Mandalayukt Meerut बोले, स्कूलों में सड़क जागरूकता हेतु कराएं गोष्ठी

Mandalayukt Meerut बोले, स्कूलों में सड़क जागरूकता हेतु कराएं गोष्ठी
Mandalayukt Meerut बोले, स्कूलों में सड़क जागरूकता हेतु कराएं गोष्ठी
  • मेरठ, संवाददाता

Mandalayukt Meerut: सड़क सुरक्षा के प्रबंधों में सुरक्षा लाये जाने और नगरीय निकायों द्वारा दी जाने वाली सुविधाओ को उन्नत बनाये जाने के संबंध में आयुक्त मेरठ मंडल मेरठ श्री सुुरेन्द्र सिंह द्वारा एक महत्वपूर्ण बैठक आहूत की गयी। सड़क सुरक्षा प्रबंधन किये जाने के संबंध मंे आयुक्त महोदय द्वारा निर्देशित किया गया कि मंडल के सभी जनपदो में अधिक दुर्घटना वाले हाॅट स्पाॅट का चिन्हांकन कर रिफ्लेक्टर, पेंटिंग, जेब्रा क्रासिंग इत्यादि यातायात सेफ्टी हेतु गुणवत्ता ढ़ग से कराया जाना सुनिश्चित किया जाये।

ऐसे हाॅट स्पाट वाले स्थानों पर सर्वे कराकर दुर्घटना के कारणो का पता कर आवश्यक कार्यवाही सुनिश्चित की जाये। उन्होने कहा कि सड़को पर बहुत से ऐसे स्पीड ब्रेकर है जिससे बुजुर्गो, महिलाओ को परेशानी हो सकती है इसलिए संबंधित अधिकारी ऐसे समस्त स्पीड ब्रेकर जिनका रहना उचित नहीं है त्वरित कार्यवाही करते हुये ऐसे समस्त स्पीड ब्रेकरो को तुरंत हटवाया जायें।

Advertisement

आयुक्त महोदय ने निर्देशित किया कि मंडल के समस्त स्कूलो में सड़क जागरूकता हेतु गोष्ठियो का आयोजन किया जाये तथा स्कूलो में होने वाली पेरेन्टस मीटिंग में भी सड़क सुरक्षा की जानकारी दी जाये। उन्होने कहा कि सड़क सुरक्षा से जुडे समस्त संबंधित विभागीय अधिकारी जागरूकता हेतु अपने-अपने स्तर पर अधिक से अधिक प्रचार प्रसार कराये। सड़क सुरक्षा से संबंधित समस्त अधिकारियों को निर्देशित किया गया कि ओवरलोडिग पर पूर्णतया प्रतिबंध, बिना फिटनेस के रोड पर कोई वाहन संचालित न हो तथा रोड पर स्टंट करने वालो के विरूद्ध अभियान चलाकर कठोर कार्यवाही की जाये।

उन्होने कहा कि प्रत्येक नगर पालिका, नगर पंचायत, विकास प्राधिकरण की अपनी लाईब्रेरी बनायी जाये। उन्होने कहा कि लाईब्रेरी के माध्यम से पढने का एक माहौल मिलेगा, जिससे वह कम्पटीशन, स्कूल एवं प्रतियोगी परीक्षाओ की तैयारी आसानी से कर सकेंगे जैसा कि मेरठ की ग्राम पंचायतो में कर के दिखाया गया है। आयुक्त द्वारा निर्देशित किया गया कि एक माह के अंदर प्रत्येक नगर पंचायत, नगर पालिका, नगर बोर्ड की कम से कम एक लाईब्रेरी बनाया जाना सुनिश्चित कर लिया जाये। अपने इतिहास को संजाये रखने तथा भावी पीढी को प्रेरणा मिलती रही इसके लिए आयुक्त महोदय ने निर्देशित किया कि मंडल के अंतर्गत क्रांतिकारी एवं शहीदो के गांव में स्मारक का निर्माण कर संबंधित घटना का विस्तारपूर्वक उल्लेख किया जाये।

