मेरठ में राज्‍यमंत्री दिनेश खटीक और पुलिस में टकराव से भाजपा में खिंचाव, प्रदेश इकाई ने मांगी रिपोर्ट

मेरठ। मेरठ में राज्यमंत्री दिनेश खटीक और पुलिस प्रशासन के बीच टकराव के बीच शनिवार को संगठन का पारा चढ़ा नजर आया। जिले से लेकर प्रदेश इकाई और संघ तक ने मामले का संज्ञान लिया। मंत्री दिनेश खटीक दिनभर अपने निवास पर रहते हुए ट्विटर पर सक्रिय रहे। उन्होंने सीएम योगी की तारीफ की, लेकिन यह भी साफ किया कि पुलिस सरकार को फेल करने में जुटी है।
कई आडियो वायरल हुए थे पहले भी
नई दिल्ली से लेकर लखनऊ तक कई पदाधिकारियों से बातचीत की। मंत्री ने सुरक्षा दस्ता को फिर से लौटा दिया। प्रदेश सरकार में राज्यमंत्री दिनेश खटीक का पुलिस एवं प्रशासन से टकराव का रिश्ता पुराना रहा है। पिछले कार्यकाल में भी कार्यकर्ताओं की पैरवी करते हुए उनके कई आडियो वायरल हुए थे, लेकिन संगठन का भरोसा उन पर बना रहा। अब दूसरे कार्यकाल में मंत्री ने सीधे एसपी देहात पर गंभीर आरोप मढ़ा है।
थानों में वसूली और उत्पीड़न
शनिवार को मंत्री ने फिर दो टूक कहा कि थानों में वसूली और उत्पीड़न चल रहा है, न्याय नहीं। दलित युवक के खिलाफ दर्ज मुकदमा वापस लेने तक संघर्ष जारी रहेगा। जिले के दो सांसदों ने दिनेश खटीक से बातचीत कर अधिकारियों के रवैये पर चिंता जाहिर की। वहीं, जिला, महानगर से लेकर क्षेत्र के पदाधिकारियों में दिनेश खटीक के विषय को लेकर चर्चा चलती रही। दिनेश का समर्थक खेमा जहां इस बहाने पुलिस प्रशासन को घेरने में जुटा है, वहीं विरोधी चेहरे इस प्रकरण को तूल देने में जुट गए हैं। क्षेत्रीय अध्यक्ष मोहित बेनीवाल ने जिलाध्यक्ष विमल शर्मा से रिपोर्ट तलब कर प्रदेश इकाई को भेजा है।
राज्य मंत्री व पुलिस में टकराव के साक्ष्य की तलाश
प्रदेश सरकार में जल शक्ति राज्य मंत्री दिनेश खटीक और पुलिस प्रशासन में टकराव का सिलसिला थमता नजर नहीं आ रहा हैं, जहां मंत्री का तेवर आक्रामक बना हुआ है, वही पुलिस प्रशासन नए सिरे से साक्ष्य जुटा रही है। पुलिसकर्मी और टेंट व्यापारी के बीच मारपीट और थाने में मंत्री से हुए वाद-विवाद की सीसीटीवी फुटेज खंगाली जा रही है, ताकि इंस्पेक्टर पर कथित आरोप की पुष्टि हो सके। इस पूरे प्रकरण की जांच एसपी क्राइम अनित कुमार को दी गई है। गंगानगर में पांच दिन पहले टेंट व्यापारी कोमल कुमार के साथ मारपीट प्रकरण में सिपाही आकाश और विकास पर कार्रवाई नहीं कि जा रही थी, जिस पर राज्यमंत्री दिनेश खटीक ने थाने पहुंचकर मुकदमा दर्ज करने की मांग की थी। इसी बात को लेकर मंत्री और इंस्पेक्टर में नोकझोंक भी हुई थी।
ये था मामला
चार जून को सुबह साढ़े सात बजे कोमल कुमार निवासी अम्हैड़ा आदिपुर ईस्ट डिफेंस कालोनी में टैंट लगाकर बाइक से अपने घर जा रहे थे। कोमल और उसका भाई बिरजू शादी में टैंट लगाने का काम करते हैं। कोमल का आरोप है कि सिपाही विकास चौहान और उसके साथी आकाश चौधरी ने चेकिंग के बहाने रोक कर मारपीट की और जेब से चार हजार की नकदी निकाली। उधर, आकाश चौहान ने भी कोमल उसके भाई बिरजू और अन्य लोगों पर मारपीट और डकैती का आरोप लगाकर मुकदमा दर्ज कराया। राज्य मंत्री दिनेश खटीक ने टैंट व्यापारी के साथ हुई घटना में मुकदमा दर्ज करने की मांग की थी।

Advertisement