पुलिस मुठभेड़ में हिस्ट्रीशीटर गिरफ़्तार, घायल

पुलिस मुठभेड़ में हिस्ट्रीशीटर बदमाश गिरफ़्तार, घायल
पुलिस मुठभेड़ में हिस्ट्रीशीटर बदमाश गिरफ़्तार, घायल
  • फाईज़ अली सैफी || ई-रेडियो इंडिया

गाज़ियाबाद। शुक्रवार रात्रि पुलिस टीम हिन्डन रिवर मैट्रो स्टेशन से राजनगर एक्सटेंशन को जाने वाली मेन रोड पर चौकी नन्दग्राम के दूसरी ओर चेकिंग कर रही थी कि तभी हिन्डन रिवर मैट्रो स्टेशन की तरफ से एक मोटरसाइकिल सवार संदिग्ध काफी तेज़ रफ़्तार में आता दिखाई दिया तो पुलिस टीम ने उसे रुकने का इशारा किया। पु

लिस टीम को चेकिंग तथा इशारा करते देख मोटरसाइकिल सवार संदिग्ध घबरा गया और उसने तेज़ गति से मोटरसाइकिल को विपरीत दिशा में कर फरार होने का प्रयास किया। यह नज़ारा अपनी आंखों से देख पुलिस टीम को उसपर शक हो गया और पुलिस टीम ने मोटरसाइकिल सवार का पीछा कर उसे उस समय दबोच लिया जब वह हड़बड़ा कर मोटरसाइकिल से नीचे गिर गया और वह पैदल पुलिस टीम पर जान से मारने की नियत से फायरिंग करता हुआ फरार होने का प्रयास कर रहा था। जिसमें पुलिस टीम के उपनिरीक्षक अनिल कुमार गोली लगने से बाल-बाल बचे हैं।

Advertisement

आपको बता दें कि बदमाश के बुलंद हौसले को देखते हुए पुलिस ने आत्मरक्षा में फायरिंग की। जिसमें थाना नंदग्राम निवासी राहुल पुत्र रंजीत पैर में गोली लगने से घायल हो गया, जिसे पुलिस ने मौके पर ही घायल अवस्था में गिरफ़्तार कर लिया हैं। पुलिस को इसके पास से एक तमंचा, कारतूस- खोखा व लूट का एक मोबाइल फोन सहित चोरी की एक मोटरसाइकिल भी बरामद हुई हैं। क्षेत्राधिकारी नगर द्वितीय अवनीश कुमार ने जानकारी देते हुए बताया कि पकड़ा गया बदमाश हिस्ट्रीशीटर अपराधी हैं।

जिसके विरुद्ध एक दर्जन मुकदमें जनपद के थाना सिहानी गेट नंदग्राम और थाना सूरजपुर गौतमबुधनगर में दर्ज हैं। इतना ही नहीं, उन्होंने बताया कि चेकिंग के दौरान शातिर बदमाश को पकड़ने का प्रयास किया गया था। लेकिन, वह पुलिस को देखकर घबरा गया था और विपरीत दिशा में भाग रहा था। जिसे, पुलिस ने जब पकड़ने का प्रयास किया तो इसने पुलिस टीम पर फायर कर दिया था।

जिसके बाद जवाबी फायरिंग में गोली लगने से हिस्ट्रीशीटर बदमाश पैर में गोली लगने से घायल हो गया हैं। जिसे, उपचार के लिए जनपद के एमएमजी अस्पताल में भर्ती करा दिया गया हैं। बता दें कि शातिर हिस्ट्रीशीटर बदमाश को पकड़ने वाली टीम में नंदग्राम प्रभारी निरीक्षक नीरज कुमार सिंह, उपनिरीक्षक अनिल कुमार, अंकित तरार, वरिष्ठ सिपाही जयवीर सिंह, सिपाही सुमित कुमार, विपिन शर्मा और दीपक शर्मा मौजूद रहे हैं।