आयुक्त महोदय ने कहा कि नगर पालिका, नगर पंचायत एवं नगर निगम क्षेत्र में बने चैराहो पर बहुत बडी संख्या में होर्डिग को स्थापित कराया जाता है जो बेहतरतीब होने के साथ-साथ चैराहे के सौन्दर्यीकरण यातायात की दृष्टि से भी हानिकर होते है।

संबंधित समस्त अधिकारियो को निर्देशित किया गया कि सभी चैराहो पर 50 मीटर के दायरे मंे कोई भी होर्डिग स्थापित न किया जाये। इसके बाद भी होर्डिग जहां स्थापित किये जाये उनमें एकरूपता का विशेष ध्यान रहे। उन्होने कहा कि गांव के साथ-साथ शहरी क्षेत्र में भी तालाबो को बचाया जाना जरूरी है इसके लिए अमृत सरोवर के अंतर्गत ऐसे तालाबो को चिन्हित कर किये गये अतिक्रमण पर कार्यवाही करते हुये सौन्दर्यीकरण कराया जाये।

  • ओवरलोडिग, बिना फिटनेस के वाहन तथा रोड पर स्टंट करने वालो के विरूद्ध अभियान चलाकर कठोर कार्यवाही करे-आयुक्त
  • प्रत्येक नगर पंचायत, नगर पालिका, नगर बोर्ड में कम से कम एक लाईब्रेरी बनायी जाये-आयुक्त
  • मंडल के समसत धार्मिक स्थल किये जाये प्लास्टि फ्री-आयुक्त
  • अतिक्रमण हटाने के साथ-साथ जब्ती की कार्यवाही प्रभावी तौर पर की जाये-आयुक्त
  • सभी नगर पंचायत, नगर पालिका, नगर बोर्ड, चैराहो का सौन्दर्यीकरण गुणवत्तापूर्ण ढ़ग से कराना सुनिश्चित करे-आयुक्त
  • सार्वजनिक स्थानों पर लगाये प्याऊ व वाटर कूलर-आयुक्त
  • क्रांतिकारी एवं शहीदो के गांवो में बनाये जाये स्मारक-आयुक्त
  • अच्छा कार्य करने वाले अधिकारियों को प्रोत्साहित किया जाये-आयुक्त

आयुक्त महोदय ने कहा कि प्रतिबंधित प्लास्टिक, शहरों की साफ-सफाई एवं नालो एवं नागरिको के आमजन के जीवन में भी एक बडी चुनौती के रूप में है। जिसको प्रतिबंधित करना बहुत जरूरी है इसलिए संबंधित समस्त नगर पालिका, नगर पंचायत, नगर निगम एवं अन्य संबंधित अधिकारी यह सुनिश्चित करें कि इस प्रकार की प्लास्टिक को पूर्णतया प्रतिबंधित किया जाये। उन्होने सख्त निर्देश देते हुये कहा कि इस प्रकार की प्लास्टिक फैक्ट्री, हाॅल सेलर आदि के विरूद्ध अभियान चलाकर प्लास्टिक प्रतिबंध की कार्यवाही सुनिश्चित की जाये।

आयुक्त महोदय ने यह भी कहा कि बरात घरो से बडी संख्या में प्लास्टिक कचरे को बढावा मिल रहा है। ऐसे संबंधित सभी बरात घरो के मालिको से संवाद स्थापित कर प्लास्टिक फ्री आयोजन कराया जाना सुनिश्चित किया जाये। आदेशो के अवहेलना करने पर संबंधित के विरूद्ध कठोर कार्यवाही संपादित की जायेगी।

उन्होने समस्त जनपदीय अधिकारियों को निर्देशित किया कि मंडल के समस्त धार्मिक स्थलो को जून के अंत तक प्लास्टिक फ्री बनाये जाने हेतु संबंधित धर्म गुरूओ, गणमान्य नागरिको के साथ बैठक कर कार्यवाही सुनिश्चित की जाये। उन्होने निर्देशित किया कि संबंधित समस्त अधिकारी यह सुनिश्चित करे कि धार्मिक स्थलो पर लाउड स्पीकर की आवाज धार्मिक स्थल से बाहर नहीं आनी चाहिए तथा जिन स्थानो से लाउड स्पीकर उतरवाने की कार्यवाही की गयी थी वहां दोबारा स्थापित न हो पाये। दी गयी नियमावली के अनुसार सख्ती से कार्यवाही सुनिश्चित करे।

