी। पुर्तगाल के सामने डॉक्टरों की बड़ी समस्या खड़ी हो गई है जिसके चलते विदेश से डॉक्टर हायर करने की योजना बनाई जा रही है। कुछ जगहों पर मेटेरनिटी वॉर्ड बंद होने की वजह से अस्पतालों में भीड़ और मारामारी देखने को मिल रही है। पुर्तगाल के डॉक्टर असोसिएशन का कहना है कि टेमिडो ने इसलिए इस्तीफा दिया क्योंकि उनके पास संकट से निकलने का कोई रास्ता नहीं था।

- Advertisement -spot_img

Stay Connected

5,260फैंसलाइक करें
488फॉलोवरफॉलो करें
1,236फॉलोवरफॉलो करें
15,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

Must Read

error: Copyright: mail me to [email protected]
%d bloggers like this: