महावीर इंटरनेशनल स्कूल के बच्चों ने लिया मोबाइल छोड़ने का संकल्प

सरधना, मेरठ। सरधना रोड स्थित महावीर इंटरनेशनल स्कूल में छात्रों के साथ-साथ अभिभावकों के लिए काउंसलिंग कार्यशाला का आयोजन किया गया। इस उपलक्ष में मेरठ के जाने-माने विशेषज्ञ डॉक्टर दीपिका अतुल, इंजीनियर हिमांशु गोयल तथा डॉक्टर मोनिका तोमर ने भाग लिया।
काउंसलिंग के दौरान बच्चों को भी अभिभावकों के साथ शामिल किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ अतिथियों ने सरस्वती मां की प्रतिमा के समक्ष दीप प्रज्वलित व माला अर्पण करके किया । सांस्कृतिक कार्यक्रम संचालिका श्रीमती स्वाति शर्मा की देखरेख में रंगारंग कार्यक्रमों का सफलतापूर्वक संचालन हुआ। महावीर स्कूल में बेहतर पढ़ाई का माहौल बनाने के लिए छात्रों के अभिभावकों को भी स्कूल बुलाकर उन्हें शिक्षा के महत्व के बारे में समझाया गया।
विशेषज्ञों ने इस दौरान अभिभावकों को कोरोना काल के दौरान बच्चों में आई मानसिक और शारीरिक विकृति के बारे मे जानकारी दी और उन्हें कैसे दूर किया जाए इसका समाधान बताया । बच्चों को डांटने से बचने की सलाह देते हुए कहा कि बच्चों में धैर्य की कमी है तो इस बात का अभिभावक अवश्य ध्यान रखे। उन्होंने यह भी बताया कि बच्चों को बेहतर पढ़ाई का माहौल मिल सके यह जरूरी है कि अभिभावक सप्ताह में तीन दिन बच्चों के साथ पढ़ाई के सिलसिले में दोस्ताना संवाद जरूर करें।
मोबाइल छोड़ शारीरिक व मानसिक गतिविधियों में रुचि बढ़ाने के लिए लगभग 30 बच्चों का चयन कर वानर सेना का गठन किया गया। इस अवसर पर विद्यालय की उपप्रधानाचार्या श्रीमती गरिमा सिंह ने कहा कि एक दिन स्कूल आकर अभिभावक शिक्षकों से बच्चे की पढ़ाई के विकास पर चर्चा जरूर करें यदि अभिभावकों को स्कूल आने का समय नहीं मिल पा रहा है तो फोन के माध्यम से बच्चे का फीडबैक जरूर जाने।
अंत में स्कूल के निदेशक तेजस्व भारद्वाज ने अभिभावकों से कहा कि बच्चों के पास यदि बेहतर शिक्षा होगी तो वे इसका इस्तेमाल खुद का भविष्य बनाने के लिए आसानी से कर सकते हैं साथ ही अतिथियों को अपना कीमती समय देने के लिए धन्यवाद दिया उनका आभार जताया।

Advertisement