समस्त नगर पंचायत, नगर पालिका, नगर निगम एवं संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया गया कि अपने शहर को साफ, स्वच्छ व सुंदर बनाने हेतु प्रत्येक शहर के मुख्य द्वार का पारंपरिक रूप से इतर नवाचार के साथ सौन्दर्यीकरण कराना सुनिश्चित करें तथा शहर के अंदर मंडल के सभी चैराहो का सौन्दर्यीकरण गुणवत्तापूर्ण ढ़ग से कराना सुनिश्चित करे। समस्त मंडलीय अधिकारियों को निर्देशित किया गया कि ऐसे चैराहो पर पेटिंग इत्यादि कराने हेतु स्कूल के बच्चो के साथ कंपीटीशन कराकर आसानी से कराया जा सकता है।

यह भी निर्देशित किया गया कि शहर के समस्त चैराहे एवं सार्वजनिक स्थानो पर स्वच्छ पेयजल के लिए प्याऊ या वाटर कूलर की व्यवस्था शत-प्रतिशत की जाये। उन्होने यह भी कहा कि शहर के सौन्दर्यीकरण, स्वच्छ पेयजल या अन्य विकासात्मक कार्यो मंे कोई भी नागरिक एवं संस्था, एनजीओ सहयोग लिया जा सकता है।

उन्होने यह भी निर्देशित किया कि शहर को साफ-स्वच्छ बनाने के लिए निर्धारित स्थान पर डम्पिंग ग्राउंड, डोर टू डोर कूडा कलेक्शन व सीवेज का वैज्ञानिक ढग से निस्तारण की कार्यवाही करें एवं यह भी सुनिश्चित किया जाये कि शहर के किसी भी नाले में प्लास्टिक न जायें इसके लिए नाले पर जाली एवं उनको ढके जाने की कार्यवाही की जाये।

उन्होने कहा कि प्रत्येक शहर एवं कस्बो में रोड पर अतिक्रमण एक बडी समस्या है। जिसके दृष्टिगत संबंधित समस्त अधिकारियो को निर्देशित किया गया कि अतिक्रमण हटाने की कार्यवाही प्रभावी तौर पर की जाये तथा अतिक्रमण के दौरान जब्ती की कार्यवाही सुनिश्चित करते हुये विस्तृत रिपोर्ट प्रस्तुत की जाये।

रेवेन्यू वसूली से संबंधित समस्त अधिकारियों को निर्देशित किया गया कि कर वसूली में लक्ष्य के अनुरूप शत-प्रतिशत प्रगति लायी जाये। सर्किल रेट को रिवाईज किया जायें। बैठक में आयुक्त महोदय ने कहा कि समस्त कार्यों की लगातार मानीटरिंग की जा रही है। लापरवाही पर जिम्मेदारी तय कर कार्यवाही सुनिश्चित की जायेगी।

उन्होने कहा कि अच्छा कार्य दिखना चाहिए तथा समस्त जनपदो में अच्छा कार्य करने वाले अधिकारियों को प्रोत्साहित किया जाये तथा लापरवाह अधिकारियो पर दंडात्मक कार्यवाही भी सुनिश्चित की जाये। उन्होने कहा कि मंडल के समस्त विभागीय अधिकारी आपस में सकारात्मक कम्पटीशन करे तथा एक दूसरे से प्रेरणा लेते हुये किये गये नवाचारो को अपने-अपने जनपदो में आगे बढाये। उन्होने कहा कि निश्चित ही विकास के क्षेत्र में सकारात्मक प्रतिस्पर्धा से मेरठ मंडल प्रदेश एवं देश में अपना कीर्तिमान स्थापित करेगा।

इस अवसर पर समस्त नगरायुक्त, उपाध्यक्ष विकास प्राधिकरण, उप आवास आयुक्त आवास विकास परिषद, अपर जिलाधिकारी, सभी अधिशासी अधिकारी, पीडब्लूडी, आरटीओ, एडी हैल्थ, एनएचएआई, माध्यमिक एवं बेसिक शिक्षा विभाग के अधिकारी उपस्थित रहे।