सघन मिशन इन्द्र धनुष अभियान 22 फरवरी से तीन चरणों में होगा

160
eradio || e radio india || इ रेडियो इंडिया
eradio || e radio india || इ रेडियो इंडिया

बिजनौर/अफजलगढ़। कोरोना काल में टीकाकरण से छूटे बच्चों का टीकाकरण कराने के मकसद से सरकार ने 22 फरवरी से सघन मिशन इंद्रधनुष कार्यक्रम की शुरूआत की है । बच्चों का टीकाकरण तीन चरणों में पूरा किया जाएगा ।

जानकारी के अनुसार 21 फरवरी तक टीकाकरण से छूटे हुए बच्चों की सूची तैयार करने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने आशा और आंगनवाड़ी को सर्वे की जिम्मेदारी सौंप दी है । मिशन इंद्रधनुष घनी आबादी एवं ड्रॉपआउट क्षेत्रों में आयोजित किया जाएगा । स्वास्थ्य विभाग प्रतिरक्षण से छूटे हुए बच्चों की सूची तैयार कर रहा है जिसको लेकर 19 फरवरी में खुद डीएम समीक्षा बैठक आयोजित करेंगे । कासमपुर गढ़ी के प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डॉ सर्वेश निराला ने बताया है कि टीकाकरण से छूटे हुए बच्चों का शत प्रतिशत टीकाकरण कवरेज कराने के लिए प्लानिंग तैयार की जा रही है । जिम्मेदार एवं प्रभावशाली लोगों की मदद से विरोधी परिवारों को समझा-बुझाकर टीकाकरण कराया जाएगा । उन्होंने स्वास्थ्य कर्मचारियों को चेतावनी देते हुए कहा है कि टीकाकरण कार्य में किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी ।

कार्यक्रम में लापरवाही बर्दाश्त नहीं: जिला प्रतिरक्षण अधिकारी

जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ अशोक कुमार ने कहा है कि मिशन इंद्रधनुष के कार्यक्रम में किसी भी प्रकार की लापरवाही को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा । शून्य से 2 वर्ष के बच्चों का सर्वे किया जा रहा है टीकाकरण से छूटे हुए बच्चों का शत-प्रतिशत टीकाकरण कराया जाएगा । फरवरी-मार्च और अप्रैल में एक-एक माह के अंतराल पर तीनों चरण आयोजित किए जाएंगे।

Advertisement